रेखा (Line_Lotus) कापसे

बैतूल,मध्यप्रदेश

Joined November 2018

नाम-रेखा कापसे, पता-होशंगाबाद मध्यप्रदेश, शिक्षा-12th+GNM
व्यवसाय-स्वास्थ्य विभाग”SNCU”
“अभी तो चलना शुरु किया है,जहन मे ढलना शुरू किया है।
मन तो है,आसमां तक जाउ,छुकर गगन, धरा पर आऊ।
हाल ए दिल ,मै तुमको सुनाउ,लिखते लिखते…..कलम बन जाउ।।।”
लिखने का शौक है……..नया नया अनुभव हैं।

Copy link to share

बरखा रानी का आगमन

चारो तरफ हरियाली छाई बरखा आई बरखा आई बादल गरजा, गड़-गड़-गड़ बारिश आई छम-छम-छम धरा का रुप हैं, अनुपम बिखरा चारो ओर, रंग हरा है... Read more

मायका और जायका

न फीका होता हैं कभी जायका जब भी आओ, खुशहाल कर देता हैं, मायका माँ की ममता,खुब बरसती पापा के मन में खुशियाँ लहरती भाई हर बात का... Read more

"मैं "

वो उसके "मैं " में रहता था ना,मेरे "मैं" को कुछ कहता था फिर एक दिन, उसका अहं टूट गया मुझसे, मेरा भीं वहम, रूठ गया उसका "मैं" और ... Read more

जन्मदिन

हम फुले नहीं समाये थें मेरी कोख में,जब तुम आए थें लम्हा वो, खुशी का फंडा था बाहर मौसम,बहुत ही ठंडा था जैसे-जैसे फिर, तुम बड़े ... Read more

अज्ञात, नन्हें बच्चे के मन से

वो कमसीन, कली होगी, शायद, पर मैं तो था,उसका ही फूल बिना रजामंदी सा था,मैं, या, थी कोई, अनचाही उसकी भूल मैं कतरा, उसके खून का था, ... Read more

वक्त

वक्त की जादूगरी का यूँ हिसाब न लगाओ.... यें ठहरता नहीं.. मगर कईं मुखड़ों सें वाकिफ़ करा देता हैं छुपाना चाहें जमाना, कितना हीं कु... Read more

बारिश और मन की यादें

बारिश की बूंदे ज्यों-ज्यों ,तन को भींंगा रहीं थीं। अंतर्मन में उसकी याँदे,अपनी कसक जगा रहीं थीं।। मैंने पूछा, रे मन! तू बाँवला... Read more

योग दिवस

गर रोज़ सुबह शाम तुम योग को करते जाओगे स्वस्थ मन और निर्मल काया यह ,ताउम्र तुम पाओगे रोगो को ये दूर भगाए स्फूर्ति ताकत, हरदम... Read more

एक पिता का साया

महसुस किया,बिन कहे, अपना धर्म निभाया हैं मेरी परछाईं संग छुपा, एक पिता का साया हैं जब नौ महीने, माँ के गर्भ में, हलचल होती रही ... Read more

हाँ, मैं एक हाऊस वाईफ हूँ

घर में हर दिल की फरमाईश हूँ हाँ, मैं एक हाऊस वाईफ हूँ अर्द्धांगिनी जिसकी बन के आई वो कहते मुझको वाईफ हैं बिन कहे, मैं उनके मन... Read more

बेटियों का मन

बच्चो की एक कविता है मछली की कहानी कहती है मछली जल की रानी है जीवन उसका पानी है हाथ लगाओ तो डर जाएगी बाहर निकालो तो मर जाएगी ... Read more

एक

बेटियां होती सब एक सी, जाति धर्म की खटास इन पर क्यों आजमाते हो क्या इतने नामर्द हो गये जो इन पर दरिंदगी अपनी, दिखलाते हो Read more

मुक्तक

कर बद्ध सभी से वंदन है रोकना अब बेटियों का कृंदन है ऐसी सजा हो, हैवानियत की, जो कांप जाए, दरिंदो का, तन मन है Read more

पापियों का संसार

मानव वहसी बन गया, कुत्ते रहे वफादार कालिख मन मे छुपा रखी, मुखड़े है ईमानदार सुनी सड़के,जंगल, झाड़ियाँ, नाले हो गये है भौचक्के,शर्... Read more

कैसी विडंबना ख्यालों से

कब तक चीख दबी रहेगी, हैवानो के हाथो से कब तलक तड़पेगी नारी, जुल्मी, विक्षिप्त, विचारों से कहने को,ब्रह्मांड की शक्ति है, करते सब उ... Read more

आधुनिक जगत मे, नारी

आधुनिकता का मुखौटा लिए हम आज भी, वही खड़े है नारी जब , चाहे आगे बढ़ना उसे अड़ाने पर अड़े है परनार को हौसला दे बात आजादी की कर... Read more

"तंबाकू सेहत के लिए, बड़ी हानिकारक है"

#विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर विशेष# तंबाकू सेहत के लिए, बड़ी हानिकारक है फिर भी लोग इसे खाते हैं चाव से, बड़े चबाते है मना कर द... Read more

तू नहीं तो.. तेरी आस सही

प्यार नहीं तो तकरार सही इकरार नहीं तो इनकार सही जी ले जिंदगी, हो हर हाल मे खुश तु पास नहीं तो, तेरी आस सही तेरी बातों मे मेरा ... Read more

प्यार नहीं तो....... सही

प्यार नहीं तो तकरार सही इकरार नहीं तो इनकार सही जी ले जिंदगी, हो हर हाल मे खुश तु पास नहीं तो, तेरी आस सही तेरी बातों मे मेर... Read more

मुक्तक

इकरार नहीं तो, इनकार सही प्यार नहीं तो, तकरार सही तुम खुश रहो, जी हर लम्हा तुम पास नहीं तो, तेरी आस सही Read more

मुक्तक

खुली आँखों के वो सपने थे शामिल कुछ उसमे अपने थे स्नेह, आशिर्वाद, दुआओं, से मिली मंजिल, खुशहाल वो लम्हें थे Read more

एक परिचारिका

सारी दुनिया जब,नींद के आगोश मे सोई रहती हैं इन सबसे परे तब वो,सेवा भाव मे खोई रहती है सब त्योहार मेंं घर पर, अपनो संग आनंदित रहते ... Read more

अब मतदान की बारी है

थमा प्रचार, हुआ बंद शोरगुल हुई शुरू महापर्व ,की तैयारी है चल मतदाता, काम सब छोड़ो सबसे पहले अब,मतदान की बारी है न किसी दबाव मे ... Read more

मुक्तक

ग्लोबल वार्मिग से अब तो,ग्लेशियर पिघलने लगे है दिनकर भी रोस मे,आग इस कदर उगलने लगे है प्रक्रति,बदलने की जिद मे,मानव ने हर हद तोड़ द... Read more

मुक्तक

आज फिर तेरी रुसवाई से, मन फुटकर रोया है खामोश ,टुटे हुए अशको ने,फिर रुखसार भिगोया है इंतजार कब तलक करे,तेरी ईश्क की खुदाई का विश्... Read more

शादी की सालगिरह

सात फेरो के बंधन के,बीत गये चंद साल कुछ वो समझे ,कुछ तुमने जाना,एक-दुजे मन का हाल सुख, दुःख,धूप और छांव, राह के है ये पड़ाव यूं ही... Read more

नेताजी का चुनावी साल

दिखाई दिए नेताजी बरसों बाद, गली मुहल्ले मे, लगता हैं आज,फिर से ,चुनावी साल आ गया। गरीबी, महंगाई और,किसानों की आत्महत्या मुद्दों... Read more

शहीद के घर.....एक होली.....ऐसी भी.....

एक बच्चा, जिसके पापा शहीद हुये है,और होली पर घर नही आये है...वो अपनी माँ से पूछता है........ न वाट्सएप पर मेसेज किया, न विडिओ का... Read more

होली आई रे...

गीत Mar 19, 2019 होली आई होली आई होली आई रे….. रंग बिरंगे फूलो की, डोली आई रे। रंग गुलाल उड़ा,हवा की फुहार मे मन का मैल धुला,... Read more

अभिनंदन

सकुशल लौटा वीर, शौर्य पुत्र अभिनंदन है। मन प्रफुल्लित,हम गर्वित, वायु पुत्र को हमारा वंदन है। शीतल हुआ ,वापसी से माँभारती का ... Read more

पुलवामा अटैक

कंधार, संसद,पठानकोट.और पुलवामा मे कर विस्फोट पाल वहम,तुम सोच रहे ,जंग जीत गये, मां भारती के वीर जवान, एक माँ के सच्चे सपूत और मीत... Read more

पुलवामा अटैक

कंधार, संसद,पठानकोट.और पुलवामा मे कर विस्फोट पाल वहम,तुम सोच रहे ,जंग जीत गये, मां भारती के वीर जवान, एक माँ के सच्चे सपूत और मी... Read more

"विदाई समारोह"

आपमे सबसे खास... "होठो पर सदा मुस्कान चेहरे पर शकुन का भाव हँसमुख बनकर सबसे मिलना ऐसा सुलझा सरल आपका स्वभाव" आपसे सीखा... ... Read more

"नारी "टीस"

नारी ने ही तुझको जन्म दिया, गोद मे उसकी पला हैं, पोषक है वो तेरी, ऊँगली पकड़ के पग पग चला हैं। हरपल साथ निभाया, मालिक फिर भी तु बन ... Read more

मन की उड़ान

अभी तो चलना शुरु किया है, जहन मे ढलना शुरू किया है। मन तो है,आसमां तक जाउ, छुकर गगन, धरा पर आऊ। नभचर बन मैं, थिरकू गगन मे, ख्... Read more

"माँ तु सर्वश्रेष्ठ"

तेरे सजल नैनो से, झलकती सदा प्रीत है। हरपल लाड़-दुलार, तेरे आँचल की रीत है।। तेरी काया मे रह,जन्म तुमसे ही पाया है। तु ममता की मुर... Read more