संदीप सरस

बिसवां,सीतापुर(उ प्र)261201 ---(मो 9450382515)

Joined March 2018

कवि,साहित्यकार/समीक्षक
संयोजक–साहित्य सृजन मंच

Books:
🔵कुछ गज़ले कुछ गीत हमारे
🔵आधा दर्जन साझा संकलन
🔵देश की समस्त स्तरीय पत्रिकाओं में प्रकाशन

Awards:
🔵उ प्र हिंदी संस्थान द्वारा 1994 में बाल कविता हेतु पुरस्कृत।
🔵दूरदर्शन व आकाशवाणी से काव्यपाठ
🔵लगभग दो दर्जन अन्य सम्मान अर्जित

Copy link to share

झोपड़ी के द्वार

⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔ न ठिठको राह में चाहे इधर आओ उधर जाओ। न दो नावों पे रक्खो पांव डूबोगे सुधर जाओ। सजा लो लाख सपने रंग महलों ... Read more

वाणी के वंशज

⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔ तन के तानपुरे तनते हैं,मन के मँजीरे बज जाते हैं। सृजन साधना सक्षम हो तब, वाणी के वंशज गाते हैं। हस्ताक्ष... Read more

वाणी के वंशज

⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔⛔ तन के तानपुरे तनते हैं,मन के मँजीरे बज जाते हैं। सृजन साधना सक्षम हो तब, वाणी के वंशज गाते हैं। हस्ताक्ष... Read more