VEENA MEHTA

Joined August 2016

Copy link to share

मेरे प्रभु

प्रभु हो प्रभु तुम, मेरे प्रभु हो। करुणा के सागर, दयालु बड़े हो। जहाँ भी मैं जाऊँ, तेरा दर्श पाऊँ। मुड़ के जो देखूँ, तुझे सं... Read more

उड़ान

 हौसलों ने आसमान छुआ हो या ना छुआ, पर सब्जियों ने जरूर छू लिया। दिल ऊडान भरे चाहे ना भरे पर, महंगाई ने ऊडान जरूर भर ल... Read more

सोने की चिड़िया

............... है क्रोध विचलित सीने में, क्या हो रहा है? बोलो....... क्या हो रहा है? इस देश में ! क्या? यही सपना था , हमा... Read more

क्या छोड़ आए हैं।

बैठ पल दो पल उनकी, पनाहों से जो आए हैं, न जाने कितने ही, हसीन ख्वाब, उनकी आँखों में, छोड़ आए हैं। जब उठे थे, उनके पह... Read more

आजादी

एक हकीकत है, कोई कहानी नहीं। आजादी के लिए, बहा था लहू, की नादानी नहीं। सिंहासन डोला था, वीरों की हुंकार पर। मरना धा ... Read more