शान तिरंगा है मेरा

भारत माँ को नमन करें हम , शान तिरंगा है मेरा l त्रिपुरा की माटी में हिन्दी, ज्ञानिक दर्पण मन मेरा ll प्रकृति अनोखी पूर्वोत्तर की ,... Read more

नवरात्र

आत्म शुद्धि सह मुक्ति दे , चैत्र मास नवरात्र l शारदीय नवरात्र प्रद, वैभव भोग सुपात्र l तंत्र मन्त्र साधन प्रदा , गुप्त भाव नवरात l... Read more

दैहिक -दैविक

दैहिक दैविक ज्ञान में भौतिक रहा नहाय l मन का रावण मारि के , पुतला देहु जलाय ll Read more

छायावाद पलता प्रतापगढ़

सई नदी तट भव्य , मातु बेल्हा का मंदिर बहती निर्झर नीर , सपूतो की यह धरती l आचार्य भिखारीदास काव्य छन्दस यूं रचते रीतिकाल कवि श्... Read more

रावण

वेद पुराण तंत्र मन्त्र यंत्र एवं राजनीति का महान ज्ञाता महापंडित रावण को मारने के पश्चात भगवान् श्री राम को ब्रह्महत्या निवारण हेतु ... Read more

मी टू अभियान

भारत में मी टू अभियान l उजले चेहरे काले इंसान l यह है पाश्चात्य परिधान l भारतीय संस्कृति का अपमान ll राजकिशोर मिश्र 'राज' प्रत... Read more

अवधी भाषा

अवधी भाषा भाष्य में , दोहा का शृंगार l कवि की कविता जिंदगी , छन्दस शुचि आधार ll1 आप सभी से सीखता , यति गति लय तुक ताल l शब्द अर्थ... Read more

हर्ष उत्कर्ष

चंचल चितवन चंद्र की , नलिनी गयी लजाय l चंद्र कला रोने लगी , काम दम्भ बढ़ि जाय l ============================== कागज़ के टुकड़े किये ... Read more

मात्रिक वर्णिक छंद

पिंगल रचना मधुर भवानी , नमन करें मुनिवर विज्ञानी ll मात्रिक वर्णिक छंद विधाना, कल यति गति गुण कविता प्राना ll कवि कविता मन भाव अ... Read more

वृत्ति निरोध

योग दिवस जीवन योग वियोग नसावन , वृत्ति निरोध योग मनभावन ll सरस सरल बहु योग विशाला , रोग नसावत दस दिगपाला ll भाँति- भाँति बहु... Read more

योग दिवस[ कुण्डलिनी ]

योग दिवस[ कुण्डलिनी ] योगी साधक ज्ञान बल , संचारित उर योग l मूर्ख ह्रदय अति कामना , चिंता तन मन रोग ll चिंता तन मन रोग , प्रताड़ित... Read more

=मन्मथ परदेशी=

बरसत नीर जलधि अंगारा , किंशुक काल कला संसारा l तड़पत मीन नीर प्रिय लागे , कामी ह्रदय विराग न साजे ll चढ़ा आषाढ़ मेघ अनुरागा , कोकिल द... Read more

फासिला जिंदगी

शाम शरमा गयी रोशनी के लिए l फ़िक्र करने लगी चाँदनी के लिए l फासिला जिंदगी जख्म जालिम शहर - बज्म फितरत फिदा रागिनी के लिए ll राज क... Read more

मृदुल मधुर अहसास

सकल जहाँ स्वर लय में वंदन , मृदुल मधुर अहसास l पकड़ हाथ हम चलें साथ प्रिय , रचें नवल इतिहास ll छवि मंथन मन्मथ मन मोहे , उमगि जलधि अ... Read more

शुभप्रभातम् नमन

सुप्रभातम् नमन शुभप्रभातम् नमन ================================ उन्हें मुक्त लिखने की आदत पडी है मुझे मुक्त लिखना फ़साना लगे क... Read more

[7]-योग कला कलिकाल मनोहर

शुभप्रभातम् नमन ================================ योग कला कलिकाल मनोहर , मुरली वादन तीर सरोवर ll अनुरागित रस छंद कला के , दिनकर ... Read more

[6]छंद- मनोरम-प्रेम में क्या सादगी है

छंद- मनोरम मापनी- 2122 2122 प्रीति पावन बंदगी है l नीर प्रियवर जिंदगी है l गीत का स्वर लय बताता - प्रेम में क्या सादगी है l Read more

[5]छंद- मनोरमगीतिका -ज्ञान भी इक जलजला है

छंद- मनोरमगीतिका मापनी- 2122 2122 प्रेम कैसा मनचला है ज्ञान भी इक जलजला है ll बंदगी हो जिंदगी में , सादगी भी इक कला है ll ... Read more

[4]चंचल चंदा की चॉँदनी

दोहावली ---------- फेसबुक वाट्सएप है , प्रियतम नव वरदान l बीबी भी ट्रंकाल पर , लेती है संज्ञान ll -------------------------... Read more

3-कहना सहज पर निभाना कठिन है

बहती नदी पर ठिकाना कठिन है l कहना सहज पर निभाना कठिन है l उपदेश देते उन्हें देखता हूँ - मंदिर सहज सर झुकाना कठिन है ll राजकिशोर ... Read more

जीवन दर्शन -जनम-मरण

:- जीवन दर्शन =========================== जीवन दर्शन मन आकर्षण अर्पण तर्पण मानस दर्पण गति प्रत्यर्पण विधि संकर्षण ll =... Read more

घर -घर में मंदिर मस्जिद हैं

घर -घर में मंदिर मस्जिद हैं l फिर भी क्यों इन्साफ नहीं है ll मन के कोने में बैठा है l नफरत का शैतान यहाँ है ll राजकिशोर मिश्र 'र... Read more