virendra kaviya

Joined January 2017

कविराज वीरेन् कविया शेखु खैण नागौर
8003280011

Copy link to share

मौत मौत मौत

मौत मौत, मौत, मौत, आखिर क्या है यह मौत हर तरफ यही सुन रहा हुँ मै आज वो मरा कल वो मरा यही सुन रहा हुँ मै हर एक पल ,हर एक... Read more