Rahul Dwivedi

Joined January 2017

Copy link to share

कभी सोचा है ...

सुनो, इतना भी मुश्किल नहीं है जीना ... सोचो , जब भी कभी तुमने अपने आपको अकेला महसूसा है कितनी द्फ़े डबडबाई आँखों से बमुश्... Read more

कुछ टूटन की आवाज़ सुनी

कुछ टूटन की आवाज सुनी है कुछ कुछ तन्हा कुछ उदास कुछ धुंधलके सा मद्धम कुछ बेहद खास । कुछ अनसुलझे से परत कुछ बेवजह सी बात कुछ ... Read more