Shriyansh Gupta

New Delhi

Joined May 2020

Copy link to share

सौगंध

नहीं जानती तुम मां भारती मैं तुमको कितना चाहता हूँ इसीलिए तुम्हारी रक्षा की सौगंध आज मैं खाता हूँ। आँच नहीं आने दूंगा मैं तुम्ह... Read more

नमन!

नमन! नमन! नमन! वीर तुमको देश का नमन तुम्हारे बलिदान पर रो रहा है यह गगन। देश की सुरक्षा की खातिर सब कुछ तुमने त्यागा था। माँ क... Read more

ज़िंदगी

एक हसीन तोहफा है जिंदगी। फूल बनकर मुस्कुराना, मुस्कुरा कर गम भुलाना है जिंदगी। माँ का प्यार, यारो की यारी है जिंदगी। हार को जीत ... Read more

एक आवाज़ पर्यावरण की

मुझ पर एक अहसान जताओ मुझ पर तुम कोई जुर्म न ढ़हाओ मेरे इस अस्तित्व को कृपया कर तुम ही बचाओ। मै नहीं तो तुम भी नहीं अपने लिए तो म... Read more

हम ज़िंदा कब थे ?

हम ज़िंदा कब थे ? अगर हम जिंदा होते तो. किसी औरत का बलात्कार नही सहते, किसी व्यक्ति की निंदा नही करते, भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज़ ... Read more

प्रलयंकारी कोरोना

हाहाकार मचा आज इस धरती पर भूचाल आया आज इस धरती पर। इंसान को अपने कद का आभास हुआ काल की शक्ति का उसे अहसास हुआ। बलशाली से बलशाली ... Read more