Prabhakar Kumar Prasad

Bus stand ,Bariarpur ,Munger

Joined January 2018

I am a private teacher .

Copy link to share

बेटी

हमें पहचानिए , हम हैं कौन हम नहीं , जग नहीं इंदिरा नहीं , सुषमा नहीं महाराणा नहीं , शिवाजी नहीं जननी रहेगी , तभी जनक रहेगा ह... Read more

शायरी

ऐसा साधु - संत न बनिए, जग हँसे और जेल हो जाय l इनके कुकृत्य ऐसे हो रहे, रावण भी पीछे छूट जाय ll Read more

शायरी

प्यार तो शाहजहाँ ने किया, मुमताज की याद में ताजमहल बनवा दिया, तू कैसा कम बख्त निकला, धन के लालच में जिंदा जला दिया ll Read more

नसीहत

नसीहत जो तुम्हें मिला था, ढंग से रख ना सका, हमारी हृदय कश्मीर है, इस पर आँखें ना गडा़, ऋषि - मुनियों का देश है हमारा, आतंकवादियों... Read more

वीर - जवान

वीर - जवान तपती धरती , कपकपाती ठंड , ओले बरसे ,भीषण - तूफान , इन कष्टों को झेलते हमारे जवान , इनका घर- बार मातृभूमि ही , इनकी ... Read more