Sapna Dutta

Joined November 2018

Copy link to share

माँ

इक्कीस बरस का वैधव्य जीवन ढोती माँ; बाईस बरस की बेटी की चिंता करती माँ।। नौकरी में तबादले पर दर दर फिरती माँ; नैनों के नीर में मु... Read more