मेरा परिचय

ग्राम नटेरन, जिला विदिशा, अंचल मध्य प्रदेश
भारतवर्ष का रहने वाला, मेरा नाम ‘सुरेश’
मेरे दादाजी ‘श्री जगन्नाथ जी’ , पिताजी ‘श्री गणेश’
मेरी दादी ‘हरवो देवी’ और ‘गोमती’ माता
श्री परमेश्वर गुरु है मेरे, सबका मुझ पर साया
भोपाल और विदिशा में, शिक्षण मैंने पाया
पत्रोपाधि इले.इंजी. स्तानक, हिंदी साहित्य पढ़ा, स्वयं को गढ़ा
शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज में, शासकीय सेवा को व्यवसाय बनाया
‘ज्योति’ बनी जीवन संगिनी, कदम-कदम पर साथ निभाया,
घर-परिवार शासकीय सेवा दायित्व बढ़ा निभाया
उनकी सतत प्रेरणा से, लेखन को अपनाया,
राजधानी भोपाल अपना निवास बनाया
पत्र पत्रिकाओं में लेखन को वक़्त मैं दे पाया,
इन्हीं साहित्यिक संस्थाओं ने, मेरा मान बढ़ाया
मात पिता गुरु आशीषों से, मैंने सब कुछ पाया

सुरेश कुमार चतुर्वेदी
राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, भोपाल (मध्य प्रदेश)

Copy link to share

रहनुमाई

रहनुमाई जिन्हें सोपी,सैयाद वही निकले सकते में है बुलबुल ,जनतंत्र के बागों में किस पर यकी कीजिए ,किस पर वफा कीजिए हर दर पर धोख... Read more

नंदिनी (कहानी)

जनवासे से लड़की के घर तक नाचते आतिशबाजी करते दो-तीन घंटे में बरात पहुंची थी। द्वाराचार के पश्चात वरमाला भी हो गई थी, घराती एवं बारा... Read more

राम नहीं तो रावण ही गर तुम बन जाओ

हे भारत के नेताओं अब तो होश में आ जाओ जात पात भाषा मजहब पर अब न और लड़ओ भोली भाली जनता को कब तक और ठगोंगे बाज आओ ओछी हरकत से क... Read more

हे जन जन के राम, प्रकटो मेरे मन में

हे जन जन के राम प्रकटो मेरे भी मन में क्यों सूना मेरा मन मंदिर जब आप विराजे कण-कण में आज धरा आतंकित है मानवता घबराई मार रहा... Read more

मैया हम पर कृपा करना, मेरे दिल का तम हरना

मैया हम पर कृपा करना, मेरे दिल का तम हरना हृदय में बसा करना,अंतस निर्मल करना दुनिया का ज्ञान नहीं, मां मार्गदर्शन करना मां तुम ब... Read more

हे राम हृदय में आ जाओ अंतस का रावण वध जाओ

विजयादशमी पर हार्दिक शुभकामनाएं हे राम हृदय में आ जाओ अंतस का रावण वध जाओ तन रूपी 10 द्वार की लंका में कुवृत्तियों रूपी 10 म... Read more

सत्य और अमृत

लगता है सत्य मुझे, येअमृत का पर्याय है है इनकी तासीर एक, और एक ही आधार है जैसे अमृत पीकर कोई, कभी नहीं मरता है सत्य भी वैंसा ह... Read more

मानवता फूले इस जग में, लड़े ना भाई भाई

मां जन जन के, मन में बस जाओ चंड मुंड संघारे जैंसे, हिंसा द्वेष मिटाओ सभी ओर हो शांति धरा पर, आशीष हमें दे जाओ प्रेम प्रीत बर... Read more

मां सिद्धिदात्री

नवरात्रि के नवम दिवस, मां सिद्धिदात्री को नमन करें करें प्रार्थना हम सब माता, सबके कार्य सिद्ध करें अष्ट सिद्धि मां के चरणों में... Read more

रावण भी था महाविज्ञ

रावण भी था महाविज्ञ और अथाह पंडिताई थी अमृत का था कुंड नाभि में तीन लोक में धाक जमाई थी न स्वीकारा सत्य को उसने फिर अमृत में भी... Read more

मां मन के सब कलुष नशाओ

मां मन के सब कलुष नशाओ मन लगे नहीं विकारों में शुभ्र बने जीवन सबका मन जागे उच्च विचारों में जीवन का अज्ञान नशाओ ज्ञान प्रक... Read more

मां महागौरी

अष्टम दिवस मां महागौरी तुम्हें ध्याऊं चरनन चित्त लगाऊं हो मांय मैया चरनन चित्त लगाऊं हो मांय वृषभ सवार चली आओ हो माय मैया ब... Read more

एक प्यारी सी परी हमारी

एक प्यारी सी परी हमारी, बातें बहुत वो करती है स्कूल जाने लगी है अब, ध्यान लगाकर पढ़ती है नहीं तंग करे किसी को, काम वो अपना करती ... Read more

माई भक्त रहे हैं पुकार, अरज माई सुन लीजो

माई भक्त रहे हैं पुकार,अरज माई सुन लीजो माई भक्त खड़े दरबार, अरज माई सुन लीजो जग में हाहाकार मचा है केरोना का कहर परो है सब ह... Read more

मां कालरात्रि

मां कालरात्रि करुणा बरसाओ सारे अनिष्ट शमन कर जाओ बढ़ रही हैं वृत्तियां आसुरी मां जगदंबे दमन कर जाओ मां भक्तों को भयमुक्त करो... Read more

माई विनती सुनो हमार, माई मोरी जगदंबे

माई विनती सुनो हमार, माई मोरी जगदंबे माई कोई न खेवनहार, माई मोरी जगदंबे रोग शोक माई निकट ना आवे खुशी खुशी दर्शन को आवे सुखी ... Read more

मां कात्यायनी

माता कात्यायनी आज्ञा चक्र में आओ रोग शोक संताप नशाओ धर्म अर्थ और काम मोक्ष भक्तों को दे जाओ मां कात्यायनी आज्ञा चक्र में आओ ... Read more

मैया पार लगा दो

श्रद्धा और विश्वास से मैया, मैंने द्वार सजाया है प्रेम और भक्ति का आसन, मनमंदिर बीच बिछाया है आन बसो मनमंदिर मैया, भक्त द्वारे आ... Read more

मां स्कंदमाता

नवरात्रि के पंचम दिन, मां स्कंदमाता तुम्हें ध्याऊं आन विराजो चेतन मन में, चेतना शक्ति जगाऊं बिखर गई है चेतना मेरी, लगी हुई है वि... Read more

सपने पूरे हों जन जन के

सपने पूरे हों जन जन के, सबको सही मुकाम मिले हर हाथों में काम देश का एक नई पहचान मिले सुधर जाए ये तंत्र हमारा, भ्रष्टों को ना जगह... Read more

मां आदिशक्ति क्या मांगू

मोहपाश में बंधा हुआ मां आदिशक्ति क्या मांगू आप है सिरजनहार मेरी मैं अज्ञानी क्या जानू मोहे निशा में जाग रहा प्रकाश कभी न द... Read more

मां कूष्मांडा

आदि शक्ति आदि स्वरूपा, अष्टभुजा महारानी अंधकार को दूर भगाया, मंद मंद मुस्कानी ईषत हास्य से ब्रह्मांड बनाया, प्रकट हुईं भवानी द... Read more

मां अंबे शक्ति दे दो

मां अंबे शक्ति दे दो निर्बल मन घबराता है इस अथाह संसार की थाह नहीं पाता है चमक दमक देख दुनिया की मूरख मन ललचाता है चैन न... Read more

मां चंद्रघंटा

अर्धचंद्र धारणी मैया, कृपा सब पर बरसाओ तृप्त हो जाएं आत्माएं, शीतलता बरसाओ मां जग का कल्याण करो सुख शांति धारा पर बरसाओ लोक ... Read more

नमन मातु हे ब्रह्मचारिणी

नमन मातु हे ब्रह्मचारिणी, मां घट भीतर आ जाओ छूट रही है सुचिता मन की, मां मन निर्मल कर जाओ नमन माता हे ब्रह्मचारिणी, मां घट भीतर ... Read more

नवरात्रि का प्रकाश है

नवरात्रि का प्रकाश है मन में मेरे उजास है उमंग और उत्साह है ममता भरी एक प्यास है मां के दरस की आस है लगी हुईं हैं झांकियां... Read more

मां शैलपुत्री

नव दुर्गा मैया आन विराजो घट में मैया आन विराजो मन में मैया बैठो जन जीवन में, मैया आन बिराजो मन में दस द्वारे के दुर्ग में मैया... Read more

नवरात्रि मंगलमय हो, सबको बहुत बधाई हो

नवरात्रि मंगलमय हो, सबको बहुत बधाई हो मां की ममता आषीशें मां सब को सदा सहाई हो नगरी नगरी द्वारे द्वारे, मां की ज्योत जली है नव... Read more

सुरक्षित रहना सबसे अच्छा

मास्क पहने करें सुरक्षा दो गज दूरी जीवन रक्षा अपनी और समाज सुरक्षा देश और दुनिया की रक्षा भीड़ भाड़ से बचना अच्छा सुरक्षित रहन... Read more

अक्सर मासूम दिल, शिकार बना लेते हैं

अक्सर मासूम दिल, शिकार बना लेते हैं दिल के फ्रेम में, चाहे जो तसबीर लगा लेते हैं हर वक्त एक नया दिल,दिल में लगा लेते हैं सरेर... Read more

करोना स्लोगन

मास्क नहीं मजबूरी है जीवन के लिए जरूरी है हाथ धोना जीवन धूरी है दो गज अपनाना दूरी है करोना से सुरक्षा पूरी है सुरेश कुमार ... Read more

प्रेम की प्यास जगी है

घायल मनवा भाग रहा है गोरी तेरे पीछे नयनन मारी प्रेम कटारी करके धूंघट नीचे प्यासे हैं दो नैना सजनी कबसे तरस रहे हैं व्याकुल हैं दर... Read more

बिला वजह न हाथ लगाएं

मास्क की ही है वैक्सीन सुरक्षा मास्क करेगा सबकी रक्षा चाहे जो भी हो मजबूरी मास्क पहनना बहुत जरूरी जब भी अपने काम पर जाएं दो... Read more

राही ठहर नहीं जाना

राही मंजिल पाने तक, ठहर नहीं जाना है धैर्य और समझ बूझ से, राहें सुगम बनाना है आते हैं अबरोध कई, सबको दूर हटाना है नहीं निराशा... Read more

चलने दें अपना रूटीन

जनाब मोहतरमा नाज़नीन अभी तो मास्क ही है वैक्सीन मास्क लगाएं रखें यकीन चलने दें अपना रूटीन भीड़ में दूरी रखें सुरक्षित लाइफ ब... Read more

जीवन की शुभ यात्रा, धैर्य सोच समझ करिए

जीवन की शुभ यात्रा, धैर्य सोच समझ करिए सुबह शाम योग ध्यान, सदा स्वस्थ रहिए शुद्ध रखें खान पीन जीवन निरोग रखिए जपते रहें राम न... Read more

सुरक्षित बाहर जाना है

न डरना और डराना है कोरोना को हराना है सुरक्षित बाहर जाना है मास्क अवश्य लगाना है दो गज दूरी अपनाना है हाथ भी धोते जाना है ... Read more

कैंसे कैंसे ख्वाब दिखाए, छोड़ गए फिर रस्ते में

कैंसे कैंसे ख्वाब दिखाए, छोड़ गए फिर रस्ते में खेल समझकर खेल गए, मासूम से दिल से सस्ते में रिश्ते नाते प्यार वफ़ा सब, बंद हुए है... Read more

युगों की निशानियां

सत्य प्रेम करुणामय जीवन, सतयुग यही निशानी है झूठ हिंसा द्वेष कलह, कलयुग की यही कहानी है सत्य प्रेम करुणा, जब व्यवहार में आते ह... Read more

देख रहे हो? दुनिया में सीन?

देख रहे हो? दुनिया के सीन? जनाब मोहतरमा नाज़नीन हजरात दिली इस्तकबाल ख़ैर मगदम होशियार ज़िंदगी से करें प्यार आपसे गुज़ारिश ... Read more

सारे तीरथ कर आया, पर मन को फेर न पाया

सारे तीरथ कर आया, पर मन को फेर न पाया दूर देश हज कर आया, ईमान न खुद पर लाया कितना बांध हूं इस मन को, यह कहां बंध पाता है मौका प... Read more

गांव में बहू शहर की आई

गांव में बहु शहर की आई करती नहीं किसी का पर्दा है अलमस्त लुगाई गिटर पिटर अंग्रेजी बोले, जीजी कछु समझ न पाई अपने धन्ना की परजाई... Read more

पल पल बदल रहा संसार

पल पल बदल रहा संसार खाना पीना रहना बदला बदल गया व्यवहार पाप पुण्य का मानव जग में करे न जरा विचार पल पल बदल रहा संसार गां... Read more

जीवन का आनंद उठाएं

जीवन का आनंद उठाएं, सुख शांति संतोष जगाएं मन बगिया में,सुमन खिलाएं अपने अंतस को महकाएं, ऊर्जा अंदर को ले जाएं आशा और विश्वास जग... Read more

जीवन सागर मंथन है

जीवन सागर मंथन है, विष अमृत का मिश्रण है आंख खोल कर देखो जीवन अनुभव से कर लो जीवन मंथन विष निकलेगा सबसे पहले धैर्य से उसे पच... Read more

नहीं देखते कर्म खुद के, खबर रखते हैं जमाने की

नहीं देखते कर्म खुद के, खबर रखते हैं जमाने की नसीहत सबको देते हैं, कर्मों को सजाने की न सबर न सुकून दिल में, बातें ईमान लाने की ... Read more

नयन हुए दो चार, जागी प्रीत पुरानी

सम्मुख पड़ी सांवरी सूरत, सुध-बुध सब विसराई रोम रोम रोमांच हुआ, पलक नहीं झपकाई देखत आनन मौन हुआ, बोलन लागे नैन नयन नयन में हो ग... Read more

रिजल्ट

दरवाजा खटखटाने की आवाज आई, नवीन ने दरवाजा खोला तो सामने गांव के बचपन के मित्र शर्मा जी खड़े थे, जो राजधानी में ही डिप्टी कलेक्टर के ... Read more

किसानों पर राजनीति

राजनीति कर रहे हो,? क्यों चुल्लू भर पानी में डूब कर नहीं मर रहे हो? कृषि सुधार बिल किसानों पर राजनीति हो रही है सूखी किसान क... Read more

कब जुर्म पर लगी लगाम

कब बलात्कार बंद हुए,? कब जुर्म पर लगी लगाम? राजनीति मत करो व्यर्थ में, हो सके तो करो काम अनाचार अत्याचार तो जुर्म ही है इस... Read more