आर.एस. प्रीतम

जमालपुर(भिवानी)

Joined November 2016

प्रवक्ता हिंदी
शिक्षा-एम.ए.हिंदी(कुरुक्षेत्रा विश्वविद्यालय),बी.लिब.(इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय) यूजीसी नेट,हरियाणा STET

पुस्तकें-
काव्य-संग्रह–“आइना”,”अहसास और ज़िंदगी”एकल संकलन,एकल ग़ज़ल-गीत संग्रह “वक़्त से बातें”
“काव्य-अमृत”,”भारत के श्रेष्ठ युवा कवि और कवयित्रियाँ”,”साझा काव्य संकलन(जे.एम.डी.प्रकाशन),”बेटियाँ”,”माँ” साझा काव्य-संग्रह(साहित्य पीडिया द्वारा प्रकाशित),काव्य-समर्पण,उजेश,अभिजना,अभीति,आयाति,साहित्य-धारा काव्य-संग्रह(श्री नर्मदा प्रकाशन)

पुरस्कार-
“काव्य-अमृत”,”श्रेष्ठ शब्द शिल्पी”,”काव्य श्री ,”उजेश साहित्य सम्मान”,एवं “साहित्यापीडिया-काव्य” सम्मान

चलध्वनि यंत्र संख्या-98128-18601 या 93060-57546
ईमेल आईडी-radheys581@gmail.com

Copy link to share

एक दीया देश के नाम

💐एक दीया देश के नाम💐 ----------------------------------- दीप जलेगा हर घर में जब,ये दूर तिमिर हो जाएगा। हम एक हुए संकल्प यही,उत्सा... Read more

हौंसले से बढ़ें पर रुके ना कभी

मीटर : 212-212-212-212 दौर कितना बुरा हो डरें ना कभी हौंसले से बढ़ें पर रुकें ना कभी धूप हो छाँव हो या शहर ग... Read more

"जहालत तब्लीगी जमात की"

"जहालत तब्लीगी जमात की" ~~~~~~~~~~~~~~~ मरकज़ शिक्षा ले चले,कोरोना के संग। हमला डॉक्टर पर करें,हुए बुद्धि से नंग। हुए बुद्धि से न... Read more

"मौलाना साद" का ज्ञान

"मौलाना साद" का ज्ञान ----------------------------- संकट को समझे नहीं , तुम मौलाना साद। मरकज़ करवा के किया , कितनों को न... Read more

"रामनवमी की सच्ची पूजा"

नृप दशरथ गृह पुष्प सम , जन्मे थे श्री राम। रावण का संहार कर , सत्य किया अभिराम।। असत्य नहीं सत्य ही , मन आभूषण ... Read more

"आ बैल मुझे मार"

"आ बैल मुझे मार" -^-^-^-^-^-^-^-^-^- निकल चीन से आ गया , शहरों से अब गाँव। तुम ठहरे घर में नहीं , न रुके कोविड पाँव... Read more

"समय की पुकार" (सामयिक रचना)

स्वस्थ रहें सुरक्षित रहेंगे,घर ही अब मौज़ ठिकाना। धार्मिक नगरी घर को समझो,पढ़ें यहीं वेद कुराना। कोरोना राक्षस हारेगा,दूरी को कवच बन... Read more

मज़बूरी जीवन दूरी न बन जाए

💐मज़बूरी जीवन दूरी न बन जाए💐 --------------------------------------------- दर - दर भटकें ठोकर खाते , बहुत बुरी है लाचारी। रो... Read more

सुभर प्रकृति शृंगार

💐सुभर प्रकृति शृंगार💐 --------------------------------- गगन धरा की प्रीत मैं , देख रहा हूँ मीत। मिली गगन के प्रेम ... Read more

सावधान!सावधान!

सावधान!सावधान! 💐💐दोहे💐💐 अपनो से है प्रीत यदि , जागें भारत लोग। प्रतिदिन बढ़ता जा रहा , कोरोना का रोग।। नियम तोड़ कु... Read more

हर अहल-ए-वतन बेदार जाए

💝ग़ज़ल💝 👏👏👏👏 हर अहल - ए - वतन बेदार जाए घर रह न बेवज़ह बाज़ार जाए वो ख़्वाब - ए - ग़फ़्लत अज़ीज़ ना हो ख़ुद मरे पर और क... Read more

कोरोना शत्रु है कोई मज़ाक नहीं

सुनो!मज़ाक उड़ाने वालो,नियम तोड़ के जाने वालो। कोरोना विस्तार बढ़ा है,अफ़वाहों का अंबार नहीं।। छोटी ग़लती बड़ी न करना, ध्यान बात पर पू... Read more

जनता कर्फ़्यू

आज्ञाकारी लोग हम , घर में बैठे आज। नियम मान सब कर रहे , देशप्रेम का काज।। ताली थाली शंख ध्वनि , करे रोग उपचार। ... Read more

बैबी डोल यहाँ-वहाँ मत डोल(कनिका कपूर)

बैबी डोल!यहाँ-वहाँ डोल,- कर आई कितनों का डिब्बा गोल। तू कपूर-कपूर-सी उड़ती, नहीं समझती है जीवन का मोल। दहशत में हैं अब वो सारे,... Read more

कोरोना की सीख

कोरोना की सीख नयी है,जनता जल्दी सीख रही है। दौर गया था संस्कारों का,मानवता के व्यवहारों का। स्वच्छ हवाएँ हैं शोर नहीं, भीड़ भरा ... Read more

कोरोना का ख़ौफ़

कोरोना के ख़ौफ़ से,डर का है माहौल। लापरवाही चीन की,विश्व चुकाए मोल।। विश्व चुकाए मोल,पिशाच सम महामारी। देती सीधी मौत,दवाएँ भी हैं ह... Read more

राजनीति षडयंत्र

झटका देकर सिंधिया,छोड़ गए कांग्रेस। कमल साथ अपना लिया,मोदी जी आदेश।। मोदी जी आदेश,भाजपा की अब सेवा। कमलनाथ बैचेन,करें देवा रे देवा... Read more

चलना संभलके ््

खोलो आँखें सोई हारी,समझो भी ज़िम्मेदारी, क्यों बनते क़बूतर,बिल्ली तो ताक रही। शीशे जैसा ये दिल है,कच्चा मानो साहिल है, लहरें जो ट... Read more

दोहे नीति के

सबसे मिलिए प्रेम से,लब पर ले मुस्क़ान। सच्चे मानव की यही,होती है पहचान।। शूल लगे जब पाँव में,लेना स्वयं निकाल। और निकालेंगे अगर,... Read more

रंग-बिरंगी होली (कवित छंद)

(1) रंगों की ले पिचकारी,होली खेलें नर-नारी, इक-दूजे पीछे दौड़े,अंग-अंग जोश है। जोकर लगते सारे,फिर भी हैं प्यारे-प्यारे, भेद नही... Read more

उड़ान हौंसलों की

उड़ान हौंसलों की है, छूँ जाऊँगी नभ का कोना-कोना, रंग नये होंगे,संग नये होंगे उस पार, झर रहा होगा जहाँ अनंत प्यार अपार, लेकर स्व... Read more

महिला-दिवस की बधाइयाँ

नारी स्वरूप शौर्य का,नवल सृजन आधार। रूप अनेक मिले यहाँ,करती हर साकार।। करती हर साकार,क्षेत्र हर में है छायी। अबला सबला आज,देता है... Read more

होली खेलो प्रेम से

होली खेलो प्रेम से,शोभित भाल गुलाल। बधाइयाँ दे यूँ खिलो,ज्यों फूलों की डाल।। ज्यों फूलों की डाल,सजे हम रंगोली से। सबका करके मान,ज... Read more

सुनो नेता जी!

[सत्ता जिनके हाथों में हैं,वो सबका उत्थान करेंगे। लड़ते और लड़ाते रहकर,कैसे आन महान करेंगे।। संसद मंदिर समझा जाए, देख अखाड़ा मत तु... Read more

दोहरे क़िरदार

गंगा-सी बातें करते हैं,वो झरने-से इतराते हैं। इक जुगनू लेकर आँखों में,सूरज से होड़ लगाते हैं।। काग़ज़ की कश्ती पर बैठे, सागर पार क... Read more

दौर परीक्षाओं का

अब दौर परीक्षाओं का है,पूरा इनका ध्यान करो। अच्छे अंक मिलें सबको ही,ऊँचा अपना ज्ञान करो।। नकल भरोसा छोड़ो सारे, मेहनत करो हों उज... Read more

चेतनता

"चेतना" 💐💐 जीवन का सार यही है,सुख है भार नहीं है। प्रेम जगा मस्ती में चल,करनी रार नहीं है। प्रारब्ध सदा संग चले,इतना ध्यान रहेगा... Read more

क्या कहूँ(ताटंक छंद)

दृष्टि जहाँ भी जम जाती है, होश जहाँ गुम होते हैं। दिल का पलड़ा भारी होता, बुद्धि सभी जन खोते हैं। धोखा या आकर्षण कहदूँ, या दीवान... Read more

प्रवंचना(ताटंक छंद)

जिसको भी मानूँ मैं अपना,वो हो जाता बेगाना। दे जाता ज़ख्मों का हँसके,वो एक नया अफ़साना। उम्मीदों की चादर है छलनी,गिरगिट भी पानी-पानी।... Read more

बेटा-बेटी दोनों प्यारे(कुकुभ छंद)

बेटी घर की लक्ष्मी होती,समझो सबको समझाओ। देकर मान प्रतिष्ठा रक्षा,साहस से हृदय सजाओ। बेटा-बेटी दोनों प्यारे,अंतर क्यों तुम करते हो... Read more

दिल की धड़कन(हिंदी गीत)

तेरी आँखों के ये आँसू, मैं पलकों पे सजा लूँगा। तुझे चाहूँगा मैं इतना, दिल की धड़कन बना लूँगा।। कभी चाहत के सागर में, दिल की कश्त... Read more

गधे सिंह नहीं बनते

गधे सिंह नहीं बनते 👌👌👌👌👌👌 दर्पण देखें कौन दिखाते,श्रेष्ठ स्वयं को लोग जताते। सिंह-त्वचा पहने फिरने से,देख गधे सिंह न बन जाते।। ... Read more

गीत प्रेम का

'गीत-प्रेम का" 👏👏👏👏 मन की वीणा पर अब कोई,सुर ऐसा आज सजाया जाए। सुनके जिसको जग प्रीत बढ़े,गीत प्रेम का वो गाया जाए।। फूलों-सा अध... Read more

निश्छल-नैना

निश्छल-नैना ---------------- कुसुम सरीखे भाव लिए हैं,सुरभित वचनों का गान करेंं। निश्छल-नैना चित हरते हर,देखें अपना ना ध्यान करेंं... Read more

तन-मन स्वच्छ बने

निश्छल होता मन नहीं,भेजें पर संदेश। प्रथम वरण हम ही करें,बदले फिर परिवेश।। नीति नियम दो देखिए,पर खुद के हैं और। ये तो मानवता नह... Read more

प्रेमगीत

मीटर-122-122-122-122 "प्रेमगीत" तुम्हीं हो हमारी सुबह के नज़ारे। तुम्हीं हो हमारी निशा के सितारे।। हमेशा रहें हम मिलाके दिलों को।... Read more

मोहब्बत

मीटर-122-122-122-122 ----------------------------------- तुम्हीं हो हमारी सुबह के नज़ारे। तुम्हीं से खिलेंगे निशा के सितारे।। अ... Read more

हृदय अभिराम करो

1-चाहें मोती सब यहाँ,बैठे सागर तीर। चाँद मिला न चकोर को,मिली प्रेम की पीर।। 2-सेवा कर मेवा मिले,चोरी करके श्राप। नीच कर्म मत की... Read more

शुभ विचार उच्च जीवन

हँसके मिलिए प्रीत से,उज्ज्वल लिए विचार। जैसे होता फूल है,रंग गंध सम सार।। प्रीतम ऊँची सोच रख,शीतल नेक स्वभाव। जैसे छाया पेड़ दे... Read more

ललित तलेजा की ईमानदारी

ईमान अभी भी बाकी है,आज खुदी ने देखा पाया। गिरा जेब से बटुआ मेरा,पाया उसने जब लौटाया।। जेब टटोली खाली पायी, मन बेचैनी में ख़ूब फि... Read more

"एनपीआर और सीएए"

"एनपीआर और सीएए" ----------------------------- (एनपीआर-राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर और सीएए-नागरिकता संशोधन कानून) 💐💐 नागरिकता संश... Read more

जेएनयू में हिंसा निंदनीय

जेएनयू में हिंसा निंदनीय ----------------------------- शैक्षिक संस्थानों में हिंसा,निंदा का ही आग़ाज़ करे। अप्रिय कारण ही ठीक सही,प... Read more

मस्ती प्रेम भरा जीवन हो

मस्ती प्रेम भरा जीवन हो 🎁🎁🎁🎁🎁🎁🎁 खींच रही है आज सभी को,ऐशो आराम भरी चीजें। भोग अगर कल रोग बने तो,यार कभी तू लत ना कीजै।। कोठी ब... Read more

किसपे किसकी नज़र है

"किसपे किसकी नज़र है?" 💐💐💐💐💐💐💐 विषधर विष उगले कितना ही,चंदन पर होता क्या असर है। चाहे काँटें लाख बिछे हों,दीवानों को भाती डगर है।।... Read more

देव यहीं बन जाओगे

धोखा देकर हँसने वालो,तुम सुख से ना जी पाओगे। आग लगेगी खुद के घर में,तुम पानी भी ना पाओगे।। लाचारी पर हँसना छोड़ो, अपनो से तुम मु... Read more

रखना नेक ज़मीर जाता चाहे ताज़ है

मीटर-222-221-222-221-2 देख रहा हूँ प्रेम बहता ये जो नीर बन पीर विरह की अग्नि जलता तन मन आज है परछाई-सी साथ आये ना पर हाथ भी ... Read more

दुल्हन वही पिया मन भाए

नव दुल्हन जब है घर आए,जन मुख देखन को ललचाए। ऐसी-वैसी कैसी होगी,उत्सुकता मन बढ़ती जाए।। देवर ननदिया सास-ससुर जी, पग-पग नैन बिछाए... Read more

नववर्ष मंगलकामनाएँ

सुख वैभव यश सात्विकता हो,तन-मन यौवन उन्माद रहे। नववर्ष लिए मंगल-मंगल,घर-आँगन में आह्लाद रहे।। जीत मिले प्रतिपल प्रीत मिले, स्व... Read more

अपनी-अपनी गाने वालो

अपनी-अपनी गाने वालो,सच को आज छिपाने वालो। कथनी-करनी एक करो तुम,झूठी कोई पहचान नहीं।। सूरज चाँद सितारे सच्चे, धरती गगन नज़ारे सच्... Read more

दृढ़-संकल्प

मौसम प्रतिकूल न होगा, समय के भाल पर प्रेम का कुमकुम लगाएंगे। तैरना सीख लिया हमने, स्तब्ध समुद्र के हृदय से मोती खोज़ लाएंगे। ज्व... Read more