नाम – तेजवीर सिंह
उपनाम – ‘तेज’
पिता – श्री सुखपाल सिंह
माता – श्रीमती शारदा देवी
शिक्षा – एम.ए.(द्वय) बी.एड.
रूचि – पठन-पाठन एवम् लेखन
निवास – ‘जाट हाउस’ कुसुम सरोवर पो. राधाकुण्ड जिला-मथुरा(उ.प्र.)
सम्प्राप्ति – ब्रजभाषा साहित्य लेखन,पत्र-पत्रिकाओं में रचनाओं का प्रकाशन तथा जीविकोपार्जन हेतु अध्यापन कार्य।

Copy link to share

#खरी खरी

#खरी खरी😀😁 🌴🌹🌻🌹🌻🌹🌻🌹🌻🌴 सिरधा कौ चढ्यौ चाव भगती कौ जग्यौ भाव, बगुला भगति व्रत रखते विधान के! नव दिन अरु रात करि लिये नवरात,... Read more

हे राम! तुम्हीं जनमानस में, उर अन्तस के नारायण हो...

🌴🌹🌻🌺🌼🌺🌼🌹🌻🌴 निर्मल मन भाव साधना का, पूजा प्रतिफल पारायण हो। हे राम! तुम्हीं जनमानस में, उर अन्तस के नारायण हो। कोमल हृदयों की ... Read more

यह संकल्प हमारा हो.....

🇮🇳 यह संकल्प हमारा हो...🇮🇳 🇮🇳🌷🇮🇳🌷🇮🇳🌷🇮🇳🌷🇮🇳 मातृभूमि की रज मस्तक पर, इंकलाब का नारा हो। विश्व गुरू हो भारत प्यारा, यह... Read more

प्यारा भारत देश हमारा.....

🌹🌻 गीत 🌻🌹 🌴🌹🌻🌺🌼🌹🌻🌺🌼🌴 प्यारा भारत देश हमारा, है वीरों की खान। हिंदी हिंदू हिंद धरा की, आज बने पहचान। नमन पावन संस्कृति को ... Read more

स्वागत गान

बार बार आभार आपका, खोल हृदय के द्वार। स्वागत अतिथिदेव करें हम, वन्दन बारम्बार।। मिला आपका दर्श हमें भी, खुल गये भाग हमारे। हम ब... Read more

स्वागतम् २०१९

🌹🌻 "आंग्ल नववर्ष २०१९ मंगलमय हो" 🌻🌹 🌴🌹🌻🌺🌼🌹🌻🌺🌼🌴 पूजित पावन प्रेममय, बहे सरस रसधार! यथायोग्य अग्रज अनुज, नमन करें स्वीकार!! नमन... Read more

अलविदा २०१८

🌹🌻 "अलविदा २०१८" 🌻🌹 🌴🌹🌻🌺🌼🌻🌹🌺🌼🌴 देख रहे हैं धरती अम्बर, फिर से गुजरा एक दिसम्बर। चूल्हा बुझा पतीली खाली, तन मन जी... Read more

श्रीराधा स्तवन स्त्रोत्रम्

🙏 श्रीराधा स्तवन स्त्रोतम् 🙏 🌴🌹🌻🌺🌼🌹🌻🌺🌼🌴 हे परम् पुनीता श्रीराधे! नित नव नवनीता श्रीराधे!! हे पर परमेश्वरि श्रीराधे! ... Read more

ब्रजमहिमा

🌹🌻 पुनीत छंद 🌻🌹 🔧विधान - १५ मात्रा प्रति चरण, चार चरण, दो-दो समतुकांत, चरणान्त २२१ 🌴🌹🌻🌺🌼🌹🌻🌺🌼🌴 बंसी बजा रहे गोपाल। बैरन बनी स... Read more

उल्लाला छंद विधान🙏

🌹🌻 उल्लाला छंद 🌻🌹 🔧विधान - १३-१३ 🌴🌹🌻🌺🌼🌺🌼🌹🌻🌴 उल्लाला रुचिकर बने, तेरह कल गिन के करें। ग्यारहवां कल लघु रहे, चार चरण में रस भरें... Read more

🙏🥀ब्रज की होरी🥀🙏

🙏बोलो होरी के रसिया की जय🙏 🙏🥀मत्तगयन्द सवैया छंद🥀🙏 विधान - ७ भगण गु गु(१२-११ यति) 🌴🌹🌻🌺🌼🌺🌼🌹🌻🌴 कोमल कन्त किलोल करें कलि, ... Read more

🥀ब्रज की होरी🥀

🌹🌻 ब्रज की होरी 🌻🌹 🥀मत्तगयन्द सवैया छंद🥀 विधान - ७ भगण गु गु(१२-११ यति) 🌴🌹🌻🌺🌼🌺🌼🌹🌻🌴 नैन कटार अदा अलबेलिहिं, साज सिँगार ... Read more

🥀ब्रज की होरी🥀

🌹🌻 तंत्री छंद 🌻🌹 🔧विधान~ प्रति चरण 32 मात्राएँ,8,8,6,10मात्राओं पर यति चरणान्त 22 , चार चरण, दो-दो चरण समतुकांत। 🌴🌹🌻🌺🌼🌺🌼🌹🌻🌴 ... Read more

ब्रज की होरी

🙏 बोलो होरी के रसिया की जय 🙏 🌴🌹🌻🌺🌼🌺🌼🌹🌻🌴 भोर-भोर ,घेर-घेर,रोक-रोक गोपिन् के , गाल गोपाल मल गुलाल-लाल कर दिए। कारी-गोरी,लाल-पीरी... Read more

ब्रज की होरी

🙏 बोलो होरी के रसिया की जय 🙏 🌴🌹🌻🌺🌼🌺🌼🌹🌻🌴 खेल रहे नन्दलाल कुंजन केसर-गुलाल, भांति-भांति रस रंग छोड़ै पिचकारी है। ऊधम अजब भयौ कैस... Read more

सजल...

🌹🌻 सजल 🌻🌹 🌴🌹🌻🌺🌼🌺🌼🌹🌻🌴 दिन रात क्यों रहता हूँ मैं तेरे खयाल में? ये जिंदगी उलझी है इक छोटे सवाल में! घर से निकल के देखना चाह... Read more

पञ्च छंदमाला

??? आप सभी को दीपावली की सादर शुभकामनाएं एवम् बधाइयाँ ??? ?? पञ्च छंद माला ?? ?????????? ✏दोहा छंद दीप प्रज्ज्वलित कीजिए, ... Read more

सुहाग पर्व करवाचौथ

??"सुहाग-पर्व करवाचौथ"?? ?????????? 'प्रियतम' पावन प्रीत हमारी निर्मल गंगाजल सी। रहूँ 'प्रेयसी' सदा तुम्हारी आचमनी अंजल सी। ... Read more

सवैया छंद

?? मत्तगयन्द सवैया ?? ✏विधान- ७भ+गु गु ?????????? देखि रहे नैना धर धीरज, तान बजावत जू स्वर-साधा। बैन मधूमय कानन गूंजत, काटि रह... Read more

करवाचौथ

?? सुहाग पर्व ?? चौथ के चन्द्रमा अर्ज सुन लीजिए। पूर्ण मन के मनोरथ सकल कीजिए। भाव से आपको पूजती हूँ सदा। अब तो भक्ति पे मेरी प... Read more

#शादी का लड्डू?

?? शादी का लड्डू ?? ✏विधा - मनहरण घनाक्षरी ✏विधान - ८८८७ ?????????? घर को बनाया रण- भूमि बनी फिरै शूल खींच रख... Read more

#गुरुग्राम रेयान हत्याकांड

गुरुग्राम के 7 वर्षीय अबोध की हत्या के विरोध में उपजे 'तेज-जहरीले मनोभाव।' ?????????? गुरूग्राम को किया कलंकित, शिक्षा की इक शाल... Read more

?सद्गुरु वंदन???

? "चराचर जगत के गुरु तत्व को समर्पित" ? ?? श्रीसद्गुरु वंदन ?? ?✏मत्तगयंद सवैया छंद?? ?????????? नाश करौ उर के तम कौ अब, जीवन ... Read more

#श्रीगुरुदेव वंदन???

? "श्रीगुरुदेव वंदन" ? ✏ रूपमाला/मदन छंद ✏विधान 14-10 ?????????? आपका ही आसरा है, दुख भरा संसार। ज्ञान का करके उजाला, मेट दो ... Read more

#विरोधाभाषी परिभाषाएं

?? विरोधाभाषी परिभाषाएं ?? ?????????? *वो दाता हम दीन हो गए, ज्यों भारत को चीन हो गए।* *रसगुल्लों के बीच सड़ी-सी, हम कड़वी नमकीन ... Read more

हमको चलना होगा...

?? हमको चलना होगा। ?? अभिलाषाओं के नव-पथ पर, अब हमको चलना होगा। आलोकित करने जग-जीवन, दीपक सम जलना होगा। विकट हवाएँ मग रोकेंगी, ... Read more

श्रीराधाष्टमी पर्व...

? जय जय श्रीराधे ? चराचर जगत कूं ब्रजबल्लभा ब्रजस्वामिनी रसिकप्रिया ''श्री राधेजू'' के प्राकट्योत्सव '' श्रीराधाष्टमी पर्व '' की अन... Read more

पाखण्ड जनित ''नारी वेदना''...

?? ''नारी की व्यथा'' ?? ?????????? संवेगों का विष पीती है, आवेशों में नित्य बहे। जीती है मर-मर के नारी, नित नैनों में नीर रहे... Read more

बल्देव छठ.....???

?? ब्रज के राजा हलधर गदाधारी श्री दाऊजी महाराज के प्राकट्योत्सव की अनन्तानन्त बधाइयाँ ?? ????????? भाद्रपद शुभ मास शुक्लपक... Read more

#तीन तलाक़....×××

?? तीन तलाक़ ?? ✏ कुण्डलिया छंद न्यायालय ने दे दिया, *महिला का अधिकार।* *तीन तलाक़ अवैध है*, बदलो ये व्यवहार। बदलो ये व्यवहार, न... Read more

? राधे जू पधारौ.....भजन

?? ''राधे जू पधारौ..... भजन'' ?? तर्ज- सावन का महीना ?????????? राधे जू पधारौ जमुन तट ओर 'दर्श आपके पाए तौ नाचे मन का मोर।' ... Read more

जमना पुलिन आजु...

?? घनाक्षरी ?? जमना पुलिन माहिं आजु खड़े चन्द्रकांत राह तकें राधिका की धीर नांहि धारते। पूछ-पूछ गोप-ग्वाल मुरली मे... Read more

#पृथ्वी का भूगोल...

? पृथ्वी का भूगोल ? ???☁???☁?? समझ इसे तरबूज बड़ा-सा, पकड़ बीच से काटो। करो कल्पना और धरा को, दो भागों में बांटो। कटा हुआ तरबूज ... Read more

? जय कन्हैया लाल की...?

?? जय कन्हैया लाल की ?? ?????????? जसुदा नें पूत सपूत जनों, अज भूमि चराचर हरषाई। सुर नर मुनि सिग आनन्दित है, न... Read more

?अजन्मे कौ अवतरण....?

?? आप सभी को *अजन्मे के अवतरण* की कोटि-कोटि बधाइयाँ ?? ??✏ रास छंद ?? ?????????? भादों आधी, रात अँधेरी, घिरन लगी। कालचक्र की,... Read more

?स्वाधीनता दिवस एवम् श्रीकृष्ण जन्माष्टमी?

?? मनहरण घनाक्षरी ?? ?????????? सत्तरवीं वर्षग्रन्थि देश की स्वाधीनता की गौरवमयी पल है अटूट विश... Read more

? मातृभूमि वंदन...

मेरे प्यारे वतन....??? ?????????? मेरे प्यारे वतन तुझको शत-शत नमन। ओ महकते चमन तुझको शत-शत नमन। मेरे प्यारे वतन..... तेरे प... Read more

? रक्षाबंधन पर मुक्तक..... ?

?? सभी स्नेही स्वजनों को पावन प्रीत पर्व ''रक्षाबन्धन'' की कोटानिकोट बधाइयाँ। ?? ✏ विधा- मुक्तक(16-14) ?????????? शुभ मङ्गलमय प... Read more

? शुभ रक्षापर्व ?

?? शुभ रक्षापर्व ?? ????????? येन बद्धो बलि राजा दानवेन्द्रो महाबलः तेन त्वां प्रतिबद्धामि रक्षे माचल... Read more

? कलियुगी मित्र?

?? *मित्रता दिवस* ?? ?????????? कैसे-कैसे तीर ये, करते चहुँदिश वार। आज मित्रता हो गई,मतलब का व्यापार।। मतलब का व्यापार, सभी ... Read more

? मित्र कैसा हो?...?

?? सच्चा मित्र ?? ✏विधान-16-12(सार छंद) ?????????? मित्र बनाओ फूलों जैसे, उर की बगिया महके। मित्र बनाओ पंछी जैसे, जीवन नित-प्र... Read more

? उठी जो तुम्हारी नजर..... ग़ज़ल?

?? ग़ज़ल ?? बह्र - 122×4 ?????????? उठी जो तुम्हारी नज़र धीरे-धीरे। हुआ हमपे कैसा असर धीरे-धीरे। लवों की ये सुर्खी जिया अब ज... Read more

? माँ ?

? माँ ? ?? गीत ?? ?तर्ज- तुझे सूरज कहूँ या चन्दा..... जग में सब शीशमहल सा माँ होती सच्चा मोती। सुख-दुःख सहकर जो पाले वह तो क... Read more

? गुरु वंदन ?

? गुरुपर्व की अनंत मङ्गल कामनाएं ? ?? पवन छंद ?? ?शिल्प~ [भगण तगण नगण सगण]? (211 221 111 112) 12 वर्ण प्रति चरण,यति{5,7... Read more

? श्री गुरु चालीसा ?

? चराचर जगत के गुरुतत्व को समर्पित ? ? श्री गुरु चालीसा ? दोहा- गणपति प्रथम मनाय कें, धर शारद कौ ध्यान। वन्दहुँ पद पंकज सरस, ... Read more

?भारतीय बेटियों को बधाई?

??? क्रिकेट में 'भारतीय बेटियों' की जीत पर बधाई ??? ?????????? पाक है नापाक देश नष्ट-भ्रष्ट परिवेश घात पे करे है ... Read more

? प्रातः वंदन ?.....

?? प्रातः वन्दन ?? ???????? कोमल-सा शीतल अभिनन्दन हे नव-भोर तुम्हारा वन्दन। मिटें सकल उर के तम-क्रंदन, कृपा करो हे देवकी नन... Read more

?विचार आप कीजिये....?

?? पञ्चचामर छंद ?? शिल्प - ज र ज र ज + गु ? विचार आप कीजिये, विकास होय देश का। सुधार आप कीजिये, सुधार होय देश का। कृपा करो दय... Read more

जीवन जनरल डब्बा.....

? कुण्डलिया छंद ? ?????????? 'जनरल डब्बा' है गयौ, जे जीवन सरकार। भीड़ बनी बीबी सदा, सिर पै मिलै सवार। सिर पै मिलै सवार, बने हैं... Read more

?? श्रीकृष्ण लीला ??

? श्रीकृष्ण लीला ? (प्रसङ्ग - खेल में श्रीकृष्ण और सखाओं के बीच का वार्तालाप ) ?विधा - मनहरण घनाक्षरी? ?जय जय श्रीराधे.....श्या... Read more