Yukti Varshney

जलाली , अलीगढ़, मुरादाबाद

Joined August 2018

नाम : युक्ति वार्ष्णेय “सरला “
शिक्षा : एम टेक (कम्प्यूटर साइन्स)
व्यव्साय : सी इ ओ एंड फ़ाउन्डर आफ़ “युकी क्लासेस “
फ़ोर्मर सहायक प्रोफ़ेसर, हैड आफ़ कार्पोरेट अफ़ैयर्स, मोटिवेशनल ट्रैनर, करीयर काउन्स्लर , लेखिका, कवियत्री, समाज सेविका !
निवासी : जलाली, अलीगढ़ उत्तर प्रदेश
वर्तमान निवास स्थान : मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश |
शौक : इंटरनेट की दुनिया के रहस्य जानना, जिन्दगी की पाठ शाला में हरदम सीखना, पुस्तकें पढना, नए जगह घूमना और वहाँ का इतिहास और संस्कृति जानना, स्कैचिन्ग करना, कैलिग्राफ़ी, लोगो से मुखातिब होना इत्यादि | : इंटरनेट की दुनिया के रहस्य जानना, जिन्दगी की पाठ शाला में हरदम सीखना, पुस्तकें पढना, नए जगह घूमना और वहाँ का इतिहास और संस्कृति जानना, स्कैचिन्ग करना, कैलिग्राफ़ी, लोगो से मुखातिब होना इत्यादि |

Books:
प्रकाशन : उत्तरांचल दर्पण, वसुंधरा दीप ,
न्यूज़ प्रिंट ,अमन केसरी, शाह टाइम्स , पंखुड़ी, उत्तरांचल दीप , विजय दर्पण टाइम्स, वर्तमान अंकुर, वार्ष्णेय पत्रिका, खादी और खाकी, न्यूजबैंच, नव भारत टाइम्स, अमर उजाला, दैनिक जागरण, जन लोकमत, पंजाब केसरी, अमर उजाला काव्य !

Copy link to share

सकारात्मक आदतें अपनायें I

एक पुरानी कहावत है कि बुढ़े कुत्ते को कलाबाजी नहीं सिखायी जा सकती है , लेकिन हम तो फ़िर भी इंसान ही है I हर व्यक्ती अपना अच्छा बुरा भ... Read more

त्योहार मनाने का बदलता स्वरूप

भारत त्योहारो और संस्कृति का देश हैं I हमारी त्योहारों के साथ आस्था और परंपरा जुड़ी होती हैं । त्योहार हमारी संस्कृति का आईना होते ह... Read more

नहीं रुक रहा नारी का पतन: आखिर कौन जिम्मेदार?

नहीं रुक रहा नारी का पतन: आखिर कौन जिम्मेदार? नारी ही बन जाती है नारी की दुश्मन, कुरितियो, कुप्रथाओ से डाह कर देती तन मन | ... Read more

बोली बना लेती है दिलो मे घर I

एक कहावत है - जैसा देश वैसा भेस, जैसी टोली वैसी बोली , अर्थात् हम खुद मे ऐसे कुशल हो कि जगह ,परिस्थिति देख कर खुद को बोलचाल तथा पह... Read more

आधुनिकता की अन्धी दौड़

हमे समाज में कई प्रकार के रूप देखने को मिलते है I कही बच्चो का शारीरिक शोषण तो कही मानसिक शोषण होता है I आधुनिकता की इस अन्धी व बेवप... Read more

इंजीनियरिंग : मखौल करते निजी संस्थान

इंजीनियरिंग और मेडीकल हमेशा से एक सपना रहा है | हर माँ बाप का सपना रहता है उनके बेटा या बेटी इंजीनियर या डॉक्टर बने | ये दो पेशे हमे... Read more

प्रेम की भाषा

प्रेम एक ऐसा शब्द है जिसे परिभाषित करना बहुत ही मुश्किल है I प्रेम को महसूस किया जा सकता है I सच्चे प्यार में गहराई इतनी होती है कि... Read more

एकलता : विघटित होती मानवता

संयुक्त परिवार समाज की मजबूत इकाई है | आजकल अकसर लोगो को कहते सुना है कि पुराना वक़्त बेहद शानदार हुआ करता था | एकल परिवार ने -परिवा... Read more

गलतियों से प्रेरणा लेना ही जिंदगी है I

यह कहावत चरितार्थ होती है कि इंसान गलतियों का पुतला है I हर इन्सानअपने हर शुरुआती दौर मे एक नवजात की तरह होता है I जैसे नन्हा परिंद... Read more

अवसरों की कमी नहीं, कमी है दक्षता की

अकसर लोगो को कहते सुना है बाज़ार मे रोज़गार नहीं है, कही भी नौकरी नहीं लग पा रही है I युवा पीढ़ी रोजगार को लेकर चिन्ता ग्रस्त है I हम... Read more

" ना कहना भी सीखे "

ना कहना भी अपनेआप मे कठोर कदम होता है I कई बार हम इस तरह की स्थितियों में होते है कि हमे वहाँ हाँ में हाँ मिलानी पड़ती हैI कई बार कु... Read more

गलतियों से प्रेरणा लेना ही जिंदगी है I

यह कहावत चरितार्थ होती है कि इंसान गलतियों का पुतला है I हर इन्सानअपने हर शुरुआती दौर मे एक नवजात की तरह होता है I जैसे नन्हा परिंद... Read more