SHASHIKANT SHANDILE

Nagpur (Maharashtra)

Joined August 2016

It’s just my words, that’s it.

Copy link to share

आया है फिर चुनाव भैया ..........

आया है फिर चुनाव भैया भोग चढ़ाया जाएगा राजनीति का दांव खेलकर वोट बढ़ाया जाएगा खातिर खुर्ची के जनता को फिर से पटाया जाएगा आरक्... Read more

मौत आ जाए मगर ...........

गुफ़्तगू हो शायरी में शायरी में गम न हो हो इनायत बस खुदा की आँख कोई नम न हो हो मुहब्बत इस फ़िजा में आसमां हो ख़ुशनुमा दे सुनाई मुस... Read more

लेकिन सीमा होती हैं ........

माना कि संस्कार तुम्हारा विवेक कभी न खोना हैं कोई कितना कड़वा बोले काम मगर सह जाना हैं लेकिन भैया कब तक ऐसे आँख मूंदकर बैठोगे ... Read more

इंसानियत ........

धर्म और जाति में अब तक बटे है लोग पाखंड की तलवार से कितने कटे है लोग इंसानियत की बाते तो हर चौराहे होती है दिल ही दिल में अपनाह... Read more

सच्ची मुहब्बत ..........

मुहब्बत शिद्दत की निगाह है दर्द में भी चाहत बेपनाह है खुदा की इबादत जैसे मुहब्बत दुनियां के लिये ये गुनाह है मुश्किलें है हजार... Read more

अजी सुनिये जनाब .........

बहुत ठगा है भैया तूने अपने बोल बचन से धीरे से क्यों पल्ला झाड़े अपने ही वचन से बेवकूफ़ क्या तूने जानी जनता भारत देश की धीरे धी... Read more

कृष्ण मोहे माफ़ कर ………

कृष्ण मोहे माफ़ कर मैं ना करू पूजा मोहे नाही जान तोरी ना ही कोई दूजा तू ठहेरो चक्रधारी मानव मै छोटा तोसे मेरो मेल नही भक्त न... Read more

न होना कभी जुदा .........

चाहत मेरी बेगानी मुहब्बत मेरी आशिकी तुम्हारी इबादत न होना कभी जुदा न चाहो मुझे ये तुम्हारी है मर्जी मेरी दिल्लगी है मेरी ख... Read more

मुहब्बत का हमने जाम ले लिया .............

मुहब्बत का हमने जाम ले लिया , जुदाई इबादत का दाम ले लिया !! वो खुश है अकेले हो हमसे जुदा , तो हमने भी आखरी सलाम ले लिया !! फ... Read more

आज कल हालात है नासाज दिल के~~~~~

ढूंढता रहता हूं मैं अल्फाज दिल के जाने क्यों गुम हो गए अंदाज दिल के रूबरू जो हो गए हो आज मुझसे हाल-दिल कर लो बयां नाराज दिल के ... Read more

न मैंने ख्वाब देखा हैं न मैंने दिल लगाया हैं........

न मैने ख्वाब देखा हैं न मैने दिल लगाया हैं हक़ीक़त जान कर मैंने मुहब्बत को भगाया हैं बड़ी बेकार है इसकी पकड़ तुम हात ना आना बड़ी बेख़... Read more

बड़ी मुश्किलों से बखत है गुजारा ◆◆◆◆◆

निगाहें तुम्हारी करे है इशारा हमें लग रहा है मगर नागवारा बड़े घाव हमनें भरे है अभी तक नहीं चाहिये अब किसीका सहारा भले लग रहा ... Read more

==* दिल समझायें कभी कभी *==

रुक्सत करी जो सूरत याद आयें कभी कभी सपनों में आकर मुझको तड़पायें कभी कभी मुस्कान आज भी दिलमे है उनकी बसी हुई उनकी प्यारी बाते ... Read more

==* है जिंदा कहानी वो *==

उस चुंबन में मेरे थी शिद्दत मुहब्बत की मगर तूने मानी वो आदत मुहब्बत की हमेशा ही मनमे थी चाहत मुहब्बत की मगर तू न जानी इब... Read more

==* मेरी आरजू *==

स्वच्छंद फिजाओं में खिलखिलाती हंसी हो मानलो जिंदगी चाँद तारों में जा बसी हो दरबदर भटकती कहानियाँ अब कहा रही हो नया सवेरा, नई... Read more

★★दिल किसीका कभीभी दुखाया न जायें★★

दिल किसीका कभीभी दुखाया न जायें जख्म दिलका किसीको दिखाया न जायें हो मुहब्बत छुपीसी किनारो पे दिल के पार दिलके कभीभी बहाया न जायें... Read more

क़त्लेआम ~~~~

(संदर्भ - गोरखपुर के अस्पताल की घटना) दद्दा मेरा लाल मर गया ये कैसा बाजार भर गया तेरे दर पर आई थी मैं सुनी मेरी कोख़ कर गया ... Read more

==* उसे भारत भूमि कहते है *==

जहाँ देश को दर्जा माँ का है जहाँ माँ को देवी कहते है जहाँ भावनाओं की गंगा बहती उसे भारत भूमि कहते है ।। जहाँ भाँति भाँति की व... Read more

==* जहाँ मैं खड़ा था *== (गजल)

नजारा नशीला जहाँ मैं खड़ा था गवारा नही लौटना मैं खड़ा था नदी सामने बेतहाशा हसीं थी न मंजूर वो भापना मैं खड़ा था जरासा डरा मैं त... Read more

==* याद मे ये नैन रोये यार आजा *==

(गजल ) वृत्त: मंजुघोषा गालगागा गालगागा गालगागा याद तेरी रोज आये यार आजा याद में ये नैन रोये यार आजा सामने है वो नजारे लौट आन... Read more

==* समां फिर रुक गया *==

समां फिर रुक गया मानो की कोई यार आया है! बहोत दिन बाद जो देखा वो बिता प्यार आया है!! वो आंखे थी कि जैसे कह रही हो हम तो अपने है!... Read more

==* मछली थी फोकट की *==

(मुंबई में घटी सड़क दुर्घटना) मछली थी फोकटकी जान की ना कीमत थी भरी सड़क पर कोई मरा देखने की ना फुरसत थी बिखरी पड़ी थी गाड़ियां ... Read more

==* न कर सकी तू वफ़ा *==

न कर सकी तू वफ़ा ऐ सनम मुझे तुझसे कोई गिला भी नहीं न कर सकी तू वफ़ा ............... चाह क्या थी तेरी ऐ हमदम कभी जुस्तजू तो क... Read more

==** धड़कनों को तेरे संभाला तो होता **==

गम मनाऊ तो कैसे रिश्ता तो होता चल सके साथ मेरे फरिश्ता तो होता गया छोड़ दुनिया वो मर्जी थी तेरी मोहोब्बत का मेरे यूँ सौदा न होता... Read more

==* नशीला है सागर *==

नशीला है सागर ये आंखे जो तेरी डूब जाऊ मैं उनमें जी चाहता है लबों की वो प्यारी सी मुस्कान तेरी तेरे साथ हसने को जी चाहता है नश... Read more

==* मेरी भी एहतियात होगी *==

पहले जो सच की खबर होती न यु बेवजह जुरूरत होती कितना वक्त बिता उलझनों में न यु अंजान हुकूमत होती चलो अच्छा है जो हुवा सो हुवा ... Read more

==* बहोत छोटी है उम्र जिंदगी की *==

बहोत छोटी है उम्र जिंदगी की कशमकश भरी राह जिंदगी की भर आती है आँखे याद कर कुछ छूट जाती है सौगात जिंदगी की है तो मानो सारी ... Read more

==* अब पीना जरुरी है *==

मुझे मैख़ाना दिखा दो की अब पीना जरुरी है हुये हासिल ग़मो को अब भुलाना जरुरी है मुझे मैख़ाना दिखा दो………… पीया ना मै अगर मुश्किल कह... Read more

==* कोशिश तो बहोत की *==

कोशिश तो की न की, ऐसा कुछ नही मिन्नत भी की न की, ऐसा कुछ नही आरजुयें रोती रही अपने ही कंधो पर सर रखकर फ़रियाद भी की न की, ऐ... Read more

==* देखते है बाप से बेटा बड़ा क्या हो रहा है *== (गजल)

नातवानी से फ़साना देश तेरा हो रहा है! देख लो यारो तमाशा आज ये क्या हो रहा है!! सोचता क्या है मसीहा कोई आयेगा वहां से! रात देखा ... Read more

==* अच्छा लग रहा है *==

अच्छा लग रहा है खुलकर मुस्कुराना अच्छा लग रहा है खुलकर गुनगुनाना ना कोई बंधन ना किसीका चिल्लाना अच्छा लग रहा है खुलकर मुस्कुराना ... Read more

==* उनका क्या कर पायेंगे *==

गद्दारों को पकड़ पकड़ कर कैसे मार गिरायेंगे छुपकर बैठे दामन में माँ के उनका क्या कर पायेंगे खैर वो तो दुश्मन, दुश्मन ठैरे आतंक... Read more

==* है बधाई ईद आई *==

है बधाई है बधाई ईद आई ईद आई है बधाई ईद आई दिली बधाई है मेरे भाई हिंदू मुस्लिम सिख इसाई जश्न-ईद का साथ मनाये जात धर्म सब छोड़ भ... Read more

==* औकात ये है अपनी *==

तू मंदिर मैं मस्ज़िद तू चर्च मैं विहार तू ये तू वो मैं ये मैं वो धर्म का बाजार औकात ये है अपनी ......... सिखा अब तलक जो बड़ो न... Read more

हर दफ़े तु...........

हर दफ़े तु मेरी निगाहों में शामिल होती है ! ये जो चाहते है मेरी तुमसे हासिल होती हैं!! अक्सर ढूंढता हूं मैं तुम्हे फिजाओ में कही!... Read more

==* समशान नजर आता है *== (गजल)

जर्रा-जर्रा इस घर का समशान नजर आता है दर-दिवार से आंगन सुनसान नजर आता है ! जी रहा हूँ मगर बेख़ौफ़ मैं रोज इस घर में देख कर आईना द... Read more