वाचाल पौधा

पगडंडी पर चलते एक पौधा देख, चलता चला । पौधे ने कहा हे ! मूढ कहां चला कर अनदेखा । मैने उस पौधे को देखा जो था बोलता । बोला झटपट वो... Read more

बहुरूपिये का पुरस्कार

एक बहुरूपिये ने राजा भोज के दरबार मे आकर उनसे पांच स्वर्ण मुद्रा की याचना की । राजा ने कहा, मैं कलाकार को पुरस्कार तो दे सकता हूँ, प... Read more

दूरदर्शन पर रामायण लाइव है ।

देख जिसको सब मोह भुलाना । मुक्ति के द्वार का तय है खुल जाना । सब लोग देखे ये सबका दायित्व है । दूरदर्शन पर रामायण लाइव है । नैन ... Read more

जिद्द

लाख सहे गर सितम भी तो क्या । चाहे करे न कोई रहम भी तो क्या । हम आगे ही बढते जाएंगे । भले ही दफन हो जाएंगे । Rj Anand Prajapati Read more

क्रोध पर विजय

महात्मा बुद्ध का शिष्य पूर्ण उनके पास पहुंचकर हाथ जोङते हुए बोला, भगवान्, मै साधना -अध्ययन से ऊब गया हूँ । अब मै आपकी आज्ञा से सूनाप... Read more

प्राकृतिक के गोंद मे शान्ति मिलता है ।

बैठ किनारे शान्ति मिलती है । उन सफेदो के बीच तालाबो पर । छपाक से है ढेले मारते । उसकी आवाज निकलते ही । लगता है मछली कलबलाती है ।... Read more

शतरंज का खिलाङी

शतरंज के खिलाड़ी है । थोड़े हम अनाङी है । पर कच्चा न समझना हमे । इस दुनिया की तासीर मे । हम वो है जिससे दुनिया सारी है । Rj Ana... Read more

प्यार

दिल ढूंढता है तुझको कही पर । चल हम पङे चाह के राह पर । पर हम करे क्या तुम ही बता दो । चांदनी का समा है ये कैसा वफा है । प्यार म... Read more

उस राम जी के चरणो मे मेरा है नमन

रंग है सांवला कान्ति से ओझल । सरल स्वभाव ज्ञान है विमल । उस राम जी के चरणो मे मेरा है नमन । नाम लेने से ही मुक्ति मिल है जाती । ... Read more

करवा चौथ का चांद तुम्हारे लिए है ।

जमाने की खुशिया तुम्हारे लिए है । ये चांद और तारे तुम्हारे लिए है फिर भी है क्यूं उदास तेरा मन । क्योकि साजन क्यूं न हमारे लिए ... Read more

पुत्र की करूणा

इन्ही गलियो से उठेगा एक दिन जनाजा मेरा । रोएंगे अपने सगे, पसरा है सन्नाटे का घेरा । किसको कितना मुझसे प्यार है । काश मै देख सकता ... Read more

पिता

पिता के कंधे पे चढ कर आसमां नापा । पढाकर मेरे सिर पर बांधा शिक्षा का साफा । अपने वो दुःखो मे रहे, ताउम्र मेहनत करते रहे । पर दुःख... Read more

बेटियाँ

ओस की एक बूंद सी होती है बेटियाँ । स्पर्श खुरदरा हो तो रोती है बेटियाँ । रोशन करेगा बेटा तो एक ही कुल को । दो-दो कुल की लाज होती ... Read more

उफ़ 3

छिपाकर रखती है खुलकर नही आने देती । दिल की बातो को वो बाहर नही आने देती । न जाने कौन -सी शर्मो -हया मे लिपटी है । प्यार करती है ज... Read more

क्या करे हम

हम तुमसे कहे क्या । तेरे बिन रहे क्या । कुछ तो अगन है । मेरे जहन मे । बैठे है खाली गुमशुम से क्यूं । कहो तो चंद बाते करे क्या ।... Read more

गीगो सिद्धांत जीवन की सच्चाई

कम्प्यूटर का गीगो (GIGO- Garbage in,Garbage out)का सिद्धांत है - ■ गलत अंदर डालिए; गलत बाहर आएगा । ■ सही डालिए; सही बाहर आएगा । ... Read more

सच को गलत ढंग से पेश करना

एक नाविक तीन साल से एक जहाज पर काम कर रहा था ।एक रात वह नशे मे धुत हो गया । ऐसी पहली बार हुआ था । कैप्टन ने इस घटना को रजिस्टर मे इस... Read more

इसका अंत कहा है

एक लालची किसान से कहा गया कि वह दिन मे जितनी जमीन पर चलेगा, वह उसकी हो जाएगी । बशर्ते वह सूरज डूबने तक शुरू करने की जगह पर वापस लौट ... Read more

करो न भरपूर प्यार

आ जाओ न ये दिल-ए-करार। आओ न करो हमसे भरपूर प्यार । कहने की आज कोई जरूरत नही । आओ न कर लो तुम विहार । एक तेरे प्यार के अलावा धरा... Read more

कवि प्रदीप और मेरी कोरोना के संदर्भ मे पंक्तिया

पूरे देश मे आज ये क्या हो गया है । महामारी के पीङा से सारा अरमा ढह गया है । कैसी ये मनहूस घङी है । सबकी अपनी आन पड़ी है । कोरोना ... Read more

पैदल चल दिए

भूख -प्यास से तङप रहे सब । इस कोरोना की महामारी मे । खासकर उनको जो कमाने गए थे शहरो मे । यातायात के साधन सब बंद है इस आफत की अंगङ... Read more

दिल का तराना

दिल की लगी है दिलो मे पर दिल को किसी से लगाना नही । मतलब की है ये दुनिया पर किसी को कभी आजमाना नही । थक मै हूं चुकी द... Read more

चाहत की तलाश

हमको भी देखो । हमे भी पढो न । कोई तो आओ न । मन है उदास । न जाने क्यूं । कोई तो आकर बहलाओ न । जी सकता नही हूं मै । तेरे बैगर त... Read more

उफ़ 2

बजा के पायल मुझको नही सोने देती । और खनका के चूङिया मुझको नही सोने देती । मै अगर दूर चला जाऊं तो बेचैन लगे । पर मुझे पास भी अपने ... Read more

उफ़

आंख मिलती है मगर शर्म से झुक जाती है । वो मुझे जब भी देखती है मुस्कुराती है। पास रहने पर भले कुछ न लगे । जब कभी दूर हो तो याद ब... Read more

दुनिया रंगमंच है *(विश्व रंगमंच दिवस 27 मार्च )

अपना अभिनय दिखा । कभी हंसा देते कभी देते रूला । पर्दे पर वे सब कुछ जता देते । जीवन की सच्चाईयो से हमे । रूबरू करवा जाते है । का... Read more

तू ही इक जीने का सहारा है

घटा चाँदनी रातो मे, क्या नजारा है । तू ही तो इक मेरे जीने का सहारा है । तू बरस जा मेरे ऊपर अंग-भंग कर जा । मै डूब जाऊं तुझमे ऐसा ... Read more

दलितो की हुंकार

काटो सवर्ण जाति के शिराओ को । देखो उसमे क्या खून नही । दलितो की भांति सताओ उनको । देखो क्या उनमे जुनून नही । रखो भूखे उनको । दे... Read more

वाणी को वीणा की मधुर तान बना दो

एक किसान ने अपने पड़ोसी की निंदा की । अपनी गलती का एहसास होने पर वह पादरी के पास क्षमा मांगने गया । पादरी ने उससे कहा कि वह पंखो से भ... Read more

जीवन एक गूंज है

एक छोटा बच्चा अपनी मां से नाराज होकर चिल्लाने लगा, "मै तुमसे नफरत करता हूं । उसके बाद वह फटकारे जाने के डर से घर से भाग गया । वह पहा... Read more

पौष्टिक फल नाशपाती

● नाशपाती का पेङ पर्णपाती होता है, जो गुलाब के परिवार का सदस्य है । इसकी पैदावार पहले यूरोप और एशिया मे हुई थी ।इसकी खेती चीन मे 11... Read more

हारते -हारते जीते अब्राहम लिंकन

एक आदमी की जिंदगी की कहानी बङी मशहूर है । यह आदमी 21 साल की उम्र मे व्यापार मे नाकामयाब हो गया; 22 साल की उम्र मे वह एक चुनाव हार ग... Read more

नकारात्मक सोच वाले लोग

एक चील का अण्डा किसी तरह एक मुर्गी के घोंसले मे चला गया और बाकि अण्डो के साथ मिल गया । समय आने पर अण्डा फूटा । चील का बच्चा अण्डे से... Read more

पाकिस्तानी विरोधी नारे

पाकिस्तान को समझाना । भैंस के आगे बीन बजाना । सीधे अंगुली से घी नही निकलता । मुश्किल है लातो के भूत को बातो से समझाना । बहुत ब... Read more

बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर शान्ति के अग्रदूत

संविधान बनाकर असली आजादी दिलाया । बाबा ने, बाबा ने । हमे जीना सीखाया । बाबा ने, बाबा ने । गूंगे को जबान दिया । बाबा ने बाबा ने ... Read more

परिस्थितियो के सामने सबको झुकना पड़े

चाहे पत्थर तोड़ना पड़े, चाहे खून जलाना पड़े । परिस्थितियो के तो सामने सबको झुकना पड़े । देवता भी न तो बच सके जब हम ग्रन्थ उठा के पढे ।... Read more

आसमान की तरफ भी देखो इक हसीना है

ये घूँट -घूँटकर जीना भी कोई जीना है । एक बार आसमान की तरफ भी देखो । वहां भी इक हसीना है । सौंदर्य उसका देखकर । आती न नींद सेजपर ... Read more

रूपये से प्यार

प्यार इतना न करो की । जीना दुश्वार हो जाय । आंच इतना न दो की । अनाज जलकर खाक हो जाय । प्यार नही ये मेरे साथ तुमने किया है खेल प... Read more

पता न चला

आंखो से ही बात हो गई पता न चला । न जाने उनसे कब मुलाकात हो गई । कुछ पता न चला । मै तो देखता रहा उनके चेहरे को । कब घटा छा गई पता... Read more

तुम युवा हो

नयी उमंग है, नया खून है, नयी है ये जवानी । आपके मे तो सबकुछ करने की रहती है सनसनी । चाहे तो जग को हंसा दो, चाहे तो जग को रूला दो ।... Read more

प्यार की राह

तुम जा रही कहा । इस प्यार के राह पे । कही न मिल जाए कोई । बेवफा सनम अनचाह मे । रखा करो कदम मजबूती से । इश्क, प्यार, मोहब्बत की ... Read more

मोहब्बत का देवदूत

आप का ही प्यार मेरी जिंदगी मे । आपका ही बस खुमार है । ये आसमां की चांदनी भी तेरे आगे बेकार है । कुछ भी नही है तुझसे । फिर भी न ज... Read more

तुमको क्या कहूं

तुम्हे चांद कहूं या आफताब कहूं । या फिर कोई शवाब कहूं । जो भी है तेरी नजरो को देखकर । हम तो तुम्हे लाजवाब कहूं । नाकनटी सी लगती ... Read more

सब है आपके लिए

और भी तुमको क्या चाहिए । हमसे तो कह दो न । ताज भी मांगो तो भी दे दूं । बस हमसे शरारत कर लो न । मन है तो प्यासा देती दिलासा । क्... Read more

कृष्ण हठ

मै गैया चराने नही जाऊंगा । दाऊ ने बहुत खिझायो । साल दो साल नही जाऊंगा । दाउ ने बहुत खिझायो । पहला संदेशा गोपियो का आया -2। अच्छ... Read more

बेतहाशा, बेतहाशा तुझको ही चाहूं मै

मै तुम्हें चाहूं या न चाहूं। पर तेरा दीदार किए । रह न पाउं मै । बेतहाशा, बेतहाशा तुझको ही चाहूं मै । तुमको पाने के लिए । क्... Read more

इस समय आप जो भी कुछ है अपनी सोच और पूर्व कर्मो के परिणाम से है । हौसले से सब कुछ होते है ।

वे भी कुछ कहना चाहते है जिनके आवाज नही होते । उनकी भी तकदीर होती है जिनके हाथ नही होते । जब इन्हे देखता हूँ तो हौसला जग जाता है । ... Read more

मच्छर

कीट है बङा खूंखार । खून है जिसका आहार । सफेदा -नीम की पत्ती सुलगाकर । कर दो इसका समूल नाश । मच्छरदानी मे देखो ये न घूंस पाए । ग... Read more

मां का गुणानुनाद

मां के वीणा से ये कैसी निकल रही तान है । इसी से चमन मे अमन, राग का विहान है । हे! मां तुझसे ही चल रहा ये जहान है । हाथो मे देख शं... Read more

शंका ही भूत

इस पाठ मे एक ऐसे गांव का वर्णन है कि इस गांव के वासी भूतो मे विश्वास रखते थे ।विश्वास करे या न करे दिन -प्रतिदिन घटनाए जो होती । ... Read more