रामबाबू ज्योति

दौसा (राजस्थान) 303303

Joined January 2018

वरिष्ठ उप जिला शिक्षा अधिकारी कम ब्लाॅक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी जहाजपुर, भीलवाड़ा

Books:
हिंदी काव्य सिद्धांत (प्रकाशक-राजस्थान प्रकाशन, त्रिपोलिया बाजार-जयपुर), सामाजिक क्रांति के अग्रदूत महात्मा ज्योतिबा फुले (प्रकाशक-साहित्यागार, गली धामानी, चौड़ा रास्ता,जयपुर) राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान नई दिल्ली के बेसिक शिक्षा पाठ्यक्रम की पुस्तकों के लेखक। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा प्रकाशन की पुस्तकों में लेखन। कई पुस्तकों का सम्पादन/सहसम्पादक। विभिन्न पत्र पत्रिकाओं व दैनिक समाचार पत्रों में समय-2 पर रचनाओं का प्रकाशन।

Awards:
महामहिम राष्ट्रपति द्वारा राष्ट्रीय शिक्षक सम्मान(विज्ञान भवन, नई दिल्ली) राजस्थान सरकार द्वारा राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान (बिड़ला सभागार, जयपुर) पूर्वोत्तर हिंदी अकादमी सम्मान (शिलांग) पर्यावरण रत्न अवार्ड , डॉ राधाकृष्णन अवार्ड, श्री चतरसिंह यादव स्मृति सम्मान , श्री शिवनारायण रावत स्मृति सम्मान, अनुराग साहित्य सम्मान। सराहनीय जनसेवा व राजकीय उत्तरदायित्व निर्वहन एवज जिले व ब्लाॅक स्तर पर राजकीय सम्मान। कई सामाजिक साहित्यिक संस्थाओं की ओर से सम्मानित, पुरस्कृत।

Copy link to share

नियती

जंगल में एक गर्भवती हिरनी बच्चे को जन्म देने को थी। वो एकांत जगह की तलाश में घुम रही थी, कि उसे नदी किनारे ऊँची और घनी घास दिखी। उसे... Read more

बच्चे की सीख

बचपन से ही मुझे अध्यापिका बनने तथा बच्चों को मारने का बड़ा शौक था। अभी मैं पाँच साल की ही थी कि छोटे-छोटे बच्चों का स्कूल लगा कर बैठ... Read more

सुख की खोज

*सुख की खोज* *एक बार की बात है की एक शहर में बहुत अमीर सेठ रहता था| अत्यधिक धनी होने पर भी वह हमेशा दुखी ही रहता था| एक दिन ज़्य... Read more

शेर और लोमड़ी

*एक बार एक किसान जंगल में लकड़ी बिनने गया तो उसने एक अद्भुत बात देखी।* *एक लोमड़ी के दो पैर नहीं थे, फिर भी वह खुशी खुशी घसीट कर चल... Read more

जोग और भोग

*जोग और भोग* एक राजा ने विद्वान ज्योतिषियों और ज्योतिष प्रेमियों की सभा बुलाकर प्रश्न किया "मेरी जन्म पत्रिका के अनुसा... Read more

क्रोध

सेठ राम दयाल अपनी दुकान पर बेठे थे दोपहर का समय था इसलिए कोई ग्राहक भी नहीं था। सेठ जी ने दुकान के कोने में एक दीवान रखा हुआ... Read more

मन के हारे हार है मन के जीते जीत

सारा योरोप यूनान की फौजों से संत्रस्त था। अजेय समझी जाने वाली यूनानियों की धाक उन दिनों सब देशों पर छाई हुई थी और जिस पर भी आक्रमण ह... Read more

आशा

एक नगर में एक मशहूर चित्रकार रहता था । चित्रकार ने एक बहुत सुन्दर तस्वीर बनाई और उसे नगर के चौराहे मे लगा दिया और नीचे लिख दिया क... Read more

राजा की तश्वीर

एक राजा था जिसकी केवल एक टाँग और एक आँख थी।उस राज्य में सभी लोग खुशहाल थे क्यूंकि राजा बहुत बुद्धिमान और प्रतापी था।एक बार राजा के व... Read more

बुजुर्गों को सम्मान

*एक बच्चे को आम का पेड़ बहुत पसंद था।* *जब भी फुर्सत मिलती वो आम के पेड के पास पहुच जाता।* *पेड के उपर चढ़ता,आम खाता,खेलता और थ... Read more

संगति परिवेश और भाव

एक राजा अपनी प्रजा का भरपूर ख्याल रखता था. राज्य में अचानक चोरी की शिकायतें बहुत आने लगीं. कोशिश करने से भी चोर पकड़ा नहीं गया. . ... Read more

अपने दायरे से बाहर निकल कर देखो तो

एक चूहा एक कसाई के घर में बिल बना कर रहता था एक दिन चूहे ने देखा कि उस कसाई और उसकी पत्नी एक थैले से कुछ निकाल रहे हैं। चूहे ने सोच... Read more

सहभागी बनें

एक बार एक अध्यापक कक्षा में पढ़ा रहे थे अचानक ही उन्होंने बच्चों की एक छोटी सी परीक्षा लेने की सोची । अध्यापक ने सब बच्चों से कहा कि ... Read more

ईश्वर दयालु है

एक राजा का एक विशाल फलों का बगीचा था. उसमें तरह-तरह के फल होते थे और उस बगीचा की सारी देखरेख एक किसान अपने परिवार के साथ करता था. वह... Read more

गुस्से में

एक बार एक संत अपने शिष्यों के साथ बैठे थे। अचानक उन्होंने सभी शिष्यों से एक सवाल पूछा। बताओ जब दो लोग एक दूसरे पर गुस्सा करते हैं तो... Read more

कबूतर

एक प्राचीन मंदिर की छत पर कुछ कबूतर राजीखुशी रहते थे।जब वार्षिकोत्सव की तैयारी के लिये मंदिर का जीर्णोद्धार होने लगा तब कबूतरों को म... Read more

अच्छाई बांटिए

एक दिन कॉलेज में प्रोफेसर ने विद्यर्थियों से पूछा कि इस संसार में जो कुछ भी है उसे भगवान ने ही बनाया है न? सभी ने कहा, “हां भगवान... Read more

सोच अपनी अपनी

सोच अपनी अपनी एक गाँव में दो किसान रहते थे।दोनों के पास थोड़ी थोड़ी ज़मीन थी, उसमें ही मेहनत कर अपना और अपने परिवार का गुजा... Read more

अपने जैसा दूसरा

एक अजनबी मुसाफिर किसी गाँव में पहुँचा। गाँव में दाखिल होते ही उसे कुछ लोग मिल गए। एक बुजुर्ग को संबोधित करते हुए उसने पूछा, ‘‘इस गाँ... Read more

दादा जी का चश्मा

राघव कक्षा पांच मैं प्रवेश पा गया .... वह क्लास मैं हमेशा से अव्वल आता रहा है ! पिछले दिनों तनख्वाह मिली तो मैं उसे नयी स्कूल ड्... Read more

असली पूंजी

एक दिन एक राजा ने अपने तीन मन्त्रियो को दरबार में बुलाया, और तीनो को आदेश दिया के एक एक थैला ले कर बगीचे में जाएं .., ... Read more

मधुर व्यवहार

एक रात एक राजा ने स्वप्न में देखा कि एक परोपकारी साधु उसे कह रहा था,........ "बेटा! कल रात को एक विषैला सांप पिछले जन्म... Read more

अपनापन

"पापा मैंने आपके लिए हलवा बनाया है" 11साल की बेटी अपने पिता से बोली जो कि अभी office से घर मे घुसा ही था, पिता "वाह क्या बात है ,ला ... Read more

पहचाने खुद को

एक योद्धा, जिसे उसके शौर्य ,निष्ठा और साहस के लिए जाना जाता था, कुछ समय से वह स्वयं को कुछ निराश सा अनुभव करने लगा था। एक... Read more

समय की कीमत

एक साधु था , वह रोज घाट के किनारे बैठ कर चिल्लाया करता था ,”जो चाहोगे सो पाओगे”, जो चाहोगे सो पाओगे।” बहुत से लोग वहाँ से गुजरते ... Read more

संगत का असर

एक बार एक राजा शिकार के उद्देश्य से अपने काफिले के साथ किसी जंगल से गुजर रहा था | दूर दूर तक शिकार नजर नहीं आ रहा था, वे धीरे धीरे घ... Read more

आखिरी धन

1 दिन एक राजा ने अपने 3 मन्त्रियो को दरबार में बुलाया, और तीनो को आदेश दिया के एक एक थैला ले कर बगीचे में जाएं .., और... Read more

तीन सीखें राजा की

एक राजा के तीन पुत्र थे, एक दिन राजा के मन में आया कि पुत्रों को को कुछ ऐसी शिक्षा दी जाये कि समय आने पर वे राज-काज सम्भाल सकें. ... Read more

बोल तो मीठा बोल

एक बार एक राजा ने स्वप्न में देखा कि उसके सारे दाँत टूट गये है, केवल सामने का एक बड़ा दाँत ही मुँह में बचा हैं। सुबह राजा न... Read more

देवरानी और जेठानी

*देवरानी और जेठानी* एक देवरानी और जेठानी में किसी बात पर जोरदार बहस हुई और दोनो में बात इतनी बढ़ गई कि दोनों ने एक दूसरे का मुँह त... Read more

सच्ची मित्रता

*🤝🏻सच्ची मित्रता🤝🏻* एक बार की बात है दो युवक थे उनका आपस मे परिचय हुआ । धीरे उनकी मित्रता और भी घनिष्ठ हो गई।एक दूसरे के घर जान... Read more

देने वाला कौन

*देने वाला कौन ?* . आज हमनें भंडारे में भोजन करवाया। आज हमनें ये बांटा, आज हमने वो दान किया...। । . हम अक्सर ऐसा कहते और मानते ... Read more

जीवन का मूल्य

*जीवन का मूल्य* सुनसान जंगल में एक लकड़हारे से पानी का लोटा पीकर प्रसन्न हुआ राजा कहने लगा― हे पानी पिलाने वाले ! किसी दिन मेरी रा... Read more

बेटी

एक गरीब परिवार में एक सुन्दर सी बेटी ने जन्म लिया.. बाप दुखी हो गया बेटा पैदा होता तो कम से कम काम में तो हाथ बटाता,, उसने ... Read more

छोटी छोटी बाधाओं को पहाड़ ना समझें

*छोटी-छोटी बाधाओं को पहाड़ न समझे* एक किसान था। उसके खेत में एक पत्थर का एक हिस्सा ज़मीन से ऊपर निकला हुआ था । जिससे ठोकर खाक... Read more

जगत की रीत

🙏जगत की रीत 🙏 एक बार एक गाँव में पंचायत लगी थी | वहीं थोड़ी दूरी पर एक संत ने अपना बसेरा किया हुआ था| जब पंचायत किसी निर्णय पर ... Read more

जीवन का मूल्य

सुनसान जंगल में एक लकड़हारे से पानी का लोटा पीकर प्रसन्न हुआ राजा कहने लगा― हे पानी पिलाने वाले ! किसी दिन मेरी राजधानी में अवश्य आना... Read more

रिश्ते अनमोल है

अच्छे अच्छे महलों मे भी एक दिन कबूतर अपना घोंसला बना लेते है ... सेठ घनश्याम के दो पुत्रों में जायदाद और ज़मीन का बँ... Read more