Kailash singh

Joined January 2020

Copy link to share

पुलवामा हमला:- हमारे लिए तुम आग पीकर चले गये

हमारे लिए तुम आग पीकर चले गए। मोहब्बत तुम इस कदर निभाकर चले गए।। हम खुद में खोये थे , और तुम्हारे शरीर जल रहे थे। कितनें घरो... Read more

वेलेंटाइन- तेरह तक मिली तो ठीक है, अन्यथा बजरंग दल से जुड़ जाऊँगा

तेरह तक मिली तो ठीक है, अन्यथा चौदह को बजरंग दल से जुड़ जाऊँगा। फिर कोई जो साथ दिखे, उनके फेरे... Read more

दिल्ली वालों ने क्या खेल कर दिया

दिल्ली वालों ने क्या खेल कर दिया। हिन्दू- मुस्लिम, मंदिर- मस्जिद सब फेल कर दिया। । पानी- बिजली , साफ -सफाई , वोट विकास के ... Read more

हमारे जैसा ये दिल कहाँ पाओगे

मिल जाएगें हमारे जैसे लाखों मगर हमारे जैसा ये दिल कहाँ पाओगे। जहाँ सिद्दत से तुम्हारी हिफाज़त होती है तुम ऐसी महफ़िल कहाँ ... Read more

सीनें में अभी ये आग जलने दे

सीनें में अभी ये आग जलने दे कबूल होगी दुआ तू आस पलनें दे खूबसूरत सी चांदनी रात होगी बस साझ ढ़लने दे चांद के पार जानें... Read more