अपना विचार

जिस तरह सूर्य का तेज सब पर समान आपका आशीष सब पर समान ऋण मुक्त किसान भय मुक्त इंसान किन्तु पढ़े लिखे नौजवान खेती रहित है... Read more

एकता

एकता प्रतीक जल कोमल स्वभाव होत, नदियां तड़ाग नद झील मिल जात ज्यों. बूंद बूंद भिन्न तो तरंग व उमंग नाहि, बूंद से पिपासु की... Read more

मित्रता

मित्रता की सूचिका में ताग अनुराग डाल सुमन की गूंथ माल हिन्द को पहनाय दो. एकता अखण्डता सुबन्धुता के स्नेहगीत, भारती की आरती में ए... Read more