मेरा परिचय

ग्राम नटेरन, जिला विदिशा, अंचल मध्य प्रदेश
भारतवर्ष का रहने वाला, मेरा नाम ‘सुरेश’
मेरे दादाजी ‘श्री जगन्नाथ जी’ , पिताजी ‘श्री गणेश’
मेरी दादी ‘हरवो देवी’ और ‘गोमती’ माता
श्री परमेश्वर गुरु है मेरे, सबका मुझ पर साया
भोपाल और विदिशा में, शिक्षण मैंने पाया
पत्रोपाधि इले.इंजी. स्तानक, हिंदी साहित्य पढ़ा, स्वयं को गढ़ा
शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज में, शासकीय सेवा को व्यवसाय बनाया
‘ज्योति’ बनी जीवन संगिनी, कदम-कदम पर साथ निभाया,
घर-परिवार शासकीय सेवा दायित्व बढ़ा निभाया
उनकी सतत प्रेरणा से, लेखन को अपनाया,
राजधानी भोपाल अपना निवास बनाया
पत्र पत्रिकाओं में लेखन को वक़्त मैं दे पाया,
इन्हीं साहित्यिक संस्थाओं ने, मेरा मान बढ़ाया
मात पिता गुरु आशीषों से, मैंने सब कुछ पाया

सुरेश कुमार चतुर्वेदी
राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, भोपाल (मध्य प्रदेश)

Copy link to share

मां का प्यार

शब्द ब्रह्म नहीं लिख सके महिमा मातु अपार मां के आंचल में भरा प्रेम है अपरंपार भूल नहीं सकता जीवन भर मां के आंचल का प्यार Read more

समय चक्र चल रहा निरंतर, गढ़ता नई कहानी

समय चक्र चल रहा निरंतर,गढ़ता नई कहानी सुख-दुख बीत रहे जीवन के, हर युग की यही कहानी क्या-क्या देखा इन आंखों से, और क्या-क्या देख रह... Read more

नया मोर्चा एक बनाओ

सत्ता लोलुप सभी मदारियों लेफ्ट राइट और राष्ट्र वादियों छदम धर्मनिरपेक्ष ढोंगियों समाजवाद के घिसे पिटे रोमियो समाज सेवा के न... Read more

एक पेड़ का दर्द

धूप सहकर मैं कड़ी, शीतल छांव देता हूं ठंड वर्षा के थपेड़े, सब झेल लेता हूं लेता हूं तेरी हर बला, जीवन प्राण देता हूं देता हूं ... Read more

पर्यावरण क्षरण

पल पल बदल रहे मौसम की, हर ओर जहां में चर्चा है घनघोर कहीं पर बर्षा है, कहीं सूखा और अवर्षा है सूरज से आग बरसती है, कहीं हाड़ कपा... Read more

पूछ रही नन्हीं गौरैया

पूछ रही नन्हीं गौरैया, आप बताओ दादा भैया उजड़ रहे हैं नीड़ मेरे, नहीं मिल रहा दाना पानी कैसे अपनी जान बचाऊं, कैसे मैं अस्तित्व व... Read more

आह निकल पड़ी है खुदा की, अश्रुबिंदु भगवान के

आह निकल पड़ी है खुदा की, अश्रुबिंदु भगवान के क्यों वेजुवान हाथी मारा, इंसान हो या हैवान रे इस नीच कर्म की सजा मिलेगी, नहीं बचेगा प... Read more

बरखा रानी जल्दी आओ

बरखा रानी जल्दी आओ, तन मन की अब प्यास बुझाओ, बरखा रानी जल्दी आओ तड़प रही है प्यासी धरती, आकर हरी-भरी कर जाओ बरखा रानी जल्दी आओ... Read more

वोट की राजनीति

फिर से खेला खेल पुराना, दीन धर्म बन गया खिलौना जाने किसने आग लगाई, मेरा घर जल गया सुहाना नाम नया है खेल पुराना, बोट बना है शाही ... Read more

सृष्टि की उत्पत्ति (भाग-२)

मनु सतरूपा प्रकटे ब्रह्मा से, सप्त ऋषि संग आए धरती पर कैसे रहना है, ज्ञान संग में लाए सत्य प्रेम और करुणा का, पाठ में तुम्हें पढ... Read more

सृष्टि की उत्पत्ति (भाग-१)

एक समय महाविष्णु अकेले, गहरे शून्य में सोए थे हलचल होती थी मन में, कुछ मंथन में वे खोए थे आया विचार सृष्टि रचने का, गहन और गंभीर... Read more

चढ़ गई दहेज की भेंट नववधू

चढ़ गई दहेज की भेंट नववधू आज खबर यह फिर आई संदिग्ध मिला अधजला शव खुद जल गई या आग लगाई खबर लगे मैंके बालों को इसके पहले चित... Read more

ए दिल संभल संभल कर चल

ए दिल संभल संभल कर चल ऊंचे नीचे जीवन पथ पर कहीं न जाओ फिसल ए दिल संभल संभल कर चल आकर्षक हैं फूल जहां में कांटो की भी कमी न... Read more

मां गंगा से क्षमा याचना

मां गंगे जग तारिणी, पापियों की उद्दारनी हर पाप की विमोचनी, कल्याण जीवनदायिनी मां तुमसे क्या विनती करूं, अपराध में क्या क्या कहूं... Read more

मौत मंजिल है और जिंदगी है सफर

मौत मंजिल है, और जिंदगी है सफर इस सफर का, जहां में मजा लीजिए कब आएगी मंजिल, किसको पता लुफ्त हर घड़ी का उठा लीजिए न कुछ लाए य... Read more

देश की सोच कर फैसले लीजिए

हद से ज्यादा सियासत से तौबा करो मुल्क की आन पर न सियासत करो मुल्क के सूरते हाल नाजुक बहुत एक होकर हालात काबू करो पाक छेड़े ह... Read more

प्रेम की दुनिया नई बसाने दो

छोड़ो हिंसा द़ेष की बातें, गीत अमन के गाने दो आ जाए जग में बिहान, वह वंशी मधुर बजाने दो छोड़ो हिंसा द़ेष की बातें, गीत अमन के गा... Read more

मेरा शहर मेरा गीत भोपाल

मेरा शहर है सबसे न्यारा, स्वप्निल सुंदर प्यारा प्यारा है ताल तलैया से शोभित, शैल शिखर करते मोहित गगन चूमते मंदिर मस्जिद, गिरजाघर... Read more

मुझे स्वप्न लोक में खोंने दो

मुझे स्वप्नलोक में खोने दो, कुछ और अंधेरा होने दो जी भर गया दुनियादारी से, झूठी इस आंगनवारी से तेज चमकती भोरों से, शोर भरी इन शा... Read more

जीवन है सुख दुख का मेल

जीवन है, सुख-दुख का मेल जन्म जन्म के कर्म का खेल न दुख में रो, न सुख में हंस सोच समझ दोनों को झेल जीवन है, सुख-दुख का मेल ... Read more

वोटों की फसल

प्रजातंत्र के खेत में, फसल खड़ी तैयार कुशल चैतुए आ गए, ले ले कर औजार कोई जाति धर्म से काट रहा, अगड़े पिछड़ों में बांट रहा कोई ... Read more

आम और खास

चुनाव के समय हम खास थे, अब आम हो गए हाथ जोड़े दरवाजे पर खड़े थे, अब वीवीआइपी हो गए कैसे काले डूंड से लगते थे, अब तो सुर्ख लाल ... Read more

मैं तुमसे प्यार करती हूं /करता हूं

मैं तुमसे प्यार करता हूं/करती हूं जब भी किसी से बोलना परखना सच के धरातल पर तराजू में दिल के तोलना मैं तुमसे प्यार करती हूं/ ... Read more

सबसे प्यारा सबसे न्यारा मेरा हिंदुस्तान

आओ भैया मिलकर गाएं, गीत हम एक महान सबसे प्यारा सबसे न्यारा, मेरा हिंदुस्तान मैं बालक हिंदुस्तानी, मनभावन मेरी वानी मुझे किसी स... Read more

हे पथ चल नेक जगह ले चल

हे पथ चल नेक जगह ले चल, अच्छे बुरे का ज्ञान नहीं मुझको राह बताता चल, हे पथ चल नेक जगह ले चल अच्छे बुरे लोग दोनों ही, तेरे ऊपर ... Read more

देख रहा था पीछे मुड़कर

देख रहा था पीछे मुड़कर, 60 बरस कब बीत गए बचपन यौवन और जवानी, सब के सब ही रीत गए पीछे यादों का मेला है, जिसमें हंस अकेला है छूट... Read more

खुशियों का संसार

पूछे मुझसे अगर कोई खुशियों का संसार कहां है उनसे मैं बेहिचक कहूंगा प्रेम प्रीत का बास जहां है धन दौलत हो जहां ढेर विन प्रे... Read more

दुनिया को ऐंसी कलम चाहिए

अज्ञान से मुक्ति दिला सके, अंधकार को मिटा सके अन्याय पर बार करे, अनाचार को खत्म करे जग को एक उजियार चाहिए, दुनिया को ऐंसी कलम चा... Read more

मेरी आदर्श

मेरी मां आदर्श हे मेरी, जो कष्टों में भी गाती है जीवन के गीत सुनाती है मां अपनी संतान के खातिर, अपना सर्वस्व लुटाती है त्याग त... Read more

ईद की दिली मुबारक बाद

दिली मुबारकबाद ईद की, रोजे और रमजान की खुदा करे खुशियां मिल जाएं, तुमको सकल जहांन की ये मालिक दोनों जहां के, कुबूल फरमा जायज दुआ... Read more

मुझको कुर्सी तक पहुंचा दे

सुन रे ललुआ सुन रे कलुआ अपनी सारी जुगत बैठा दे मुझको कुर्सी तक पहुंचा दे अब की बाजी निकल ना जाए एक बार सरकार बना दे सारे ह... Read more

मैं सिटी बेंगलुरु हूं

मैं सिटी बेंगलुरु हूं, मां भारती का नूर हूं आई. टी. का हब, इलेक्ट्रॉनिक्स की तस्वीर हूं झीलों गार्डनों के लिए, संसार में मशहूर हू... Read more

निर्मम हत्याएं

क्यों जाति धर्म पर मार रहे, निर्दोषों को इंसान रे हिंदू ने मरता मुस्लिम न मरता ,मर जाता इंसान रे गोली और बम विस्फोटों से, जो मरत... Read more

पति की चिता को पत्नी ने दी मुखाग्नि

(सत्यम घटना पर आधारित कविता) पति चिता को मुखाग्नि देने की, सत्य एक करुण कहानी है नारी के सेवा साहस की, अनुपम एक निशानी है कैर... Read more

हे विश्वनाथ महाराज

हे विश्वनाथ महाराज नाथ, तुम सुन लो अरज हमारी आतंक से दुनिया हलकान है, मार रहे नर नारी मानवता है तार तार, करतूत है इनकी न्यारी ... Read more

शुकराना

किन लफ्जों मैं बयां करूं, ये खुदा मैं तेरा शुकराना जेहन में ऐसे लफ्ज नहीं, क्या पेश करूं मैं अफसाना जान न पाए तुम्हें फरिश्ते, ब... Read more

यह कैंसा जिहाद

निहत्थे स्त्री बूढ़े बच्चे इंसान मार रहे हो और इसको जिहाद बता रहे हो ये कैसा जिहाद ये कैसा धर्म युद्ध सरेआम गर्दन काट रहे हो ... Read more

दामिनी का आह्वाहन

आंखों में आंसू लिए, और दर्द के शूल भैया मेरी जान की कीमत, तुम मत जाना भूल कोई दामिनी का दामन, अब न बन जाए धूल अब कोई भी मां ब... Read more

मैं बोल रहा हूं पानी

सुन मानस के हंस सोच जरा ये प्राणी... हम भी पानी, तुम भी पानी, पानी है जिंदगानी मत बेकार बहाओ मुझको, तुम करो ना गंदा पानी... पंच... Read more

चुनावी घोषणा पत्र

दुनिया के महा ठगों को बुलाओ चुनावी घोषणा पत्र तैयार कराओ हर अंचल हर वर्ग धर्म जाति सभी को रिझओ लिख दो सबको बांग्ला गाड़ी देंगे... Read more

ईर्ष्या द्वेश की आग

अपनी नाकामी को लेकर, ईर्ष्या में जल कर भी देखा अपनी नाकामी को लेकर, परनिंदा में हंसकर देखा अपनी कमी छुपा कर, कुंठित मन करके भी द... Read more

एक मजदूर की व्यथा

भूख अशिक्षा और गरीबी से, वतन में मैं मजबूर हुआ पेट की आग बुझाने भैया, शहर शहर मजदूर हुआ लाचारी बेबसी मुफलिसी, पेट से लेकर आया ... Read more

नेम प्रेम का कर ले बंधु

नेम प्रेम का कर ले बंधु होगा जग से पार प्रेम बिना है सूना सब संसार राम नाम है प्रेम सुनो मेरे सांवरिया राम नाम की नित्य भरो तु... Read more

चक्र से चलते रहो कहते रहो हर नर्मदे

चक्र से चलते रहो, कहते रहो, हर नर्मदे, नर्मदे हर, नर्मदे हर, नर्मदे हर नर्मदे चक्र है रुकता नहीं, समय भी टिकता नहीं आनंद में हर... Read more

मरने वाला तो इंसान अदद होता है

न हिंदू न मुसलमान, इंसान बढ़ा होता है मरने वाला तो, इंसान अदद होता है मां तो बस मां ही होती है, दिल तो उसका ही रोता है एक पिता... Read more

दिल की दुआ

या अल्लाह या मेरे परवरदिगार हर इंसान के दिल में भर दो मोहब्बत बेशुमार सारा आलम दीन पर चलने लगे इल्म और अमन की दुआएं, जहां में ... Read more

अमन का पाठ

सभी धर्म संप्रदाय मनुज को, अमन का पाठ पढ़ाते हैं अरे वावरो गौर करो, हम धर्म पर क्यों लड़ जाते हैं मानव जीवन है जतन करो, धर्म की ... Read more

हे मात जीवन दायिनी नर्मदा जी

हे मात जीवनदायिनी, तेरी करूं मैं बंदगी तेरे तटों पर ना हो मुझसे, भूलकर भी गंदगी नित्य सेवन दर्शन तुम्हारे, मैं सदा करता रहूं म... Read more

काश ये दुनिया बच्चा होती

काश ये दुनिया बच्चा होती, धरती कितनी अच्छी होती न होते ये राग द़ेष, दुनिया कितनी सच्ची होती काश यह दुनिया बच्चा होती काश अगर म... Read more

प्राण

प्राण सत्य है शाश्वत साधु जिंदगी एक सराय खाना है है पढ़ाव मंजिल का हंसते रोते गुजर जाना है Read more