राम निवास बांयलाrnप्रकाशित कृतियाँ- बोनसाई (कविता संग्रह ) हिमायत (लघु कथा संग्रह) rnसंपादित – पाप की पराजय, आनंदमठrnलेखन- कविता, कहानी, लेख, लघु कथा, हाइकु, व्य

Copy link to share

जो चल रहा है

जो चल रहा है जो चल रहा है सो चल रहा है तम की आग में गण जल रहा है | जो छल रहा है वो पल रहा है सत पथ हमेशा अब टल ... Read more

वो काम करता है

वो काम करता है वो काम करता है नाम करता है | उसका हर काम हाकिम का करम निजाम की नजर | वो यों ही नहीं ईनाम लाता... Read more

हाइकू

1 घास रोदन अंकुरण दुबारा है जिजीविषा । 2 ताकते मोर आच्छादित गगन कब वर्षा हो। 3 बनाता घर मिट्टी द्वारा अबोध एक सृजन। 4 उ... Read more

पिता

पिता अंजू मेडम की अश्रुधारा गोदी में बैठे तीसरी कक्षा के छात्र विवेक के हृदय में उतर रही थी | साथ से निकलते हुए गोविंद सर ने देखा... Read more

अपने.अपने आईने

अपने.अपने आईने शहीदी सींच से आज़ाद धरा पर जो पली थी जनतंत्र फ़सल उसमें स्वार्थी किरचें ख़रपतवार सी उगीं और जनने लगी आईने ... Read more