संकलनकर्ता :-
संदीप शर्मा ( जाटू लोहारी, बवानी खेड़ा, भिवानी-हरियाणा )
सम्पर्क न.:- +91-8818000892 / 7096100892

रचनाकार – लोककवि व लोकगायक पंडित राजेराम भारद्वाज संगीताचार्य जो सूर्यकवि श्री पंडित लख्मीचंद जी प्रणाली से शिष्य पंडित मांगेराम जी के शिष्य जो जाटू लोहारी (भिवानी) निवासी है |

Copy link to share

# सांग - शाकुंतल-दुष्यंत # अनुक्रमांक-18 # हिणा माणस ठाढे तै, मजबुर भी होज्याया करै, हाथ जोड़ले के नही माफ, कसूर भी होज्याया करै ।। टेक ।।

# सांग - शाकुंतल-दुष्यंत # अनुक्रमांक-18 # हिणा माणस ठाढे तै, मजबुर भी होज्याया करै, हाथ जोड़ले के नही माफ, कसूर भी होज्याया करै ... Read more

# सांग - सत्यवान-सावित्री # अनुक्रमांक-3 # प्रकट होगी देबीमाई, चलकै ब्रहमलोक तै आई, राजन् आज तेरे अस्थान मैं, री देबी चाहू देखणी, एक बर तेरी शान मैं ।। टेक ।।

# सांग - सत्यवान-सावित्री # अनुक्रमांक-3 # जवाब - देबीमाई और राजा का। प्रकट होगी देबीमाई, चलकै ब्रहमलोक तै आई, राजन् आज ... Read more

# सांग - सत्यवान-सावित्री # अनुक्रमांक- 2 # भवानी मात ज्वाला री, समरू देबी नाम तेरा, मंदिर मैं आज्या, माई दर्शन दिखा ।। टेक ।।

# सांग - सत्यवान-सावित्री # अनुक्रमांक- 2 # भवानी मात ज्वाला री, समरू देबी नाम तेरा, मंदिर मैं आज्या, माई दर्शन दिखा ।। टेक ।। ... Read more

# सांग - देवी गंगामाई # अनुक्रमांक-12 # कन्या बोली ऋषि मेरे तै, करवाले नै ब्याह, पेट मै करूंगी डेरा, बणकै तेरी मां ।। टेक ।।

# सांग - देवी गंगामाई # अनुक्रमांक-12 # जवाब - कन्या का। कन्या बोली ऋषि मेरे तै, करवाले नै ब्याह, पेट मै करूंगी डेर... Read more

# सांग - देवी गंगामाई # अनुक्रमांक - 1 # पवन पवित्र बहता पाणी, आठो आम रहै चलता, परमगती से भारत के म्हां, गंगे धाम रहै चलता ।। टेक ।।

# सांग - देवी गंगामाई # अनुक्रमांक - 1 # जवाब - सुखदेव मुनी का। (1) पवन पवित्र बहता पाणी, आठो याम रहै चलता, परमगती से ... Read more

# काव्य विविधा # अनुक्रमांक-3 # तूं है जननी भारत माँ, तेरा जाणै ना कोऐ भा, सबकी तूं कल्याणी री, शक्ति-जगदम्बा ।। टेक ।।

# काव्य विविधा # अनुक्रमांक-3 # तूं है जननी भारत माँ, तेरा जाणै ना कोऐ भा, सबकी तूं कल्याणी री, शक्ति-जगदम्बा ।। टेक ।। सरस्व... Read more

# काव्य विविधा # अनुक्रमांक-1 # समरूं तनै हमेश मैं, करिये बेड़ा पार भवानी री, आज मनाई, दुर्गे माई री ।। टेक ।।

# काव्य विविधा # अनुक्रमांक-1 # समरूं तनै हमेश मैं, करिये बेड़ा पार भवानी री, आज मनाई, दुर्गे माई री ।। टेक ।। पार्वती बणकै तन... Read more

# सांग - गोपीचंद-भरथरी # अनुक्रमांक-26 # जिसका कंथ रहै ना पास, कामनी रहती रोज उदास, छः रूत बारा मास, बिचारी दुखिया मन मै ।। टेक ।।

# सांग - गोपीचंद-भरथरी # अनुक्रमांक-26 # जवाब -गोपीचंद का गुरु गोरख से | जिसका कंथ रहै ना पास, कामनी रहती रोज उदास, छः रूत बा... Read more

# सांग - सारंगा परी # अनुक्रमांक-17 # होए बीर कै असूर-देवता, और मनुष देहधारी, बीर नाम पृथ्वी का, जिसपै रचि सृष्टि सारी ।। टेक ।।

# सांग - सारंगा परी # अनुक्रमांक-17 # जवाब - कवि का नारी-दृष्टिकोण | होए बीर कै असूर-देवता, और मनुष देहधारी, बीर नाम पृथ्वी क... Read more

# काव्य विविधा # अनुक्रमांक-2 # मात भवानी री, सबनै मानी शेरावाली री ।। टेक ।।

# काव्य विविधा # अनुक्रमांक-2 # मात भवानी री, सबनै मानी शेरावाली री ।। टेक ।। शारदा-सावत्री हेमा, पार्वती माई री, भुवनेश्वरी... Read more

# काव्य विविधा # अनुक्रमांक-5 # तेरे सिद्ध होज्यांगे काम, सुणै तो राम-कथा रामायण की, अमर कहाणी सै, हनुमान की ।। टेक ।।

# काव्य विविधा # अनुक्रमांक-5 # हनुमान जी का जीवन चरित्र:- तेरे सिद्ध होज्यांगे काम, सुणै तो राम-कथा रामायण की, अमर कहाणी सै, ... Read more

# सांग - बाबा छोटूनाथ # अनुक्रमांक-13 # चार धाम गंगा-जमना से, 68 तीर्थ के ! न्यारे, करके नै अस्नान देखिये, नाम गिणादूं मैं सारे || टेक ||

# सांग - बाबा छोटूनाथ # अनुक्रमांक-13 # जवाब - कवि का (तीर्थ यात्रा) चार धाम गंगा-जमना से, 68 तीर्थ के ! न्यारे, करके नै अस्नान ... Read more

# सांग - कृष्णलीला # अनुक्रमांक-18 # गोपनी राधे संग आई, बणे थे ललिहारी नंदलाल ।। टेक ।।

# सांग - कृष्णलीला # अनुक्रमांक-18 # जवाब - कवि का (प्रकृति-चित्रण) गोपनी राधे संग आई, बणे थे ललिहारी नंदलाल ।। टेक ।। लखचौरा... Read more

#काव्य विविधा # अनुक्रमांक-20 # जमाने भोई बड़ी बलवान, भोई अपणे बळ चालै तो, के करले इंसान ।। टेक ।।

#काव्य विविधा # अनुक्रमांक-20 # जवाब - कवि हर्दय के उदगार से | *हरियाणे की सन 1995 की बाढ़ की एक सच्ची दास्ताँ* जमाने भोई बड़ी ब... Read more

जीवन परिचय

हरियाणवी सांगीतकारों का व्यक्तित्व एवं कृतित्व:- प्रस्तुत पुस्तक हरियाणवी सांगो की एक रचनावली है जिसमे पंडित राजेराम जी के सांगो ... Read more

# सांग /किस्सा - महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक-14 # करके दया बचाले छत्री, भूलु नहीं अहसान तेरा, मेरी आत्मा कहती रहैगी, भला करै भगवान तेरा ।। टेक ।।

# सांग /किस्सा - महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक-14 # जवाब - हंस का सिद्धार्थ/महात्मा बुद्ध से । करके दया बचाले छत्री, भूलु ... Read more

# सांग /किस्सा - महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक-15 # नाम देवदत निश्चर बुद्धि, मुर्ख-मूढ़ ग्वार तेरी, बिना भजन माणस की जूनी, पशुआं तै बेकार तेरी ।। टेक ।।

# सांग /किस्सा - महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक-15 # जवाब - सिद्धार्थ का। नाम देवदत निश्चर बुद्धि, मुर्ख-मूढ़ ग्वार तेरी, ... Read more

# सांग /किस्सा - महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक-36 # बीत गए युग फिरते-फिरते, चैरासी के फेरे मै, बात पूराणी गया जमाना, वचन भूलग्या तेरे मै ।। टेक ।।

# सांग /किस्सा - महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक-36 # जवाब - महात्मा बुद्ध का। बीत गए युग फिरते-फिरते, चैरासी के फेरे मै, बात... Read more

# सांग /किस्सा - महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक-31 # या दुनिया दुखी फिरै, चक्र मै सारी, वो सबके दुख दूर करै, गिरधारी ।। टेक ।।

# सांग /किस्सा - महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक-31 # जवाब - महात्मा बुद्ध का। या दुनिया दुखी फिरै, चक्र मै सारी, वो सबके दुख दूर... Read more

# सांग /किस्सा - महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक-19 # घोर-घटा सामण का महिना, आए तीज त्योहार, बाग जनाना प्रदेशी, हाम झुलण आली नार ।। टेक ।।

# सांग /किस्सा - महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक-19 # जवाब - यशोधरा का । घोर-घटा सामण का महिना, आए तीज त्योहार, बाग जनाना प्रदेशी... Read more

# सांग/किस्सा - महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक-17 # मारण आळे तै हो सै, बलवान बचाणे आळा, उसनै कौण मारदे जग मै, जिसका राम रूखाळा ।। टेक ।।

# सांग/किस्सा - महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक-17 # जवाब - सिद्धार्थ / महात्मा बुद्ध का। मारण आळे तै हो सै, बलवान बचाणे आळा, उसनै... Read more

पंडित राजेराम की काव्य विविधा पंक्तियाँ

पंडित राजेराम की काव्य विविधा पंक्तियाँ मानसिंह तै बुझ लिए, मै इन्सान किसा सूं, लख्मीचंद तै बुझ लिए, मै चोर लुटेरा ना सूं, ... Read more

#सांग - सारंगापरी # अनुक्रमांक-4 # एक साधू रमता राम सै, लिया भगमा बाणा माई।। टेक ।।

एक साधू रमता राम सै, लिया भगमा बाणा माई।। टेक ।। साधू की 18 सिद्धी, पहली सिद्धी सत्यबाणी, दूसरे कै मन की बात जाणूं, तीन लोक की ख... Read more

जीवन वृत

चौ. मुंशीराम जीवन वृत :- महान कवि मुंशीराम का जन्म 26 मार्च, सन 1915 को गाँव छोटी जांडली, फतेहाबाद-हरियाणा मे एक कृषक परिवार के अ... Read more

फुटकड़ रचना @ खूब रची करतार नै, या दुनिया मतवाली, कैसी चक्र मै डाली || टेक ||

दीपचंद, हरदेवा, बाजे, उनका भी घर गाम देख्या फेर चल्या जा सिरसा जांटी, धोरै जमना धाम देख्या चन्द्र, धनपत, सुल्तान, ब्यास, मांगेरा... Read more

आधी रात शिखर तैं ढलगी हुया पहर का तड़का। बिना जीव की कामनी कै हुया अचानक लड़का।

होनहार कवि ललित कुमार की फुटकड रचनाये @ संकलकर्ता-सन्दीप कौशिक , गांव - लोहारी जाटू, भिवानी प्रश्न रचना आधी रात शिखर तैं ढलगी ... Read more

हो गुरुजी मनै ऐसा ज्ञान सिखादे, कोए गावणिया हे गादे..!!टेक!!

होनहार कवि ललित कुमार की फुटकड रचनाये @संकलकर्ता-सन्दीप कौशिक-लोहारी जाटू-भिवानी *प्रश्न रागनी* हो गुरुजी मनै ऐसा ज्ञान सिखाद... Read more

हरियाणवीं लोककवियों का कालक्रम

म्हारे लोक कवि एवं सांगी.....कालक्रमानुसार ................................................................... 1, किशन लाल भाट - (... Read more

होनहार कवि

होनहार कवि "ललित कुमार" की फुटकड़ रचनाएँ रागनी-1 हो बन्दे ! मतकर मान-गुमान, या जिंदगी सुपने कैसी माया | ऐसा जग मै कौण जण्यां... Read more

गांव लोहारी जाटू इतिहास

: गांव जाटु लोहारी को 1264 ई. में लुहवा ने बसाया था। राजपूत बाहुल्य इस गांव की आबादी करीब 10 हजार है। गांव में कृषि योग्य भूमि का रक... Read more

# सांग-महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक - 1 # टेक - लेख मै 24 बताये, श्री विष्णु के अवतार।।

# सांग-महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक - 1 # टेक - लेख मै 24 बताये, श्री विष्णु के अवतार।। लेख मै 24 बताये, श्री विष्णु के अवतार।। टे... Read more

किस्सा / सांग - गंगामाई # अनुक्रमांक - 9 # टेक -वेद पुराण शास्त्र कहते गऊ परम का सार गऊ माता सै तारण आली भवसागर तै पार || #

किस्सा / सांग - गंगामाई # अनुक्रमांक - 9 # गौ माता का सार # वेद पुराण शास्त्र कहते गऊ परम का सार गऊ माता सै तारण आली भवसागर त... Read more

# सम्पूर्ण सांग :- चमन ऋषि - सुकन्या #

सांग :- चमन ऋषि - सुकन्या | वार्ता:- सज्जनों! जब पाण्डवों को वनवास मिला हुआ था उस समय पांचों पाण्डव और साथ में द्रौपदी रानी लोमश... Read more

" लोककवि लोकगायक पंडित राजेराम भारद्वाज संगीताचार्य जीवन चरित्र "

पण्डित राजेराम भारद्वाज की जीवन गाथा को जो लोग जानते हैं, वे इस बात को अच्छी तरह समझ सकते हैं कि साहित्य मार्ग पे चलने के लिए 15 वर्... Read more

किस्सा / सांग - सारंगा परी # अनुक्रमांक - 16 # टेक - भीड़ पड़ी मै नहीं किसे का दिया साथ लुगाईयां नै| बड़े.2 चक्कर मै गेरे कर मुलाकात लुगाईयां नै।।#

किस्सा / सांग - सारंगापरी # अनुक्रमांक - 16 # वार्ता:- सज्जनों! फिर सपनो के बारे मे चित्रसेन के समझाने पर भी सदाव्रत नही मानता... Read more

किस्सा - गोपीचंद # अनुक्रमांक - 25 # टेक - गुरू की बाणी आई याद सब चेल्या नै, मन मैं करया विचार #

किस्सा - गोपीचंद # अनुक्रमांक - 25 # टेक - गुरू की बाणी आई याद सब चेल्या नै, मन मैं करया विचार # वार्ता - बहन चंद्रावल से भिक्षा... Read more

किस्सा / सांग - # चमन ऋषि - सुकन्या #

सांग 13- चमन ऋषि . सुकन्या वार्ता:- सज्जनों! जब पाण्डवों को वनवास मिला हुआ था उस समय पांचों पाण्डव और साथ में द्रौपदी रानी लोमश ... Read more

किस्सा / सांग - # नल-दमयन्ती # रचनाकार सूर्यकवि पं लख्मीचंद

*वार्ता:-* यह राजा नल चरित्र ब्रहदस ऋषि महाराज युधिष्टर को समझा रहे थे, युधिष्टर ने कहा कि महाराज हमारे को नल दमयन्ति का चरित्र खोल... Read more

किस्सा / सांग - # कृष्ण जन्म # अनुक्रमांक - 13 - बहरे तबील # टेक - सुणी आकाशवाणी, मेरी मौत बखाणी, ये सुणकै कहाणी, मेरा टूट गया दम, हे देवकी डरूं, तुझे मार मरूं, पाछै बात करूं, तनै पहले खतम। ।टेक।

किस्सा / सांग - # कृष्ण जन्म # अनुक्रमांक - 13 - बहरे तबील # वार्ता:- सज्जनों | कंस जब आकाशवाणी की बात सुनता है की तेरे को मा... Read more

किस्सा / सांग - # महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक - 36 # टेक - किया बखान महात्मा बुद्ध नै ऐसा कलयुग आवैगा, बिन मतलब ना कोए किसे कै पास बैठणा चाहवैगा।। टेक।।

किस्सा / सांग - # महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक - 36 # वार्ता:- सज्जनों! फिर राणी को महात्मा बुद्ध की बात समझ मे आ जाती है और भि... Read more

किस्सा / सांग - # महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक - 10 # टेक - टेम-टेम की बात टेम कै गैल पुराणी हो सै, टेम घड़ी ना टलै समो तै आणी जाणी हो सै।

किस्सा / सांग - # महात्मा बुद्ध # अनुक्रमांक - 10 # वार्ता:- सज्जनों! जब लड़का सिद्धार्थ 7 दिन का था तो राणी महामाया गुजर जाती ... Read more

किस्सा / सांग - # जयमल फता #

किस्सा – जयमल फत्ता जवाब – मालदेव का रागनी – 1 – नयी तर्ज़ जयमल नए डिजाईन की ना देखीभाली साड़ी तनै कितै मं... Read more

किस्सा / सांग - # चमन ऋषि - सुकन्या # टेक - 28 गोत ब्राहम्ण सारे ध्यान उरै नै करणा सै, गृहस्थ आश्रम पति पत्नी का धर्म सनातन बरणा सै।।टेक।

किस्सा / सांग - # चमन ऋषि - सुकन्या # 28 गोत ब्राहम्ण सारे ध्यान उरै नै करणा सै, गृहस्थ आश्रम पति पत्नी का धर्म सनातन बरणा सै ... Read more

किस्सा / सांग - # कंवर निहालदे - नर सुल्तान # अनुक्रमांक - 38 #

किस्सा / सांग - # कंवर निहालदे - नर सुल्तान # अनुक्रमांक - 38 # थारी बीरां की जात नै किसतै नहीं दगा कमाया। । टेक। नाहुकसुर... Read more

किस्सा / सांग - # हरिश्चंद्र - फुटकड़ रागनी # रचनाकार - कवि शिरोमणि प. मांगेराम जी

किस्सा / सांग - # हरिश्चंद्र # रचनाकार - कवि शिरोमणि प. मांगेराम जी किस्सा – हरिश्चंद्र (फुटकड़ रागनी) 28 दिन का रहणा होगा भं... Read more

किस्सा / सांग - # चमन ऋषि - सुकन्या #

किस्सा / सांग - # चमन ऋषि - सुकन्या # भजन.1 ब्रहमा बैठे फूल कमल पै सोचण लागे मन के म्हां, आई आवाज समुन्द्र मै तै करो तपस्या... Read more

किस्सा / सांग – # चापसिंह - सोमवती # अनुक्रमांक - 31 # & टेक – बादशाह आलम, जहांपना मुगलेआज़म, मुजरा करूंगी सलावालेकम मेरी दुहाई, सुणो पनाह इलाही, नृत करने आई मै चाहती हुकम।

किस्सा / सांग – # चापसिंह - सोमवती # अनुक्रमांक - 31 # वार्ता:- सज्जनों! सोमवती के नाचने गाने पर सब सभा खुश हो जाती है और बादश... Read more

किस्सा / सांग – # चापसिंह - सोमवती # अनुक्रमांक - 29 # & टेक – सभी राग चालकै गा दूंगी राजा के दरबार मै, गाणे और बजाणे आली नाचूं सरे बजार मै।

किस्सा / सांग – # चापसिंह - सोमवती # अनुक्रमांक - 29 # वार्ता:- सज्जनो! फिर नट कलाकार इन्कार कर देता है। और कहता है कि तुम हमा... Read more

किस्सा / सांग – # चापसिंह - सोमवती # अनुक्रमांक - 28 # & टेक – कई किस्म के नाच बताएं, ना बेरा नाचण आली नै, गावण के घर दूर बावली, देख अवस्था बाली नै। ।

किस्सा / सांग – # चापसिंह - सोमवती # अनुक्रमांक - 28 # वार्ता:- सज्जनो| सोमवती की बात सुनके वे नटनीया उसको मना कर देती है क्यू... Read more

साध संगत # किस्सा - बाबा जगन्नाथ @ लोहारी जाटू धाम #

किस्सा – बाबा जगन्नाथ वार्ता – सज्जनों | यह वर्तान्त चंद्रवंशी खानदान के सिद्ध महात्मा और तपधारी परमहंस बाबा जगन्नाथ लोहारी जाटू-... Read more