Copy link to share

प्यार पैसों से नहीं, नसीब से मिलता (अर्पिता की कलम से)

दोस्तों हर साल दीवाली आती है, होली आती है, रक्षाबंधन आता है उसी तरह हर साल वेलेंटाइन डे आता है । जैसे दीपावली दीपों का त्यौहार होता,... Read more

मेरे गुरु

मेरे गुरु भले ही दुनिया को स्वार्थ की बेहरम जंजीरों ने क्यूँ न जकड़ लिया हो? भले ही रिश्ते,ईमान, सम्मान, स्वाभिमान पर भी अर्थ का वर... Read more

मेरी दोस्त और मेरी दोस्ती

........... मेरी दोस्त और मेरी दोस्ती........ दोस्तों जब मेरे पास कोई बेस्ट फ्रेंड नही थी । तब हमें पता नही था कि ये बेस्ट फ्रेंड च... Read more

मेरी और उसकी मोहब्बत

मेरी और उसकी मोहब्बत ★★मेरी और उसकी मोहब्बत★★ मोहब्बत उन्हें भी और मोहब्बत हमें भी थी, मगर हमे उनसे थी और उन्हें किसी और से थी। ... Read more

ये खुदा तू बस इतना बता

ये खुदा तू बस इतना बता ★★ये खुदा तू बस इतना बता★★ ये खुदा तू बस इतना बता, वो मेरा था ही नही उसे हमसे मिलाया ही क्यों ? ये खुदा त... Read more

कहते है मुझसे

★■●◆ ★■●◆ कहती है ये हवाएं मुझ से क्यों बैठी हो उदास, आ चल तुझे अपने झोंको में उड़ा कर दुनिया की सैर कर दू। कहती है ये नदियाँ ... Read more

स्वयं के प्रति सत्यनिष्ठ रहना

स्वयं के प्रति सत्यनिष्ठ रहना ◆●●● ●●●◆ संसार में अनेक स्वभाव के इंसान अपने अपने सामाजिक जीवन में ब्यस्त है । इनमे से कुछ इंसान ... Read more