डॉ. रजनी अग्रवाल 'वाग्देवी रत्ना'

महमूरगंज, वाराणसी (उ. प्र.)

Joined January 2017

 अध्यापन कार्यरत, आकाशवाणी व दूरदर्शन की अप्रूव्ड स्क्रिप्ट राइटर , निर्देशिका, अभिनेत्री,कवयित्री, संपादिका समाज -सेविका।

उपलब्धियाँ- राज्य स्तर पर ओम शिव पुरी द्वारा सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री पुरस्कार, काव्य- मंच पर “ज्ञान भास्कार” सम्मान, “काव्य -रत्न” सम्मान”, “काव्य मार्तंड” सम्मान, “पंच रत्न” सम्मान, “कोहिनूर “सम्मान, “मणि” सम्मान  “काव्य- कमल” सम्मान, “रसिक”सम्मान, “ज्ञान- चंद्रिका” सम्मान ,

Copy link to share

गीत

वीभत्सता का क्रूर नृत्य परिणाम था , संहार का । प्रण मौर्य के , विस्तार का ।। चहुँ ओर थीं , लाशें पड़ीं । बिन दाह के , जाती स... Read more

गीत

वीभत्सता का क्रूर नृत्य परिणाम था , संहार का । प्रण मौर्य के , विस्तार का ।। चहुँ ओर थीं , लाशें पड़ीं । बिन दाह के , जाती स... Read more

गीत

"मूक-व्यथा मैं किसे सुनाऊँ?" ------------------------------------ प्रीति राम की,समझ न पाऊँ। मूक -व्यथा मैं,किसे सुनाऊँ? भक्त... Read more

गीत

'रेत' #सघन मित्रवत साथ रेत का, तेरी याद दिलाता है। मंद पवन का झोंका छूकर, दे संदेश रुलाता है।। #रेत समेटे अहसासों की, स... Read more

गीत

“आशाओं के दीप” आशाओं के दीप जलाकर सुंदर स्वप्न जगाए रखना, नया जोश उल्लास भरे तुम सुरभित सुमन खिलाए रखना। मन में उपजी प्रीत ... Read more

गीत

मुखड़ा ---------- रंग वासंती छिने हैं, ज्वलित मन निर्जन हुआ है। ओढ़कर संत्रास मरुधर,तप्त अब जीवन हुआ है। अंतरा --------- (... Read more

गीत

विषय- "शपथ" आज शपथ खोओ तुम वीरों माँ का मान बढ़ाओगे, भारत वीरों की जननी है समता भाव जगाओगे। आतंकी हमलावर छाए इनको मार भगाओगे,... Read more

गीत

"बेवफ़ा सनम" दिल में बसाके मुझे,हुई तू पराई रे बेवफ़ा सनम तुझसे मिली क्यों जुदाई रे? (1) वादा किया था तुमने,साथ तुम निभाओगी ... Read more

गीत

मुखड़ा- घटा घिरी घनघोर गगन में, गीत प्रेम के गाती है। चंचल काया नर्तन करती, राग-रंग बरसाती है। अंतरा-(1) लौट शहर से जब घर आता ... Read more

गीत

मुखड़ा- ढोल-नगाड़े बाज रहे हैं,शाम सुहानी आई है। 'विश्व-भवन' में धूम मची है,द्वार बजी शहनाई है। अंतरा (1) पीत रंग के लहँगा-चो... Read more

गीत

रक्षा बंधन (गीत) ******** तुम्हें नेह रोली तिलक लगाऊँ बढ़े प्रीत अपनी भैया ये चाहूँ तुम्हें बाँध राखी खुशियाँ मनाऊँ रक्षा कवच... Read more

गीत

परदेसी मीत मेरे मेरी प्रीत बुलाती है, बन जाओ गीत मेरे तेरी याद सताती है। बारिश के मौसम में बूँदों की सरगम में चूड़ी की खनख... Read more

गीत

"चाय नशीली बन जाती"(गीत) ******************* गर्म चाय की प्याली थामे मन की बातें कह आती। प्यास बुझाती प्रिय की अपने चाय नशीली... Read more

गीत

*बिगडी बना दो हे गोपाल* --------------------------------- बनकर माँझी पार उतारो बिगड़ी बना दो हे गोपाल! अँधियारा मन विचलित करता... Read more

गीत

*भ्रूण की पुकार* ---------------------- प्रभु कृपा से गर्भ में आई मुझे बचा लो मेरी माँ, बोझ नहीं हूँ इस दुनिया पर गले लगा लो ... Read more

गीत

"बुझता दिन बहुत रुलाता है" *********************** देख विरह की तपती संध्या बुझता दिन बहुत रुलाता है, दिवस ढले अँधियारा आकर प्... Read more

गीत

विरह गीत "बहुत रोते सनम तुम बिन" बसे किस देश में जाकर यहाँ हमको भुला करके, बहुत रोते सनम तुम बिन रात सपने सजा करके। (1)छु... Read more

गीत

"नन्हीं परी" ********* ख्वाबों की नगरी से चलकर घर परी अनोखी आई है, अरमानों की डोली चढ़कर मन द्वारे खुशियाँ लाई है। अलसाई किर... Read more

गीत

"आशाओं के दीप" आशाओं के दीप जलाकर सुंदर स्वप्न जगाए रखना, नया जोश उल्लास भरे तुम सुरभित सुमन खिलाए रखना। मन में उपजी प्रीत ... Read more

गीत

"शुष्क धरा की प्यास बुझाएँ" *********************** वृक्ष, पवन, जल छिनते जाते जन-जीवन को आज बचाएँ दूषित नदियाँ सूख रही हैं शुष्... Read more

गीत

*बूंदों की खनखन* बारिश में बूँदों की खनखन आहट तेरी लाती है धड़कन में साँसों की सरगम गीत प्रेम के गाती है। घटा घिरी घनघोर गगन ... Read more

गीत

"अविरल नीर बरसता है" ******************** समझ न पाऊँ प्रेम विधा मैं, उर में नेह उपजता है। रोम-रोम मदमाता मेरा, अविरल नीर छलकता ... Read more

गीत

"दीप जला रख छोड़ा है" ******************** काली रात विरह की आई, दीप जला रख छोड़ा है। सजल नयन सूरत को तरसें, तम से नाता जोड़ा है... Read more

गीत

*जीवन साथी* जीवन पथ पर साथ चले हम थामे बाहें बाहों में चूमे इक-दूजे के छाले पाए थे जो राहों में। कितने पतझड़ सावन आए कितने पथ... Read more

गीत

*प्रियतम मेरे* ********** ... Read more

गीत

'परदेसी मीत' परदेसी मीत मेरे मेरी प्रीत बुलाती है, बन जाओ गीत मेरे तेरी याद सताती है। बारिश के मौसम में बूँदों की सरगम म... Read more

गीत

'अधूरे सपने' गीत' *************** साथ मिला होता जीवन में , किलकारी हँसती आँगन में। उदित भानु की लाली लेकर, सिंदूरी माँग सजा... Read more

मुक्तक

"घूँघट/नकाब/हिज़ाब/पर्दा ************************ (1)गिराके शबनमी #घूँघट सुहानी रात करती हो। चला खंज़र निगाहों से ग़जब आघात करत... Read more

गीत

"माँ" **** नादानी में मैंने माँ को कितना नाच नचाया था। माँ ने मुझको गोदी लेकर ढेरों लाड़ लड़ाया था। बारिश की बूँदों में मा... Read more

गीत

"पाती " बैठ सँजोए कितने सपने यादों पर मनमीत लिखूँ, महक उठी बेला उपवन में एक नवल मैं गीत लिखूँ। जूही, बेला केश सजाकर तन-मन... Read more

गीत

"मस्त पवन का झोंखा" बन पवन का एक झोंखा डालियों से खेलता हूँ छू समंदर की लहर मैं मोतियों को चूमता हूँ। खेत में घुस मैं दिवा... Read more

गीत

विरह गीत साँझ-सवेरे खग का कलरव मुझको बहुत रुलाता है, भीगी पलकें सागर का तट तेरी याद दिलाता है। तुम बहार मेरे जीवन की मन मे... Read more

गीत

"मुझे बचालो मेरी माँ!" प्रभु कृपा से गर्भ में आई मुझे बचा लो मेरी माँ, बोझ नहीं हूँ इस दुनिया पर गले लगा लो मेरी माँ! मैं आ... Read more

गीत

"मुझे बचालो मेरी माँ!" प्रभु कृपा से गर्भ में आई मुझे बचा लो मेरी माँ, बोझ नहीं हूँ इस दुनिया पर गले लगा लो मेरी माँ! मैं आ... Read more

कृष्ण का भक्ति गीत

कृष्ण का भक्ति गीत ***************** बनकर माँझी पार उतारो बिगड़ी बना दो हे गोपाल! अँधियारा मन विचलित करता माया जग को ठगने आ... Read more

बादल

विषय:-बादल नदिया सागर नीर चुराकर बादल बनना बाकी है। शुष्क धरा पर नेह लुटाकर मेघ बरसना बाकी है। पनघट प्यासे गगन ताकते गीत अधूर... Read more

कौन मनाएगा दीवाली(गीत)

"कौन मनाएगा दीवाली?"(गीत) घर -आँगन लक्ष्मी बिन सूना, नहीं तेल, दीया, बाती। रौशन दुनिया लड़ियों से है, जगमग ज्योति नहीं भाती। ... Read more

चंचल मन भी पागल है (गीत)

"चंचल मन भी पागल है" गीत ******************* सारी रात जगा यादों में, चंचल मन भी पागल है। हल्की सी आहट बूँदों की, तेरी याद दिल... Read more

रात का विरह गीत

रात का विरह गीत ************* प्रेम पाश में मुझे बाँध कर प्रीत साथ में छल क्यों लाई ? रात के तन्हा आलम में रजत चाँदनी चमक र... Read more

"मुझे सावन रुलाता है" (गीत)

विरह गीत *********** बरसता भीगता मौसम, अगन तन में लगाता है। करूँ क्या तुम बताओ मैं, मुझे सावन रुलाता है। दिवा जब अंक में जात... Read more

"प्रीत जिया को दुलराती है" (गीत)

प्रीत जिया को दुलराती है रात चाँद के साथ बिताकर रजत चाँदनी मन भाई है। प्रमुदित मन से उन्मादित हो रजनी ने ली अँगड़ाई है। अलसाए... Read more

"प्रेम रोग मैंने पाया है" (गीत)

"प्रेम रोग मैंने पाया है" **************** मौन प्रीत का प्याला पीकर उर में प्रियवर तुम्हें बसाया। अधरों पर गीतों की सरगम बना मी... Read more

रक्षा बंधन (गीत)

रक्षा बंधन (गीत) ******** तुम्हें नेह रोली तिलक लगाऊँ बढ़े प्रीत अपनी भैया ये चाहूँ तुम्हें बाँध राखी खुशियाँ मनाऊँ रक्षा कवच... Read more

"वीर शपथ तुम आज लो" देशभक्ति गीत

जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी ... Read more

"रुदन" गीत

(६) "रुदन" ********** पुरानी याद के धुँधले कदम जब राह में आते कसक मन में रुदन करती तुम्हें हम चाह में पाते। ठिठुरती सर्द रातों... Read more

"आहट तेरी लाती है" गीत

"आहट तेरी लाती है" ************** बारिश में बूँदों की खनखन आहट तेरी लाती है धड़कन में साँसों की सरगम गीत प्रेम के गाती है। च... Read more

विरह गीत

विरह गीत ******** श्यामघटा घनघोर निहारत बूँद झमाझम गीत सुनाए, दादुर शोर हिया झुलसावत खेत हरी चुनरी लहराए। प्रीत लगी जब साजन ... Read more

विरह गीत

विरह गीत ******** श्यामघटा घनघोर निहारत बूँद झमाझम गीत सुनाए, दादुर शोर हिया झुलसावत खेत हरी चुनरी लहराए। प्रीत लगी जब साज... Read more

"वीर शपथ तुम आज लो"

जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी ... Read more