पं.संजीव शुक्ल "सचिन"

नरकटियागंज (प.चम्पारण)

Joined July 2017

D/O/B- 07/01/1976
मैं पश्चिमी चम्पारण से हूँ, ग्राम+पो.-मुसहरवा (बिहार) वर्तमान समय में दिल्ली में एक प्राईवेट सेक्टर में कार्यरत हूँ। लेखन कला मेरा जूनून है।

Books:
कुसुमलता (अभिलाषा नादान की)
साहित्य संग्रह

Awards:
ख़याल समूह से सर्वश्रेष्ठ रचनाकार का सम्मान, साहित्यदीप मेधा सम्मान, काव्यांचल स्वर सम्मान, सूर्यम् साहित्य रत्न सम्मान, काव्य सागर सम्मान

Copy link to share

मुक्तक

नमन मंच विधा - मुक्तक **************************** मात्रा भार - २१ अब हकीकत छुपाने से क्या फायदा। गम को हृदय लगाने से क्या फाय... Read more

आज के राजनेता

राजनेता ````````````````````````````````````````````````````````` रंग बदलते गिरगिट जैसे, मेढक ये बरसाती। बाप मान लें ... Read more

जीवन संगिनी (मनहरण घनाक्षरी छंद)

👲👲👲 जीवन^संगिनी 🙍🙍🙍 ^^^^^^^^^*************^^^^^^^^^^ मम जीवन संगिनी, कलत्र अंग अंगनी। खुशियों के संग प्रिय, अंग में विरा... Read more

विरह गीत

दिगपाल छंद 👇🙏👇सादर समीक्षार्थ विरह गीत """""""'''''''''''''''''' है गीत ये मिलन की, ग... Read more

वसंत ऋतु

वसंत ^^^^^^^^^^ ऋतुओं का राजा वसंत। ले आया खुशियाँ अनंत। पीले सरसों फूल दिख रहे- पीत व... Read more

सृजक आत्ममंथन

सृजक आत्ममंथन ------------------------ जब से कलम उठाया मैंने लक्ष्य एक ही साधा था, मान प्रतिष्ठा मिले जगत मे... Read more

बेकरारी

...मुलाहिज़ा फरमाइए.....👇 तोहर जईसन हाल गोरिया हमरो ओईसन हाल बा। तोहरे बिना लईकन सब के जीयल मुहाल बा। चाँद तारा त... Read more

विधाता छंद

दिवस - सूर्यवार दिनांक - ३०/१२/२०१८ विधा - विधाता छंद गीत ************************************** हृदय की ... Read more

बृक्षारोपण

विधा - गीत """"""""""''''''"'''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''''' ब... Read more

वर्ष पुरातन बीत गया हैनूतन का सत्कार करो।।

वर्ष पुरातन बीत गया है🙏नूतन का सत्कार करो """"'''''''''''''''''''''''''''''''"'''''''''""""""""" """"""""""""''''''''"""""""""... Read more

आज कल और आज

पुरातन वर्ष को अलविदा 🙏 नववर्ष की शुभकामनाएं ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,, कल, ... Read more

हाइकु

राम शरण सदा सुखदायक भजो रे मन। बिना हरी के जीवन दुखदाई राम भजो रे। ✍️पं.संजीव शुक्ल "सचिन" Read more

विध - सेदोका

प्रथम प्रयास #विधा_सेदोका सादर समीक्षार्थ 🙏🙏🙏🙏🙏 प्रीतम प्यारे अब आन मिलो रे हैं नैन अब प्यासे। कुंठा मन की वेदना हृदय की ... Read more

सचिन के दोहे

,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,, 💐💐💐सचिन के दोहे💐💐💐 **************************** धरा गगन सब तप्त है, ... Read more

भोग से योग की ओर

विधा ---- स्वतंत्र बोली --- ठेठ भोजपुरी ************************** सुख साधन पा गइल बाबू, भोगे लगल भोग। विषय विकार में लिप्... Read more

परिवर्तन की बयार

परिवर्तन का बयार ***************** कैसी ये उल्टी बयार बढ रहा है पापाचार हर तरफ है अत्याचार ... Read more

अवतरण दिवस की बधाई

जन्मदिन है आज हमारे प्रिय भाई #रवि "राही" का करो प्रबंध प्यारे भाई सबके लिए मिठाई का, सदा रहो खुश भाभी हो संग गम आय... Read more

सचिन के दोहे

सचिन के दोहे 👉👇 🌺🌺🌺🌺🌺🌺 रमा राम भजते रहो, धरे रहो मन धीर। कर्महीन बनना नही, होना नहीं अधीर।। राह बुराई का तजो, क... Read more

सचिन के दोहे

मन को निर्मल कीजिए, प्रभु का लेकर नाम। चन्दन जस जीवन लगे, नहीं इत्र का काम।। सरल सहज बन कर रहें, दें सबको सम्मान। इष्ट मित्र... Read more

हो सके तो देख लेना

गाँव में दिखता नहीं अब गाँव ***********💐********* हो सके तो देख लेना, आज आकर गाँव, खो गई है आज सारी, प्रेम वाली भाव। पेड़ ... Read more

सचिन के दोहे

🌷🌷✍️सचिन के दोहे✍️🌷🌷 ===//===//===//===//===//=== काम काम करते रहे, जीवन हुआ हराम। धनी बनन की चाह में, मिला नहीं आराम।।१... Read more

सचिन के दोहे

अवतरण दिवस की बधाई 💐💐🎂🎂💐💐🎂🎂 जग में ऊँचा नाम रहे, औ हो ऊँची शान। पुष्प खिला जैसे दिखे, वैसी हो मुस्कान।। 💐💐 हर मुश्क... Read more

सचिन के दोहे

सचिन के दोहे 👉👇 🌺🌺🌺🌺🌺🌺 रमा राम भजते रहो, धरे रहो मन धीर। कर्महीन बनना नही, होना नहीं अधीर।। राह बुराई का तजो, क... Read more

जवान औ किसान

जवान औ किसान 💐💐💐💐💐💐💐💐 हिन्द के जवान तुम,वीर हो महान तुम। रक्षण में जान तक,आप ही लुटाते हो।। दुश्मन को मार कर,रीपु का संघार कर। ... Read more

जीवन संग्राम

सहन करो आघात प्राण को अर्पण कर दो बहे नहीं एक बार अश्रु को तर्पण कर दो चलो भरो हुंकार भाव को जागृत कर लो मरो नहीं सत् बार भला एक ... Read more

माँ की महिमा

माँ की महिमा ***************** जिसकी बाहें सुख देती है, जैसे कोई पलना। उंगली पकड़ जिसका हमने,सीखा पग-पग चलना।। ... Read more

रावण दहन

रावण ** दहन ************* देखा रावण दहन, आया विचार गहन। मन के तू रावण को, काहे न मारता है।। पुतले है फूंकता तू,खुद पे... Read more

विपदा की घड़ी

विपदा की घड़ी ****************** कभी कुछ थीं खुशियां घरों में हमारे, जीये जा रहे थे उसी के सहारे। विपदा ये ... Read more

सेहत है अनमोल

🍥🍥🍥🍥🍥🍥🍥🍥🍥🍥🍥🍥🍥 😁सचिन के दोहे😁 ***************** दर्पण अब झूठा लगे, मन में उठते पीर। गलती ऐस... Read more

सुख के आश

""""साहित्य-दीप"""" आयोजन - लोकवाणी लेखन दिनाँक - १६ से १७/ ०७ / २०१८ विषय - स्वछंद विधा - कविता ^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^ सु... Read more

नटखट बंशीवाल

विषय.. कृष्ण विधा..सार छंद ****************** नटखट वंशीवाला ❄❄❄❄❄❄❄❄❄❄❄❄ रुप मधुर श्रृंगार है सुंदर, करते माखन च... Read more

माता🙏पिता

#विधा - - - - - - - #तंत्री_छन्द #तिथि - - - - - - - ०४.०९.२०१८ #वार - - - - - - - - #भौमवार #स्वरचित_मौलिक 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 ... Read more

✍कलमकार✍

#विधा....#सार_छंद ✍✍✍✍✍✍✍✍✍✍✍ 🔏✍कलमकार✍🔏 ******************* मन के भावों को प्रदर्शित, कलमकार कर... Read more

उम्मीदों का बोझ

उम्मीदों का बोझ ===\===///=== गजब की निस्तब्धता थी फिजा में, हर आँख सजल , चेहरे गमों के सागर में गोते लगाते से... Read more

गाँव में गाँव मै ढूंढता रह गया!

गाँव में गाँव मैं ढूंढता रह गया! ****************************** गाँव में गाँव मैं ढूंढता रह गया। बीती तस्वीर में... Read more

कुप्रभाव

- "मन का छंद मनहरण" दिनांक - 09.09.2018 दिन - रविवार 🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞 छंद -१ जात धर्म भेद भाव, नित्य दे रहे है घाव। इनका बूर... Read more

दगा दे गये बेसहारा किया है

दगा दे गये बेसहारा किया है। =====|√|=====|√|=====|√|===== कहो आपने क्यों किनारा किया है। दगा दे दिया बेस... Read more

मधुकर "व" मकरंद

~~ मधुकर "व" मकरंद~~ 💝💝💝💝💝💝💝💝💝 डोल रहा मधुकर पुष्पों पर, नयन बड़े हैं कामी। ऐसा लगता पुष्पों का वह बहुत बड़ा अनुगामी।। भय से क... Read more

श्रीकृष्ण जन्म

#विधा - #हरिगीतिका_छंद 🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞 🔥 श्रीकृष्ण जन्म🔥 ****************** श्री कृष्... Read more

भूख

विषय / उन्वान 👉 #भूख विधा 👉..छंद मुक्त (कविता) ......... भूख ******** भूख और भगवान का भैया... Read more

पत्नी महिमा (हास्य)

पत्नी महिमा चंचरी छंद (हास्य) **************** पत्नी का हाव - भाव, 🌷 रहता है काँव - काँव, 🌷हरपल द... Read more

प्रभु हमें वह शक्ति दो

दिनांक👉 ~~ २९/८/२०१८ दिवस👉~~ बुधवार विधा👉~~ हरिगीतिका छंद 🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯 प्रभु हमें वह शक्ति दो ... Read more

तरूणी

#नमन_ख़याल_परिवार विधा 👉 #कविता (छंद मुक्त) 💮💮💮💮💮💮💮💮 तरूणी ******************* गजगामिनी हे दामिनी, तू ... Read more

प्रेम ईश प्रसाद है

विधा 👉..(चंचरी छंद ) ......... 🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷 प्रेम ईश प्रसाद है -----^----^-------^----^----- प्रेम रुप भगवान। का, ... Read more

सत्य को स्वीकार लो

#चयनित_पगडण्डी 👉 #इसीलिए_खड़ा_रहा... ( हरिवंशराय बच्चन जी) #विधा 👉 छंद मुक्त कविता 🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯 सत्य को स्वीकार लो ~~~√~~~√~~~√~~... Read more

राम नहीं आयेंगे

राम नहीं आयेंगे!! **************** चलो सीये अब शस्त्र उठालो,राम नहीं अब आयेंगे। आ भी गये बलहीन राम, ... Read more

मेरे पंख

मेरे पंख ******** दिल्लगी कर गया दिल लगाया जो था। एक ही आँख म़े मुझको भाया जो था। प्यार उससे हुआ मन तभी मिल गया- मेरे सप... Read more

विपदा की घड़ी

#विधा। 👉छंद मुक्त 💮💮💮💮💮💮💮💮💮💮💮💮 विपदा की घड़ी ****************** कभी कुछ थीं खुशियां घरों में हमारे,... Read more

वतनपरस्तों तुझे सलाम

वतनपरस्तों तुझे सलाम *********************** वतनपरस्ती में दम निकले, सोचते हैं सिपाही। इनकी गाथा रुधिर से लिखूँ, र... Read more

महापर्व

#जश्ने_आज़ादी_चित्रलेखन_ #दिनांक....१५/१६/८/२०१८ 🌈🌈🌈🌈🌈🌈🌈🌈🌈🌈 महापर्व ******** राष्ट्र प्रेम क... Read more