समाजसेवी,कविता लेखन राजकीय सेवारत,निशक्तजन सेवा संगठन का सदस्य एवं राष्ट्रीय गौ रक्षावाहिनी का मानद सदस्य।श्रीपरशुराम इंटरनेशनल संगठन का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष।

Copy link to share

प्रियतमा

ख्यालो की बगीया हो फूलो की क्यारी हो पूनम की चाँदनी चकोर की दीवानगी और सपनो की रवानी हो पल में जीना पल में मुरझाना दर्पण के जै... Read more

तेरी याद

लम्हा - लम्हा महक उठता है आसपास , जब भूली - बिसरी यादों में, रौशन चिराग़ मिलते हैं ॥ तुम कहा हम कहा का इजहार बहता रहे, दिलो मे ब... Read more

नाचतीं काली घटाएँ थिरकती बरसात

नाचतीं काली घटाएँ थिरकती बरसात है इक कहानी बनके आई ये सुहानी रात है झूमता फिरता पवन बिन साजन जिया मे आग लगावे नशीले झोंके नैनो ... Read more

बाबुल

बाबुल की सोन चिरैया अब बिदा हो चली महकाएगी किसी और का आँगन वो नाजुक सी कली माँ की दुलारी बिटिया वो प्यारी आँसू लिए आँखों में ... Read more