Rupesh Kumar

chainpur siwan bihar

Joined April 2017

रूपेश कुमार 
छात्र एव युवा साहित्यकार
जन्म – 10/05/1991
शिक्षा – स्नाकोतर भौतिकी , इसाई धर्म(डीपलोमा) , ए.डी.सी.ए (कम्युटर)
बी.एड (अध्ययनरत)
( महात्मा ज्योतिबा फुले रोहिलखंड यूनिवर्सिटी बरेली यूपी)
वर्तमान-प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी !
विभिन्न राष्ट्रिय पत्र पत्रिकाओ मे कविता,कहानी,गजल प्रकाशित !
सचिव – आंचलिक साहित्य संस्थान 
प्रकाशित पुस्तक – मेरी कलम रो रही है 
कुछ सहित्यिक संस्थान से सम्मान प्राप्त !
चैनपुर,सीवान बिहार – 841203
मो0-9006961354/9199134623
E-mail – rupeshkumar000091@gmail.com
          – rupeshkumar01991@gmail.com

Copy link to share

~~~~ काल की बहती हवा मे ~~~~

काल की बहती हवा मे , एक सच्चा बेटा जा रहा है , भारत माता की वो सन्तान , जिसके लिए दुनिया रो रही है ! काल की बहती हवा मे , अमर... Read more

~~~ बबुआ बनल बा कसाई ~~~

देखीके समय पर आवत बा रोआई , ए भाई बबुआ बनल बा कसाई , नौ महीना गरभ में रखनी , सहनी केतना दु:खवा हो , आस लगवनी मन मे आपन , पाइब एक ... Read more

"रुपेश को मिला हिंदी साहित्य श्री सम्मान"

हरियाणा की राष्ट्रीय साहित्यिक संस्था अर्णव कलश एसोसिएशन के तत्वधान में आयोजित ऑनलाइन सप्ताहिक काव्य प्रतियोगिता 19 जून को चैनपुर सि... Read more

~~~ रे पाकिस्तान बेहाया ~~~

ऐ पाकिस्तान बेहया ~~ तुझे भारत ललकार रहा है , पुलवामा में हमला करके , बेशर्मी दिखाने वालों , नीच, निर्लज्ज, बेहया....... अब तु... Read more

~~~~ जीवन की कीमत ~~~~

पायल ' हज़ारों रूपये में आती है पर ' पैरो ' में पहनी जाती है और.. ' बिंदी ' एक रूपये में आती है मगर ' माथे ' पर सजाई जाती ह... Read more

गजल

आये वतन पे खतरा वो जान भी लगा दो , ये मुल्क के जवानो जंग का ज़ूनून भर लो , इसी जंग के कोने मे कही जन्नत नजर आयेगी , जंग आ ही ज... Read more