Rittu Tiwari

Joined August 2019

Copy link to share

#समाज

ये जो तुम्हारा अनोखा 'राज 'है , कि तुमने पहना हैवानियत का 'ताज' है , ये जो तुममें ढकोसलों का 'साज' है , जिसपे तुमको इतना 'नाज 'है... Read more

परछाईं

आज देखी एक परछाईं , बिखरी हुई जुल्फें , फटा हुआ आँचल , चीथड़े से कपड़े , खून से सने , कुछ डरी हुई सी , कुछ सहमी हुई सी , लड़खड़ात... Read more