पेशे से अधिवक्ता, जागरण-जंक्शन, अमर उजाला, जनवाणी में नियमित रूप से रचनाओं का प्रकाशन, कौशल, कानूनी – ज्ञान आदि कई ब्लॉग्स पर नियमित रूप से रचनाओं का प्रकाशन.

Copy link to share

इंदिरा गांधी जी को जन्मदिन पर शत् शत् नमन

अदा रखती थी मुख्तलिफ ,इरादे नेक रखती थी , वतन की खातिर मिटने को सदा तैयार रहती थी . ............................................. Read more

जननी गयी हैं मुझसे रूठ

वो चेहरा जो, शक्ति था मेरी , वो आवाज़ जो, थी भरती ऊर्जा मुझमें , वो कदम जो, साथ रहते थे हरदम, वो आँखें जो, दिखाती रोशनी मुझक... Read more

बेटी के भाग्य में प्रभु कांटे ही भर गया.

पैदा हुई है बेटी खबर माँ-बाप ने सुनी , खुशियों का बवंडर पल भर में थम गया . चाहत थी बेटा आकर इस वंश को बढ़ाये , रखवाई का ही काम ... Read more

जिंदगी की मुश्किलें हर रोज आजमायेंगी .

ज़िंदगी की मुश्किलें हर रोज़ आज़माएंगी , डरते-डरते गर जियेगा यूँ ही ज़ान जाएगी . .................................................... Read more