Sukant Tiwari

Joined November 2016

Copy link to share

मेरा चाँद

क्या बताऊँ भला कैसा अहसास है दिल को बस उसके ही दीद की प्यास है रास्ता चाँद का आप ही देखिए चाँद मेरा तो कबसे मेरे पास है सभी ... Read more

अगर ये दिल नहीं होता......

ग़ज़ल भी हो नहीं पाती अगर चेहरा नहीं होता मेरा ये दिल किसी के प्यार में पगला नहीं होता थकन, आवारगी, टूटन, उदासी और तन्हाई अगर ये दि... Read more

मुहब्बत की निशानी

वो पतझड़ में भी अक्सर ऋतु सुहानी भेज देते हैं .......कभी फिर याद में बीती कहानी भेज देते हैं ....मुझे जो भूल बैठे हैं न जाने किसलिए अ... Read more

जमीं भी बोलती है साथ अंबर बोल उठता है

ज़मीं भी बोलती है साथ अंबर बोल उठता है हमारी आगवानी को समंदर बोल उठता है कोई भी साथ दे न दे मुसीबत में हमेशा ही दुआओं का असर मां की... Read more