”’ Topper by chance

Writer by passion “”

#JHOLACHAAP
मेरी जिंदगी वो खुली किताब है

जिसका पब्लिकेशन अभी बाकी है……

An emerging writer associated

with feelings and hopes

Copy link to share

मेरा कफन तिरंगा हो

मेरा मान तिरंगा हो ,मेरी जान तिरंगा हो मेरी आन तिरंगा हो ,मेरी शान तिरंगा हो जब उठे मेरी टिकठी ,मेरा कफन तिरंगा हो महबूब मेरा त... Read more

वज़ह तेरी रही होगी...

मोहब्बत में कोई कमी मेरी रही होगी जो खाली है यह घर मेरा वज़ह तेरी रही होगी अधूरेपन में गुजरी है यह जिंदगी मेरी सवाँरने के ल... Read more

आँधियों से जंग

हुए बदनाम हम फिर भी मोहब्बत के थपेड़ों में अकेले चल नहीं पाए समझदारों के मेलों में शहर की आँधियाँ क्या रोकेंगी मुझे फिर प्यार ... Read more

फकीरी मे ही सही

कुछ दिन फकीरी मे ही सही कुछ दिन गरीबी में ही सही है परेशान जब तक हम कुछ दिन जी हजूरी में ही सही यह मुश्किलें मेरी , वक्... Read more

मेरे पापा (( प्रथम भाग ))

कि नई दुनिया में वो किस्सा पुराना याद रहता है अपने जीवन का हर गुजरा जमाना याद रहता है भले ही पापा की दी गाली कभी सर में ना डाली... Read more