आर.एस. प्रीतम

जमालपुर(भिवानी)

Joined November 2016

प्रवक्ता हिंदी
शिक्षा-एम.ए.हिंदी(कुरुक्षेत्रा विश्वविद्यालय),बी.लिब.(इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय) यूजीसी नेट,हरियाणा STET

पुस्तकें-
काव्य-संग्रह–“आइना”,”अहसास और ज़िंदगी”एकल संकलन,एकल ग़ज़ल-गीत संग्रह “वक़्त से बातें”
“काव्य-अमृत”,”भारत के श्रेष्ठ युवा कवि और कवयित्रियाँ”,”साझा काव्य संकलन(जे.एम.डी.प्रकाशन),”बेटियाँ”,”माँ” साझा काव्य-संग्रह(साहित्य पीडिया द्वारा प्रकाशित),काव्य-समर्पण,उजेश,अभिजना,अभीति,आयाति,साहित्य-धारा काव्य-संग्रह(श्री नर्मदा प्रकाशन)

पुरस्कार-
“काव्य-अमृत”,”श्रेष्ठ शब्द शिल्पी”,”काव्य श्री ,”उजेश साहित्य सम्मान”,एवं “साहित्यापीडिया-काव्य” सम्मान

चलध्वनि यंत्र संख्या-98128-18601 या 93060-57546
ईमेल आईडी-radheys581@gmail.com

Copy link to share

#महफ़िल-महफ़िल तेरी यादें

सरग़म-सी घुलके साँसों में,मीठे गीत बनाती हो। मेरे नयनों के अंबर में,बन चाँद मुस्कुराती हो।। महफ़िल-महफ़िल तेरी यादें,ग़ज़लों में बस ज... Read more

#दिल का हुनर (#लावणी छंद)

कहने सुनने से क्या होगा, बातों का असर चाहिए। आईने - सी फितरत जिसकी, हमको वो नज़र चाहिए। मौसम-सा बदले जो प... Read more

#मात्रा गणना और दोहा छंद

#आइए सीखते हैं,मात्रा गणना के साथ दोहा छंद क्या होता है दोहा?कैसे लिखा जाता है दोहा?.. आइए जानते हैं दोहा लिखने का नियम.. ..👌दोहा.... Read more

#प्रीतम की मुकरियाँ(02)

शब्द-शब्द में माधुर्य भरा। जिसने मेरा मन हृदय हरा। शोभा देती जिसकी बिंदी, हे सखि साजन?ना सखि हिंदी। जिसके आते रौनक आए। तन-मन ... Read more

'प्रीतम' की मुकरियाँ

मीठा बोले मन आनंद भरे। आकर्षित अपनी ओर करे। दूर करे वो तन-मन बोझिल, हे सखि साजन?ना सखि कोकिल। सुंदर अपना रूप बनाकर। बस जाए आँ... Read more

#दोहे मस्ती प्रेम प्रेरणा संस्कारों के

जीवन मस्ती प्रेम में , उड़ता सरिस पतंग। हरजन देख उड़ान को , करना चाहे संग।। सफल वही इंसान है , जिसकी आगे सोच। जो ... Read more

#सच्ची पूजा आत्मा की (#हरिगीतिका)

ईश्वर के पूजन से पहले, अमर आत्मा पूजिए। बिन माँगे सही दिशा देगी, और क्या फिर चाहिए।। पत्थर में ... Read more

#प्रेम भरे नयनों से देखो (#ताटंक)

प्रेम भरे नयनों से देखो, अंतर्मन खिल जाएगा। विष-भाव बदल प्रेम-सुधा में, सुरभियुक्त हृदय बनाएगा। कोम... Read more

#वीरों की पहचान (#वीर/आल्हा)

देखो मत तुम दाग़ चाँद में, मिला चाँदनी का अहसान। ठोकर खाकर मंज़िल पाई, उस ठोकर पर दिल कुर्बान।। वक़्त परीक्षाएँ लेकर ही, ... Read more

#नारी अब अबलापन छोड़ो(#वीर/आल्हा)

नारी अब अबलापन छोड़ो, सबला बनकर भरो हुँकार। जो भी देखे तुच्छ नयन से, रणचंडी का लो अवतार।। चारों ओर दरिंदे बैठे... Read more

# मेरी है मीत तन्हाई(#ताटंक)

#मेरी है मीत तन्हाई कविता साथ चले तो मुझसे, जाती है हार तन्हाई। लोग बहाते हैं आँसू भी, कह जाती मार तन्हाई। ... Read more

संस्कारों से (# ताटंक)

शबनम भी मोती - सी चमके, किरणों के व्यवहारों से। उद्यान यहाँ खिल जाते हैं, पाकर प्रेम ... Read more

# फिर तालाबंदी होती

# फिर तालाबंदी होती लाठीचार्ज़ कहीं स्प्रे मिलता, मौत कहीं मज़दूरों को। रोटी मंज़िल आराम नहीं, द... Read more

# 'प्रीतम' प्यार इशारों में

तुमको चाहूँ प्यार करूँ मैं, तुम हो चाँद सितारों में। तेरा मेरा नाम जुड़ेगा,चाहत के अख़बारों में। प्यार ज़ुदा है प्यार हसीं है,प्यार इ... Read more

मज़दूरों का दर्द (#दोहे)

हृदय विदारक हो गया , मज़दूरों का दर्द। अंगारे बरसा रहा , मानो मौसम सर्द।। छालें फूटे पाँव में , शहर मिला ना गाँव। ... Read more

# देशप्रेम-स्वदेशी अपनाओ

देशी वस्तु खरीदिए , देश प्रेम की बात। अर्थव्यवस्था ठीक हो , देश बढ़े दिन रात।। देश बढ़ा तो हम बढ़े , खुद ही होंगे ... Read more

# प्रेरणादायक दोहे

नहीं सलीका आप में , मुझको देता दोष। पाँव सँभाले खुद नहीं , करे शूल पर रोष।। भौर हुई चितचोर सी , पुलकित करती अं... Read more

#मातृ-दिवस पर दोहे#

#मातृ-दिवस पर दोहे# निस्वार्थ लुटाकर चले , ममता का संसार। माँ देवी से कम नहीं , प्राणों का आधार।। प्रकृति तुल्य म... Read more

#प्रेरणादायक#

प्रीतम प्यारा अर्थ है , रखना इसका कंध। अर्थ गया तो कुछ नहीं , ख़र्चा जीवन बंध।। प्रीतम अच्छी सोच में , उर्जा हो भ... Read more

यहाँ छोड़कर कौन ये गिल गया है

मीटर-122-122-122-122 चले थे सफ़र में इरादा ले घर का यहाँ घर नहीं पर वहाँ मिल गया है शराफ़त नहीं ये नज़ाकत सही ... Read more

कूचे में महबूब है(#उल्लाला#)

कूचे में महबूब है ---------------------- मीठा मीठा बोलिए संग सभी के डोलिए चार दिनों की ज़िंदगी मौज़ वफा सब कीजिए ... Read more

इश्क़ यहाँ तक़सीर नहीं है

मज़लिस में तक़रीर ग़ज़ब था सच में वो तासीर नहीं है चाहत थी तुमको पाने की पर अपनी तक़दीर नहीं है ताक़त से ही हासिल कर लूँ ऐसा भी त... Read more

मोती के मोती

शिक्षा के बिना प्रेरणा का , औचित्य नहीं होता है। अँधा देखे आईना तो , वो फल शून्य पिरोता है। भैंस नहीं नाचेगी धुन... Read more

लोग चले जाते हैं, अंदाज़ नहीं मरते

लोग चले जाते हैं , अंदाज़ नहीं मरते। जो दिल से निकले हों , अल्फाज़ नहीं मरते।। कर्मों का साँचा हो , गीत ग़ज़ल - सा 'प्... Read more

दो गज़ की दूरी

हारेगा कोरोना ये विश्वास लिए चलना हाँ ! भीड़ नहीं करना दूरी दो गज़ की रखना माना ये दुश्मन है पर सीख सही में देता... Read more

फिर होंगे दिन रात सुहाने

गीत-"फिर होंगे दिन रात सुहाने" 🤼‍♂🏇🏼🏄🏻‍♂⛹🏽‍♂🏌🏽‍♂🚣🏽‍♀🧗🏼‍♂🚴🏾‍♂ साथ सभी का मिल जाएगा , कोरोना भी हिल जाएगा। फिर होंगे दिन ... Read more

कब जीत हमारी होगी

💐कब जीत हमारी होगी💐 ---------------------------------- उत्तम खाया जाएगा तो , अच्छा ही सोचा जाएगा। अच्छा सोचा जाएगा तो , ... Read more

रुत आए मन को भा जाए

रुत आए मन को भा जाए 💐💐💐💐💐💐💐 गर साथ निभाना आ जाए,गर प्यार दिलों में छा जाए। स्वर्ग जमीं पर ही होगा तब,रुत आए मन को भा जाए।। ज... Read more

"अभी ध्यान से चलो"

💐अभी ध्यान से चलो💐 🚴🏾‍♂🚴🏾‍♂🚴🏾‍♂🚴🏾‍♂🚴🏾‍♂🚴🏾‍♂🚴🏾‍♂ हारेगा कोरोना यारो , मन से तुम स्वीकारो, जीत हमारी ही होगी , यही ठान ... Read more

"प्यार हमारा सच्चा हो"

साथ तुम्हारा पाऊँ मैं , गीत तुम्हारे गाऊँ मैं, खुद से प्यारे हो तुम , दिल तोड़ न देना। देख तुझे हँसता हूँ , खुद ... Read more

जीने की कला

हार नहीं मानी कभी , जीती है हर जंग। तेज़ हवाएँ भी चली , उड़ती रही पतंग।। सुख - दुख का संगम कहूँ , इस जीवन को मीत।... Read more

धर्म क्या है?

धर्म क्या है? -------------- धर्म त्याग परोपकार सिखा,इस जीवन को शांत बनाए। मार्ग अहिंसा का देकर ये,मानव मन मधुकांत बनाए।। संव... Read more

एक दीया देश के नाम

💐एक दीया देश के नाम💐 ----------------------------------- दीप जलेगा हर घर में जब,ये दूर तिमिर हो जाएगा। हम एक हुए संकल्प यही,उत्सा... Read more

हौंसले से बढ़ें पर रुके ना कभी

मीटर : 212-212-212-212 दौर कितना बुरा हो डरें ना कभी हौंसले से बढ़ें पर रुकें ना कभी धूप हो छाँव हो या शहर ग... Read more

"जहालत तब्लीगी जमात की"

"जहालत तब्लीगी जमात की" ~~~~~~~~~~~~~~~ मरकज़ शिक्षा ले चले,कोरोना के संग। हमला डॉक्टर पर करें,हुए बुद्धि से नंग। हुए बुद्धि से न... Read more

"मौलाना साद" का ज्ञान

"मौलाना साद" का ज्ञान ----------------------------- संकट को समझे नहीं , तुम मौलाना साद। मरकज़ करवा के किया , कितनों को न... Read more

"रामनवमी की सच्ची पूजा"

नृप दशरथ गृह पुष्प सम , जन्मे थे श्री राम। रावण का संहार कर , सत्य किया अभिराम।। असत्य नहीं सत्य ही , मन आभूषण ... Read more

"आ बैल मुझे मार"

"आ बैल मुझे मार" -^-^-^-^-^-^-^-^-^- निकल चीन से आ गया , शहरों से अब गाँव। तुम ठहरे घर में नहीं , न रुके कोविड पाँव... Read more

"समय की पुकार" (सामयिक रचना)

स्वस्थ रहें सुरक्षित रहेंगे,घर ही अब मौज़ ठिकाना। धार्मिक नगरी घर को समझो,पढ़ें यहीं वेद कुराना। कोरोना राक्षस हारेगा,दूरी को कवच बन... Read more

मज़बूरी जीवन दूरी न बन जाए

💐मज़बूरी जीवन दूरी न बन जाए💐 --------------------------------------------- दर - दर भटकें ठोकर खाते , बहुत बुरी है लाचारी। रो... Read more

सुभर प्रकृति शृंगार

💐सुभर प्रकृति शृंगार💐 --------------------------------- गगन धरा की प्रीत मैं , देख रहा हूँ मीत। मिली गगन के प्रेम ... Read more

सावधान!सावधान!

सावधान!सावधान! 💐💐दोहे💐💐 अपनो से है प्रीत यदि , जागें भारत लोग। प्रतिदिन बढ़ता जा रहा , कोरोना का रोग।। नियम तोड़ कु... Read more

हर अहल-ए-वतन बेदार जाए

💝ग़ज़ल💝 👏👏👏👏 हर अहल - ए - वतन बेदार जाए घर रह न बेवज़ह बाज़ार जाए वो ख़्वाब - ए - ग़फ़्लत अज़ीज़ ना हो ख़ुद मरे पर और क... Read more

कोरोना शत्रु है कोई मज़ाक नहीं

सुनो!मज़ाक उड़ाने वालो,नियम तोड़ के जाने वालो। कोरोना विस्तार बढ़ा है,अफ़वाहों का अंबार नहीं।। छोटी ग़लती बड़ी न करना, ध्यान बात पर पू... Read more

जनता कर्फ़्यू

आज्ञाकारी लोग हम , घर में बैठे आज। नियम मान सब कर रहे , देशप्रेम का काज।। ताली थाली शंख ध्वनि , करे रोग उपचार। ... Read more

बैबी डोल यहाँ-वहाँ मत डोल(कनिका कपूर)

बैबी डोल!यहाँ-वहाँ डोल,- कर आई कितनों का डिब्बा गोल। तू कपूर-कपूर-सी उड़ती, नहीं समझती है जीवन का मोल। दहशत में हैं अब वो सारे,... Read more

कोरोना की सीख

कोरोना की सीख नयी है,जनता जल्दी सीख रही है। दौर गया था संस्कारों का,मानवता के व्यवहारों का। स्वच्छ हवाएँ हैं शोर नहीं, भीड़ भरा ... Read more

कोरोना का ख़ौफ़

कोरोना के ख़ौफ़ से,डर का है माहौल। लापरवाही चीन की,विश्व चुकाए मोल।। विश्व चुकाए मोल,पिशाच सम महामारी। देती सीधी मौत,दवाएँ भी हैं ह... Read more

राजनीति षडयंत्र

झटका देकर सिंधिया,छोड़ गए कांग्रेस। कमल साथ अपना लिया,मोदी जी आदेश।। मोदी जी आदेश,भाजपा की अब सेवा। कमलनाथ बैचेन,करें देवा रे देवा... Read more

बिल्ली तो ताक रही

खोलो आँखें सोई हारी , समझो भी ज़िम्मेदारी, क्यों बनते क़बूतर , बिल्ली तो ताक रही। शीशे जैसा ये दिल है , कच्चा मानो ... Read more