जय हिंद
जय मेधा
जय मेधावी भारत

Copy link to share

'हम'- विस्तृत दृष्टिकोण से

'हम' प्रथम दृष्टया हिंदी भाषा में प्रयोग किया जाने वाला एक शब्द है और 'हम' को कोई भी यदि 'शब्द' कह कर सम्बोधित करे तो वह कोई त्रुटि ... Read more

बाबा हमको बचा लो न !

एक बार की बात है, दो परिवारों के बीच नया रिश्ता जुड़ता है, जिनमें एक परिवार दूसरे परिवार के घर में उसकी बेटी को बहु के रूप में भेजने ... Read more

मैं शून्य हूँ!

मैं सोचता हूँ अक्सर कायनात में अंश मेरा, सोचता हूँ क्या हूँ मैं! मेरा क्या मैं हूँ किसका, सोचता हूँ कौन हूँ मैं! अरे ऐश्वर्य देव... Read more

मृत्यु

मृत्यु स्रोत है डर का।कोई व्यक्ति यदि किसी भी विषय-वस्तु से डरता है, चाहे वह भय बिजली के बंद तार से हो या एक चपड़े से, तो उस भय के पी... Read more

था इल्म नहीं हमको

ख़ता की लाखों कोई दिल न तोड़ा, ज़िन्दगी ने कोई मौका न छोड़ा। ख़ामोशी थी जब तिनके भी चुप बैठे थे, हम तो वहीं के वहीं रहे ठहरे थे। इशार... Read more

आरक्षण- सूक्ष्म विश्लेषण

आरक्षण एक ऐसा शब्द है जिसका अर्थ भले ही एक इस शब्द द्वारा अदा किया जाता है पर इस शब्द के अर्थ के प्रभाव अलग अलग हैं, प्रयोग अलग अलग ... Read more

याराना

कोई न जहाँ बहाना वहीं तो मेरा याराना, अंकुश न कोई आना वहीं तो मेरा याराना, मीट जाए जो चाहे मिटाना वही तो मेरा याराना, भूल न पाए त... Read more

प्रेम परिभाषा

प्रेम है तो संग है, प्रेम से प्रसंग है, प्रेम है देवता, प्रेम सूखे में रंग है। प्रेम चाहे मार दे, चाहे तो सँवार दे, प्रेम है औ... Read more

जीवित वो है

न समझना साँसों से जीवित वो है, न कहना साँसें हैं तो जीवित वो है, साँसें जिसने न्योछावर की है जीवित वो है, किसी को साँस लेना सिखाए... Read more

युवा- वास्तविक बनाम काल्पनिक

क्या है युवा? कौन है युवा? कैसा होता है यह युवा? कहाँ से आता है युवा? क्या यह युवा आवश्यक है? पुराने व्यक्ति, जिनके केश सफेद हो... Read more

न्याय- एक स्पष्टीकरण

न्याय । न्याय अर्थात रिश्ते-नाते, मोह-माया, दोस्ती, प्रेम, स्नेह, इत्यादि से ऊपर जा कर, सब कुछ त्याग कर सत्यता और प्रमाण ( प्रमाण व... Read more

माँ तू है दुःख कबहूँ न होई

माँ जैसा न और है कोई, माँ तू है दुःख कबहूँ न होई, सूरज भी पश्चिम चल जाए, चन्दा भी तो शीश झुकाए, तारे भूमि पर आ टिमटिमाएँ, सम्भव... Read more