Sonu Jain

Mandsour

Joined October 2017

Govt, mp में सहायक अध्यापिका के पद पर है,,
कविता,लेखन,पाठ, और रचनात्मक कार्यो में रुचि,,,
स्थानीय स्तर पर काव्य व लेखन, साथ ही गायन में रुचि,,,

Books:
तेरे खाव

Awards:
चेतना mp

Copy link to share

दीवारों से बात कर लेते है

*दीवारों से बात कर लेते हैं* जब तन्हा होते है तो दीवारों से बात कर लेते है तेरी जुदाई में ये सनम तेरी यादों से मुलाकात कर लेते ह... Read more

प्यार का फूल खिलाया नही जाता

*प्यार का फ़ूल खिलाया नही जाता* प्यार का फ़ूल खिलाया नही जाता। ये इश्क़ है साहेब हर किसी को बताया नही जाता। मिलती है खुशियां तो ... Read more

कोई बात नही

*कोई बात नही* दिल मेरा टूटकर मोती सा बिखरा तो कोई बात नही। तुम करते हो नफ़रत हमसे तो कोई बात नही।।।। हम समंदर सा शांत चित्त ... Read more

समंदर की तरह शांत रह लेने दो मुझे

*समंदर की तरह शांत रह लेने दो मुझे* समंदर की तरह शांत ही रह लेने दो मुझें। बढ़ते दर्द संग ही जी लेने दो मुझे।।। ख्वाइशों को म... Read more

अश्कों को ढल जाने दो

*अश्कों को ढल जाने दो* मेरी आँखों से अश्क़ को ढल जाने दो। गैरो ने नही मुझे तो अपनो ने रुलाया था।।।। मग़रूर थे हम ही हमी से वो... Read more

आँखे ने प्रीत की रीत निभाई थी

प्रीत की रीत निभाई थी इन आँखों ने। आँखों ने कैद किया था सूरत उनकी प्रेम भरी सलाख़ों ने।। नही मिलता किसी को यहाँ मुक्कमल जहाँ। ऐस... Read more

ये आँखे

ये आँखे कितना रोती है ये आँखे। कितना चैन खोती है ये आँखे। टूट गये सारे वो रिश्ते दरिमियांन हमारे। फिर भी कितने मोती पिरोत... Read more

स्वार्थ की भावना

*स्वार्थ की भावना* स्वार्थ की भावना से प्रेम किया था। स्वार्थ सिद्धि पर मख्खी की तरह फेंक दिया था। जमाने में किसने मोहब्बत का... Read more

यादें

*सुनहरी यादें* संग उनके बीते वो लम्हें बहुत रुलाते है। उनकी बाहों के वो झूले मुझें मीठी नींद में सुलाते है।।।।। उनका मुझसे हँ... Read more

इश्क

इश्क़ इश्क इश्क इश्क उफ़्फ़फ़ ये इश्क़ इस इश्क ने जीना मुहाल कर दिया। भर गर्मी में चेहरा मेरा लाल कर दिया।।।। छुप छुप कर लै... Read more

भाई

*भाई से बहन की इल्तिज़ा* आयेगी याद भाई तेरी मैं आँखों से आँसू बहा लूँगी। रख सीने पर हाथ अपने खुद को समझा लूँगी।।।। भाई तेर... Read more

ग़ज़ल

इश्क़ इश्क़ में मुँह मोड़ वो शहर जा रहा है। दिल को बेख़ुदी में अपने खोता जा रहा हैं।।।।। आयेगी याद हरपल उसे जानता है वो भी। इसी... Read more

ग़ज़ल

*इश्क* *ग़ज़ल* आसमाँ को धरती पर कौन लायेगा। इश्क में जुदा हुये उन्हें कौंन मिलायेगा।।। !!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!! बहा... Read more

ग़ज़ल

*इश्क़* *ग़ज़ल* बार बार हम दिल को समझाते रहें। हम रोते रहे और वो हमें नादान कहते रहे। दिल के आसमाँ पर बार बार नाम उनका ल... Read more

गज़ल

*इश्क़* *ग़ज़ल* रिश्ता वही ज़माने में पैर जमाये रहता है। जो रिश्ता सबके दिलों ख़ास होता है।।।।।। चेहरा खुशी से मेरा भी खिल जाता ह... Read more

इश्क ग़ज़ल

*इश्क़* इश्क में रूठ कर हम उनसे कहाँ जाएँगे। वो होंगे जिस शहर में बैठे हम वहाँ जाएँगे।।।। हमे नही चाहिये आलीशान मकाँ रहने को। ... Read more

मेरी देशभक्ति मेरे देश पर फ़ना हो जायेगी

*देशभक्ति* मेरी देशभक्ति मेरे देश पर फ़ना हो जायेगी। दुश्मनों को चीर कर जाँ माँ भारती पर फ़िदा हो जायेगी। रखना जरा कदमों को स... Read more

बात देशभक्ति की

*देशभक्ति* अगर कभी मजहब की बात करना हो तो मुझसे मत करना। अगर बात किसी की हौसला अफ़जाई की करना हो तो मुझसे बात करना।।। अगर जा... Read more

माँ से सब मिला

*माँ से सब कुछ मिला* माँ से ही मुझें दुनियां की हर खुशी मिली, माँ से ही मेरे दिल के चमन की कलिया खिली। ममतामयी माँ का कितना गुण... Read more

देशभक्ति

*देशभक्ति* हाथों में तिरंगा दे दो मेरा जन्म सफल हो जायेगा। भारत माता की गोद मे प्राण त्याग मेरा मान बढ जायेगा। जन्म मेरा हजा... Read more

देशभक्ति

*मेरी देशभक्ति* देश को दुश्मनों से बचाना पड़ेगा। धीरे धीरे ही हमे लोहा ले आंतकियों से लड़ना पड़ेगा। जो छिपे है भेड़िए हमें उनकों ... Read more

*माँ*

*माँ* *माँ अगर रख दे सिर पर हाथ तो आशीष बन जाता हैं।* *जो माता -पिता को रुलाये वो इन्सान जल्लाद बन जाता है।* *और जो बेटा पहुँचा... Read more

माँ

*माँ* जब होती हूँ तन्हा तो माँ बहुत याद आती है, माँ के बगैर मुझे ये दुनिया नही भाती है। रोती हूँ कभी दुःखो में डूबकर, माँ की... Read more

माँ

*माँ* माँ के आँचल में चैन से सो जाना चाहती हूँ। माँ के नैनों में अपनी मूरत देख आना चाहती हूँ। माँ के एहसानों का कर्ज ताउम्र नही... Read more

वोट की अभिलाषा

*वोट की अभिलाषा* चाह नही मैं रूपये पैसो के बल पर बिका जाऊँ, चाह नही मैं गाड़ी बंगला की चाह में अपना जी ललचाऊँ। चाह नही मैं दल... Read more

माँ

*माँ* माँ के आंचल की छाँव नीलगगन तले मुझें यूँही मिलती रहें। माँ का नाम लेते ही माँ का स्नेह मुझ पर यूँही बरसता रहें।। जमीं स... Read more

बेटियां

*आज के विषय पर मेरी छोटी सी कोशिश।* *विषय -बेटियां* बेटियां तो बेटियां होती है, माँ बाबुल की आँगन की बगियाँ होती है। तितलि... Read more

बेटियों को पढ़ाओ

*बेटियों को पढाओ* बेटियों को पढ़ने का मौका दे दो, सुनहरी बगियाँ को एक कलम स्याही का पौधा दे दो।। छोटा सा बस्ता और ज्ञान गंगा द... Read more

वीरो को सदा याद करेंगें

*वीरो को सदा याद करेंगे* वतन पर मर मिटने रखवाले शहिदों को सदा हम याद करेंगें। भारत माता के वीर सपूतों को सदा नमन करेंगे।।। जो... Read more

ग़ज़ल

*नफ़रत* ग़ज़ल नफ़रत की दीवारों को सदा सदा के लिये तोड़ना चाहती हूँ मैं। भारतीयता औऱ संस्कृति का फ़ूल जग में महकाना चाहती हूँ मैं। ... Read more

ग़ज़ल

ग़ज़ल जमाने के देखें हमने रंग हज़ार, नही जेब मे कुछ रुपया हम कितने है लाचार। महफ़िल सजी है दीवानों की यहाँ हर गली में, फिर भी दे... Read more

जिंदगी/ जीवन

*जिंदगी/ जीवन* जिंदगी हर पल की है सुहानी, जिंदगी में सबकी हो मोहब्बत की कहानी, नही मिलता नाराज़गी से कुछ साथियों, जीवन को बना ल... Read more

माँ से बिछड़कर जायें कहाँ

*तुझसे बिछड़कर जायें कहाँ?* माँ के आँचल से बिछड़कर जायेंगे कहाँ, माँ के जैसा दूजा नही कोई है यहाँ।।। माँ की छत्र छाया सदा मैं... Read more

तुझसे बिछड़कर जाये कहाँ

*तुझसे बिछड़कर जाये कहाँ* चाँद से बिछड़कर आज तक चकोर जिंदा है, मुश्किलें कितनी है इश्क की राहों में फिर भी आशा अभी जिंदा है।।।। ... Read more

तेरी गली

*तेरी गली* तेरी गली के रास्ते सब बन्द हो गये, सुना है अब हम तेरे लिये अज़नबी हो गये।।। ख़ता हमारी ही थी हम ही तेरी बातो ही बातो... Read more

अवसर

*अवसर* जिंदगी में कुछ अवसर ऐसे बीत गये, हम सोये रहे अहम की चादर पर और दिन रात बीत गये। जागते भी कैसे चारो और से आ रही थी खुशि... Read more

मतलबी दुनियां

*मतलबी दुनियां* इस ज़माने के सारे लोग मतलबी हो गये। जो थे अपने आज पराये हो गये।।।। किसको क्या कहे मतलब की दुनियां में, सब मगर... Read more

नयन

*नयन*/ *निगाहें* नयनों के तीर से हम उनके घायल हो गये, वो देख देख हमे हमारे हुश्न के परवाने हो गये।।। निगाहों से निगाहें मिली... Read more

हाइकू

*हाइकू* *भाई* भाई सहारा सदा रखना तुम ख्याल हमारा। रीत प्रेम की अनुपम तुम हो, राखी डोरी की। लाज बचाना, बहन की अपनी, ... Read more

नज़रिया

*नज़रिया* नजरों से नजरें मिली तो हमारा देखने का अंदाज बदल गया। राहों में देख काँटे राही का मन बदल गया।।।।।। क्यों डरते हो क... Read more

नज़रिया

*नज़रिया* किसी के नज़रिए को गलत ठहराने से पहले,, अपने ही नज़रिए को तोल नाप लेना।।।।।। हर किसी का अंदाज़ कुछ अलग खास होता है।।।।... Read more

ग़ज़ल

*ग़ज़ल* चले थे मंजिल की ओर कदम लड़खड़ाया करते थे, मुफ़लिसी को देख लोग मज़ाक उड़ाया करते थे। मेरी तरक्की से जलने वालो के क्या तकलीफ... Read more

अगर तू मेरा बन जाये

*अगर तू मेरा बन जाये* सफर ये सुहाना बन जाये। अगर तू मेरे संग चल जाये। खुशियां भी मिलेंगी अपार मुझे, अगर तेरा साथ मिल जाये।... Read more

ग़ज़ल

*बिछड़ना* *ग़ज़ल* तेरा बिछड़कर जाना मुझे रुलाता है, रातो की निदियाँ नैनो से भगाता है। रूह कांप उठती है तन सिहर जाता है, तेरी या... Read more

दंगे के बाद

*दंगे के बाद* ऐसे लड़ने झगड़ने और दबाव बनाने से भला कैसे देश का विकास होगा,,,,,,, ये बात किसी दबंगी और दमनकारियों के समझ नही आ र... Read more

लोग ये क्या कर रहे

*लोग ये क्या कर रहे* सत्य के नाम पर कितना ढोंग धतूरा कर रहे।।। लोग झूठ पाप की गठरी को कैसे बांध रहे आंदोलन कर करके देश म... Read more

तेरी यादों को

*तेरी यादों को* तेरी यादों को दिल मे छुपाया बैठे है,,,,,,।। सुनो न हम तो तुम से ही दिल लगाय बैठे है। तुम्ही में हम हर खुशी ढू... Read more

यादें

*यादें* जिंदगी गुजरने लगी है धीमी धीमा चाल से,,,,,, आज गुमसुम बैठे है हम तेरी ही याद में,,,,,,,,,।। बड़ी कशमकश है ये जिंदगी भी... Read more

जेलमे टाइगर बन्द है

*जेल में टाइगर बन्द है* जेल और सलमान का चोली दामन का रिश्ता है,,,, कौन कहता है जमीन पर नही आता कभी फरिश्ता है।।। चले थे धन दौ... Read more

तुम आ जाना

*तुम आ जाना* क़भी राम तो कभी श्याम बन मोहब्बत का रंग बरसाने आ जाना,,,,,,,,, तुम अपनी प्रियसी से मिलने मंदसौर की गलियों में आ जाना... Read more