Suman Agarwal

Agra

Joined November 2018

Copy link to share

गजल

ग़ज़ल जश्न-ए-महफ़िल सज़ा कर तो देखो खुशी का माहौल बनाकर तो देखो। हमारी जिंदगी में ग़म बहुत हैं यारो जीवन में ग़मो को भुलाकर तो देख... Read more

कविता

25 दिसंबर क्रिसमस का त्यौहार आया है सेंटाक्लॉज बनकर ढेरों उपहार लाया है। केक काटकर जश्न मनाया जीवन खुशियों की बहार बच्चे सार... Read more

गजल

आसमान छूने का ख्वाब सजाये बैठे हैं भविष्य में सुंदर नज़ारे दिखाये बैठे हैं। अपनी थोड़ी सी खुशी के खातिर लोग कितने लोगों का वो दिल... Read more

कविता

बाल दिवस चौदह नबम्बर को हम बाल दिवस मनाते है छोटे-छोटे बच्चों के चेहरे खिल-खिल जाते है। बच्चे हर्षित हो रहे है आज आया बाल दिव... Read more

कविता

बाल दिवस चौदह नबम्बर को हम बाल दिवस मनाते है छोटे-छोटे बच्चों के चेहरे खिल-खिल जाते है। बच्चे हर्षित हो रहे है आज आया बाल दिव... Read more

पर्यावरण

" पर्यावरण " आओ मिलकर शपथ लें पर्यावरण बचाएं हम चहुंओर हरियाली हो प्रकति को सुंदर बनाएं हम। ताजी, ठंडी, खुली हवा मिले मन में ... Read more

माँ

#माँ स्नेह से भरी ममतामयी माँ तुमसे मिला है जीवन दान कैसे भूल जाऊँ माँ तुम्हें मैं, तुम ही हो मेरा अभिमान। खुद कष्ट झेलें लाख... Read more