पं.संजीव शुक्ल "सचिन"

नरकटियागंज (प.चम्पारण)

Joined July 2017

D/O/B- 07/01/1976
मैं पश्चिमी चम्पारण से हूँ, ग्राम+पो.-मुसहरवा (बिहार) वर्तमान समय में दिल्ली में एक प्राईवेट सेक्टर में कार्यरत हूँ। लेखन कला मेरा जूनून है।

Books:
कुसुमलता (अभिलाषा नादान की)
साहित्य संग्रह

Awards:
ख़याल समूह से सर्वश्रेष्ठ रचनाकार का सम्मान, साहित्यदीप मेधा सम्मान, काव्यांचल स्वर सम्मान, सूर्यम् साहित्य रत्न सम्मान, काव्य सागर सम्मान

Copy link to share

कृषक 【लावणी छंद गीत】

सूखे से संतप्त कृषक हैं, पड़ी बेड़ियां पावों में। अति वृष्टि से बाढ़ का खतरा, रुदन पड़ा है गावों में। माह आषाढ़ पल में बीता, इन्द्र द... Read more

तुम्हारा ही सहारा (मुक्तक)

👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇 इनायत है हरी तेरा, सभी से प्यार मिलता है। तुम्हारे ही भरोसे पर, सकल संसार चलता है। सदा आशीष देना तुम, सभी में प्रेम ... Read more

मुक्तक

हमें जिसने यहां भेजा , वही हमको खिलाता है। जगत में जीव हैं जितने, वही सबको जिलाता है। मिला हमको यहाँ जो भी, उसी ईश्वर की मर्जी से-... Read more

सावन

#सादर_समीक्षार्थ सावन आस लाता है, सुखद बरसात लाता है। गमों के पीर से बोझिल, विरह की रात लाता है। समझ पाता नहीं कोई,... Read more

मेरे खेवनहार

*********************🙏************************ मेरे खेवनहार ____=====____ ऐ मेरे सरकार, तुम ... Read more

विडम्बना

सावन के संगीत गये खो, कहाँ दिखे अब सावन। सावन की वह बात पुरातन, जो दिखता मनभावन। कॉल विडीयों युग मे गर जो , हुये पिया पर... Read more

मनुहार

#विधा - गीत ++++++++++++++++ मनुहार ********* सजन आओ चले आओ। मिलन के गीत अब गाओ।। कि सावन आस देता है।... Read more

विधाता छंद

विधा - विजात छंद विषय - उर्मिल व्यथा ********#सादर_समीक्षार्थ************* कहूँ पीड़ा लखन प्यारे। तुम्हें ढूंढे नयन... Read more

मनुहार

प्रभु मेहमान बन आओ। साक घर मेरे भी खाओ।। विदुर के घर गये थे तुम। चखे थे बेर सबरी तुम। अहिल्या तार आये थे। दैत... Read more

तिलका छंद

शिल्प👉 सगण, सगण (११२ ११२) ६ वर्ण दो - दो चरण समतुकान्त घनश्याम भजो। सब पाप तजो।। उर ज्ञान भरो। भव पार करो।। ... Read more

तिलका छंद

शिल्प .👉 सगण, सगण ११२ ११२ छः वर्ण (दो दो चरण समतुकान्त) शिव को जप लो। तुम भी तप लो।। उर में भर लो। ... Read more

अखबार (सरसी छंद)

#तिथि - २/८/२०१९ #विधा - सरसी छंद #विषय - अखबार ^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^ अखबारों से नाता अपना, है बचपन स... Read more

हंसगति छंद

#स्वैच्छिक_छंद_लेखन #तिथि - ३/८/२०१९ #दिवस - शनिवार ******************************** छ्न्द – हंसगति ( २0 मात्रा ) शिल्प विधान — ... Read more

विधाता छंद

********************************** सजन घर आ गये सावन, सुखद अहसास लाया है। बहारे आ गई देखो, फिजा में प्यार छाया है।। पड़े हैं बाग... Read more

चौपाई

दिवस - बुधवार तिथि - २४/७/२०१९ विधा - चौपाई विषय - चित्राधारित ***************************** जय शिवशंकर डमरू धारी। जय नंदीश... Read more

एकावली छंद

शिल्प -- ५-५ पर यति, १० मात्रिक छंद, दो - दो चरण समतुकान्त!! लोभ से, दूर हो । धर्म मेंँ, चूर हो।। त्याग का ,... Read more

नारी का सम्मान होना चाहिए!!

विषय- नारी के प्रति सामाजिक विषमता विधा- गीत (मुक्तछंद) ------------------------------------- 【मुखड़ा】 कुप्रथा कुरीतियों का ,अं... Read more

लघुकथा

रूप बड़ा या गुण...?? *********************** तू मर क्यों न जाती कलमुँहीआखिर यूँ कबतक हमारे सीने पर मूंग दलती रहेगी माँ के ये शब्द क... Read more

प्रेम

प्रेम ^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^ है प्रेम पलता चहुँदिशा में, स्वार्थ से यह दूर है। जो स्वार्थसाथक प्रेम करता, प्रेम से वह द... Read more

्विरह गीत

=====++++======++++======++++====== विरह वेदना ************* कुछ देर ... Read more

कुण्लिया छंद

विधा - कुण्डलिया *********************************** मारक क्षमता गजब की, तुम हो बड़े भुवाल। तेरे कारण हे प्रिये, जीना हुआ मुहाल।।... Read more

ताटंक छंद आधारित गीत

(हास्य व्यंग) #विधा - ताटंक छंद आधारित गीत #विषय - मन्नत नेता जी की ******************************************** ... Read more

संस्मरण

यादें खट्टी मीठी ******************************************** ✍️प्रथम यात्रा घर से ससुराल तक✍️ **********************... Read more

कुण्लिया छंद

ईर्ष्या उर मत पालिये, हरती बुद्धि विवेक। बात सत्य यह जानिये, देती कष्ट अनेक।। देती कष्ट अनेक, मनुज की मति ह... Read more

चांद बिना श्रृंगार अधुरा

******************************************* नभ में गर जो चाँद न होता, सुंदरता किसकी लि खते? चाँद बिना क्या नभ में तारे, चमकीले ... Read more

सार ललित छंद

------------------------------------------------------------------------------------- विषय : मेरे शब्द विधा : सार ललित छंद ---... Read more

कुण्लिया छंद

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~ विषय :-- रेत, बालू विधा :-- कुण्डलिया ****************************************** गंगा की मैं ... Read more

ताटंक छंद

राम नाम ही सत्य है ********************* राम नाम का रस पीते जा, मिथ्या दुनियादारी है। आया है जो भी इस जग में, सब पे ... Read more

बबूल / कीकर

विषय : बबूल/ कीकर विधा :- मुक्त छंद ******************************************** रोगों से लड़ने में इसकी, नही है कोई ... Read more

मिट्टी गंगा की

मिट्टी गंगा की ############## गंगा की मैं रेत हूँ, रज कहते सब लोग। हृदय और मस्तक लगूँ, छूटें भव के भोग।। छूटें भव के भोग,कर... Read more

प्रेम (सार छंद)

प्रेम ^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^************* है प्रेम पलता चहुँदिशा में स्वार्थ से यह दूर है। जो स्वार्थ साधक प्रेम करता... Read more

भोजपुरी सरसी छंद आधारित गीत

#नमन_ख़याल_परिवार 🙏💜🙏#शुभ_सबेरा #भाषा - ठेठ भोजपुरी ^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^ ... Read more

कुण्डलिया छंद

#विधा - कुण्डलिया **************************************** प्रीत जगत की रीत है, यह जीवन संगीत। प्रीत है परमात्मा, प... Read more

चुवानी समर

#विधा - #तांटक_छंद #विषय - स्वच्छंद 🙏 #सादर_समीक्षार्थ ****************************** चुनावी समर ************ महा समर झूठे... Read more

मुक्तक

#विधा - ताटंक छंद आधारित (मुक्तक) ********* ************ ********** ********** व्यथित हृदय की पीर अभी हम, बोलो भला दिखाये क्यों। ... Read more

कैसे लिख दूं जीवन गीत (पुनीत छंद)

आप सभी मित्रों से करबद्ध प्रार्थना है हमारे प्रिय अनुज के दिवंगत आत्मा की शान्ति के लिए प्रार्थना करें।। 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏... Read more

वर्तमान राजनेता

#शीर्षक - वर्तमान राजनेता #विधा-- सार (ललित) छंद ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~ #वर्तमान_राजनेता `````````````````... Read more

महाश्रृंगार छंद

#विधा - -#महा_शृंगार_छन्द *********************** बहुत बुरा है राष्ट्र का हाल। जनता होने लगी कंगाल।। नेता हो गए मालाम... Read more

सृजक आत्ममंथन

सृजक आत्ममंथन ------------------------ जब से कलम उठाया मैंने लक्ष्य एक ही साधा था, मान प्रतिष्ठा मिले जगत मे... Read more

वसंत

**************************** वसंत ^^^^^^^^^^ ऋतुओं का राजा वसंत। ले आया ... Read more

आली वर्ण पाद छंद

विधा - अली वर्ण पाद छंद प्रथम प्रयास🙏सादर समीक्षार्थ ''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''' ''''''''''''''''''''''''''''''''... Read more

जल संरक्षण

विषय ~ जल संरक्षण ...मात्रा भार - २८ ============================== मिटाता प्यास वो सबका, आस मन में जगाता है। हृदय की ... Read more

विरह गीत

दिगपाल छंद 👇🙏👇सादर समीक्षार्थ विरह गीत """""""'''''''''''''''''' है गीत ये मिलन का, ग... Read more

रावण दहन

#विधा - मनहरण घनाक्षरी """"""""'""""""""""""""""""""""""""""""""""" "रावण ** दहन" *... Read more

मुक्तक

नमन मंच विधा - मुक्तक **************************** मात्रा भार - २१ अब हकीकत छुपाने से क्या फायदा। गम को हृदय लगाने से क्या फा... Read more

मधुमालती छंद

#नमन_मंच #विधा - मधुमालती छंद *************************** 🙏#प्रथम_प्रयास_सादर_समीक्षार्थ🙏 मेरा कहाँ अब नाम है। मुझसे भला क्... Read more

निवर्तमान परिवेश

#विधा - सरसी छंद *************************************** निवर्तमान परिवेश """""'''''''''''... Read more

सरस्वती वंदना

🙏🙏🙏🙏 प्रार्थना 🙏🙏🙏🙏 *****†******************†***** वागीश वीणावादिनी, सदबुद्धि प्रदायिनी। चरणों में शरण दे, नमन स्वी... Read more

हृदय की पीर

🙏🙏नमन मंच🙏🙏 विषय.... आहत हृदय की पीर ************************** देखता हूँ मै जिधर भी, कोलाहल औ क्रन्दन है। धरा रक्त से सन रह... Read more

वतनपरस्तों तुझे सलाम

#नमन_मंच #विधा - छंद मुक्त --------------------------------------- वतनपरस्तों तुझे सलाम *********************** वतनपरस्ती में द... Read more