विधिस्नातक rnपता- पुलिस कालोनी बुदनी जिला सीहोर (म.प्र.)rnपिन-४६६४४५

Copy link to share

मुक्तक

१- --------------------- मधुवन-मधुवन हरियाली है, औ हरी-हरी तरुवर डाली है, लता छिछलने लगी देखलो, कली, सुमन बनने वाली है,... Read more

गीतिका

देखलो सूरज सुबह फिर काम करने आ गया, कर उजाला विश्व में वो नाम करने आ गया, आंधी-तूफा, तिमिर सारे, रोकते उसको रहे, पर न रुका,की र... Read more

गीतिका

मुश्किल से ना घवराना तू, हिम्मत से बढ़ते जाना तू, औ,कोई लाख अडाये रोड़े, सबसे ही, अड़ते जाना तू, साम,दाम या दण्ड,भेद हो, पग-पग... Read more