MANISHA

Fatehpura( SHRIMADHOPUR) dist-sikar

Joined November 2018

यह मेरी प्रथम कविता है । मैं कोई कवि या लेखक नही हूँ सिर्फ तुकबंदी करने की कोशिश की है । मुझे नही पता इस प्रयास में कहां तक सफल हो पायी हूं

Copy link to share

माँ की ममता

माँ की ममता के सिवा, नही हमारा कोई दूजा ! नही कर्ज चूक सकता ,चाहे करे हम उसकी पूजा !! विकट हालातो में भी, देती नही कभी बद्दुआ। ज... Read more