जय हिंद
जय मेधा
जय मेधावी भारत

Copy link to share

छन हुई काजल कह दूँ

छन छन हुई झनकार बजी ज़ोर से पायल कह दूँ, सोचता हूँ कजरारी आँखों में झाँक कर तुझको काजल कह दूँ। धूप में जो तू राहत है तो लट को तेरे ... Read more

मैं शून्य हूँ!

मैं सोचता हूँ अक्सर कायनात में अंश मेरा, सोचता हूँ क्या हूँ मैं! मेरा क्या मैं हूँ किसका, सोचता हूँ कौन हूँ मैं! अरे ऐश्वर्य देव... Read more

था इल्म नहीं हमको

ख़ता की लाखों कोई दिल न तोड़ा, ज़िन्दगी ने कोई मौका न छोड़ा। ख़ामोशी थी जब तिनके भी चुप बैठे थे, हम तो वहीं के वहीं रहे ठहरे थे। इशार... Read more

याराना

कोई न जहाँ बहाना वहीं तो मेरा याराना, अंकुश न कोई आना वहीं तो मेरा याराना, मीट जाए जो चाहे मिटाना वही तो मेरा याराना, भूल न पाए त... Read more

प्रेम परिभाषा

प्रेम है तो संग है, प्रेम से प्रसंग है, प्रेम है देवता, प्रेम सूखे में रंग है। प्रेम चाहे मार दे, चाहे तो सँवार दे, प्रेम है औ... Read more

जीवित वो है

न समझना साँसों से जीवित वो है, न कहना साँसें हैं तो जीवित वो है, साँसें जिसने न्योछावर की है जीवित वो है, किसी को साँस लेना सिखाए... Read more

माँ तू है दुःख कबहूँ न होई

माँ जैसा न और है कोई, माँ तू है दुःख कबहूँ न होई, सूरज भी पश्चिम चल जाए, चन्दा भी तो शीश झुकाए, तारे भूमि पर आ टिमटिमाएँ, सम्भव... Read more