Shakun

Joined November 2018

Copy link to share

माँ

विषय-: माँ विधा-: पद्य छन्दमुक्त गिरने से पहले थाम लेती है, फिसलने से पहले संभाल लेती है। मैं लाख छुपाउं, मेरे माथे की- शिकन... Read more