vijiya gupta

Joined September 2017

Copy link to share

हवा का रुख

हवा का रुख ही कुछ ऐसा था कि आँचल सर से सरक गया, और जमाने ने समझा हम बेपरदा हो गए....। कुछ पल ऐसे आते है कभी कभी, जिन्हें रोकक... Read more

शब्द

शब्द सुमन कुछ चुन कर लायी मधुर सुरभि से सुरभित से भावनाओ ने ली अंगड़ाई नयन सजल स्तंभित से ..... Read more