प्रवक्ता हिंदी

Books:
काव्य-संग्रह–“आइना”,”अहसास और ज़िंदगी”
“काव्य-अमृत”,”भारत के श्रेष्ठ युवा कवि और कवयित्रियाँ”साँझा काव्य संकलन(जे.एम.डी.प्रकाशन)

Awards:
“काव्य-अमृत”,”श्रेष्ठ शब्द शिल्पी”,”काव्य श्री”एवं “साहित्यापीडिया-काव्य” सम्मान

Copy link to share

सच्ची दोस्ती

साथी जलती आग हैं,जलें ख़ुशी में ख़ूब। दुखी पलों में नीर हैं,अपने बनते डूब।। अपने बनते डूब,जलता समय है आया। खुद का विकास वाह,दोस्त क... Read more

राजनीति की चालें

राजनीति की चालें ----------------------- देखी मैंने आज भी,राजनीति की चाल। समीकरण सब देखके,टिकटें मिलें कमाल।। टिकटें मिलें कमाल,... Read more

तीन मंत्र सफल जीवन के

तीन मंत्र सफल जीवन के ------------------------------- शिक्षित बनिए एक तो,रहो संगठित दूज। करो संघर्ष ख़ूब तुम,जीवन हो महफ़ूज़।। जीवन... Read more

तीन मंत्र सुखी जीवन के

शिक्षित बनिए एक तो,रहो संगठित दूज। करो संघर्ष ख़ूब तुम,जीवन हो महफ़ूज़।। जीवन हो महफ़ूज़,तुम बढ़ो और बढ़ाओ। शुरू कारवां आज,इसे आगे ले जा... Read more

हिंसा ठीक नहीं

हिंसा ठीक नहीं -------------------- प्रबल हिंसा आग में,झुलस उठा करनाल। पुलिस प्रशासन देखिए,कैसे करे बबाल।। कैसे करे बबाल,गुरु-शि... Read more

वोट की चोट

वोट की चोट ---------------- पारी पहली वोट की,लगती किसको चोट। जनता खेले खेल तो,निकले सबकी खोट।। निकले सबकी खोट,चकनाचूर हों सपने। ... Read more

स्वयं शक्ति रूप

स्वयं शक्ति रूप -------------------- शक्ति स्वयं पहचान के,त्याग हीनता भाव। नाच मोर का वाह है,अश्रु आह लख पाँव।। अश्रु आह लख पाँव... Read more

नेता चुनो नेक..जो जनता की करे देख

नेता चुनो नेक..जो जनता की करे देख ------------------------------------------------ आँधी आई सोच की,सोच गई पर दूर। सत्य उड़ा है रूठ ... Read more

सलामत हो याराना

सलामत हो याराना ------------------------ करके बातें चार हम,सुकून पाते यार। मन के कोमल भाव मिल,हो जाते गुलज़ार।। हो जाते गुलज़ार,सल... Read more

लानत कहूँ नौटंकी

लानत कहूँ नौटंकी ----------------------/ नौटंकी मैं देख के,हुआ हैरान यार। अपना समझा मान के,निकला वो गद्दार।। निकला वो गद्दार,... Read more

महत्त्व-विपक्ष मज़बूत का

महत्त्व-विपक्ष मज़बूत का -------------------------------- महत्त्व बनता एक का,तानाशाही टेक। विपक्ष ताकतवर हुआ,निर्णय गलत न एक।। नि... Read more

शहीद-भगत राज सुखदेव

यादें सूरज चाँद-सी,चमकें सदैव झूम। भगत-राज सुखदेव की,वतन प्रेम की धूम।। वतन-प्रेम की धूम,अंग्रेज थे धर्राए। भरी सभा बम फैंक,डायर ... Read more

बदला लेना होगा

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में शहीद मेरे देश के वीर जवानों को कोटि-कोटि नमन! वीर जवानों के मान में चंद पंक्तियाँ... "ऐसा सिला दीजिए" ... Read more

विशेष.. शायरी

विशेष..."शायरी" ************** हौंसला है कुछ विशेष करने का इरादा है। सबके दिलों में दिल से उतरने का इरादा है।। हे रब! कभी भूल से... Read more

माँ का दर्द

"माँ का दर्द" --------------- फूट-फूट कर रोई थी माँ,न जागी थी न सोई थी माँ। घोर तिमिर में खोई थी माँ,जिस दिन तन्हा होई थी माँ।। ... Read more

सच-झूठ

सच कड़वा होता है,जल्दी से हज़्म नहीं होता। मौन रहना भी मगर,जख़्म पर मरहम नहीं होता।। झूठ की उम्र छोटी,कभी भूलकर भी मत बोलो। जान जिस ... Read more

परदेशी-परदेशी तुम जाना नहीं

हास्य-कविता ----------------- एक साहिब ने एक नौकर लगाया। उसने अपना नाम परदेशी बताया। उसने ड्यूटी फ़र्ज यूँ निभाया। चार दिन की छ... Read more

"सब भाषाओं से मधुर-भाषा हिन्दी"

"सब भाषाओं से मधुर-भाषा हिन्दी" -------------------------------------------- मधुर कर्ण-प्रिय शब्द हैं,गागर रस का मान। प्रथम विश्व... Read more

राधेय-राधेय

"राधेय-राधेय" ----------------- काल कवलित करने कंस को,लिया विष्णु ने अवतार धरा पर। कृष्णा संक्षा से शोभित द्वापर,देवकी-वासुदेव पु... Read more

मन मलाली मत कर

मन मलाली मत कर ------------------------- अपनी रुह से दलाली मत कर, बातें ख़्याली मत कर। सच का आईना सामने है, झूठ पर ताली मत कर।। ... Read more

"जब होठों पर आता जयहिंद"

मन हो जाता यारो काशी मथुरा कभी गंगा है। जब होठों पर आता जयहिंद हाथों में तिरंगा है।। ये गौरव गाथा भारत की कहता लहरा-लहरा के। वी... Read more

--देश हमारा हम ताक़त--

हुनर का कोई जहां में,सानी नहीं होता। मिसाल बन जाए वैसा,ज्ञानी नहीं होता।। सोना-चाँदी भेंट करे,करके जो गुणगान। वो एकलव्य जैसा मगर,... Read more

--भगवान सदा अपने--सवैया छंद

सवैया छंद की परिभाषा और उदाहरण सवैया --------सवैया छंद में चार चरण होते हैं।इसके प्रत्येक चरण में बाईस से छब्बीस वर्ण या अक्षर होत... Read more

--प्रभु जी करें नमन है--शार्दूल विक्रीड़ित छंद

शार्दूल विक्रीड़ित छंद की परिभाषा और कविता शार्दूल विक्रीड़ित छंद --------------------------यह एक वर्णिक छंद है।इस छंद के प्रत्येक च... Read more

--जवानी की पारी--शिखरिणी छंद

शिखरिणी छंद की परिभाषा और कविता शिखरिणी छंद ------------------यह एक वर्णिक छंद हैं।चार चरणों के इस छंद के प्रत्येक चरण में सत्रह-स... Read more

--प्रथम मिलन--मालिनी छंद

मालिनी छंद की परिभाषा और कविता मालिनी छंद ---------------यह एक वर्णिक छंद है।इसमें चार चरण होते हैं।इसके प्रत्येक चरण में क्रमशःनग... Read more

--छाएँ यहाँ जी दिलों में--मन्दाक्रान्ता छंद

मन्दाक्रान्ता छंद की परिभाषा और कविता मन्दाक्रान्ता छंद -------------------यह एक वर्णिक छंद है।इसमें चार चरण होते हैं।इसमें सत्रह ... Read more

--ख़ुशी का बहाना--भुजंग प्रयात छंद

भुजंग प्रयात छंद की परिभाषा और कविता-- भुजंग प्रयात छंद ---------------------यह एक वर्णिक छंद है।इसमें चार चरण होते हैं।इसमें बारह... Read more

--मन शांत सब शांत--

तोटक(त्रोटक)छंद की परिभाषा और कविता-- तोटक छंद --------------यह एक वर्णिक छंद है।इसमें चार चरण होते हैं।इस छंद के प्रत्येक चरण में... Read more

--कथनी और करनी एक हो--द्रुतविलम्बित छंद

द्रुतविलम्बित छंद की परिभाषा और कविता-- द्रुतविलम्बित छंद ----------------------यह एक वर्णिक छंद है।इसमें चार चरण होते हैं।इस छंद ... Read more

--कारण और कार्य--वंशस्थ छंद

वंशस्थ छंद की परिभाषा और कविता-- वंशस्थ छंद --------------यह एक वर्णिक छंद है।इसमें चार चरण या पद होते हैं।इसमें बारह अक्षर होते ह... Read more

--नशा--उपेन्द्रवज्रा छंद

उपेन्द्रवज्रा छंद की परिभाषा और कविता-- उपेन्द्रवज्रा छंद -------------------यह एक वर्णिक छंद है।इसमें ग्यारह अक्षर होते हैं।इसके ... Read more

--शुभ कर्म--इन्द्रवज्रा छंद

इन्द्रवज्रा छंद की परिभाषा और कविता-- इन्द्रवज्रा छंद ----------------यह एक वर्णिक छंद होता है।इसमें ग्यारह अक्षर होते हैं।इसमें द... Read more

--नेक बातें--त्रिभंगी छंद

त्रिभंगी छंद की परिभाषा और कविता-- त्रिभंगी छंद --------------त्रिभंगी छंद में चार चरण होते हैं।इसके प्रत्येक चरण में बत्तीस-बत्ती... Read more

--हुनर सबको मिला है--रूपमाला छंद

रूपमाला छंद की परिभाषा और कविता-- रूपमाला छंद-- -------------------इसमें चार चरण होते हैं।प्रत्येक चरण में चौबीस-चौबीस मात्राएँ हो... Read more

--सब बोलती हैं आँखें--दिक्पाल छंद

दिक्पाल छंद की परिभाषा और कविता-- दिक्पाल छंद ---------------यह एक सममात्रिक छंद है।इसमें चार चरण होते हैं।प्रत्येक चरण की यति बार... Read more

-मानव तुम कमज़ोर नहीं--आल्हा या वीर छंद

आल्हा या वीर छंद की परिभाषा एवं कविता-- आल्हा या वीर छंद -----------------------वीर छंद में चार चरण होते हैं।प्रत्येक चरण में इकती... Read more

--बलात्कार--सार छंद की परिभाषा और कविता

[26/05, 8:53 p.m.] राधेयश्याम प्रीतम: "सार"छंद की परिभाषा और कविता- सार छंद ----------यह एक ललित छंद है।इसमें चार चरण होते हैं।प्र... Read more

--तज़ुर्बा हमारा--उल्लाला छंद

उल्लाला छंद की परिभाषा और कविता- उल्लाला छंद- ----------------- यह एक सममात्रिक छंद है।इसमें चार चरण होते हैं।इसके दो भेद या प्रक... Read more

तांटक छंद की परीभाषा और कविता-

तांटक छंद की परिभाषा और कविता ---------------------------------------------- परिभाषा-तांटक छंद में चार चरण होते हैं।प्रत्येक चरण म... Read more

--विश्वास--

चौपाई छंद की परिभाषा और कविता--- चौपाई छंद की परिभाषा:-यह एक सममात्रिक छंद है।इसमें चार चरण होते हैं।इसके प्रत्येक चरण में सोलह-सोल... Read more

--तेरी धाक--

बरवै छंद की परिभाषा एवं कविता ------------------------------------------- परिभाषा-बरवै एक अर्धसममात्रिक छंद है;इसमें चार चरण होत... Read more

कविता--हरीभरी हो धरा

"रोला छंद"--परिभाषा एवं कविता ---------------------------------------- रोला एक सममात्रिक छंद है;इसमें चार चरण होते हैं;प्रत्येक चर... Read more

--दिशाहीन मानव--

गीतिका छंद--परिभाषा एवं कविता -------------------------------------------- यह एक सममात्रिक छंद है;इसमें चार चरण होते हैं;प्रत्येक ... Read more

--उपदेश और अनुसरण--

हरिगीतिका छंद --------------------- यह एक सममात्रिक छंद होता है,इसमें चार चरण होते हैं,प्रत्येक चरण में 28-28 मात्राएँ होती हैं और... Read more

--सच्ची शिक्षा--

--सच्ची शिक्षा-- शिक्षा अनमोल हीरा,जड़ जीवन अँगूठी में। चार चाँद लगाए ये,मनुज शान अनूठी में।। ज्ञान चक्षु खोले बंद,मिले तब घना आ... Read more

--आशाराम की आशा--

आशाराम की आशा ------------------------- आशाराम की आशा,धूमिल हुई निश्चित। बुरे काम का नतीजा,बुरा रहा सुनिश्चित।। ऐश किया प्रतिप... Read more

--सिला मोहब्बत का--

ये सिला है मिला मुझे वफ़ाई का। अदम तक चर्चा मेरी रुसवाई का।। ज़ख्मे-दिल न भरता वो दिया तूने। कुछ असर न होता किसी दवाई का।। वफ़... Read more

--इश्क़े-रोग--

हैरत से सभी लोग देखें मुझे। दें ताना तेरा नाम लेके मुझे।। तुमने लोगों से क्या कहा ऐसा। पुकारें सब मंजनू कहके मुझे।। महफ़िल मे... Read more

--ख़ुश न कर पाओगे--

एक कविता...खुश न कर पाओगे ----------------------------------------- किसी के लिए मिट जाओ,मगर खुश न कर पाओगे। भगवान से ही खुश न जो,... Read more