Rahul Yadav

Joined January 2017

राजस्व विभाग में कार्यरत एक शौकीन कवि, स्वतंत्र लेखन में विश्वासी।
सम्पर्क सूत्र- 9450771044
आप मुझे मेरे ब्लॉग पर भी पढ़ सकते हैं,
rahulyadavji.wordpress.com

Copy link to share

बेटियाँ

​बड़े-बड़े काम की हैं बेटियाँ, ईश्वर के नाम की हैं बेटियाँ, घर की लक्ष्मी, घर की इज्जत हैं बेटियाँ, घर को घर बनाने वाली जन्नत ह... Read more

बेटियाँ

​बड़े-बड़े काम की हैं बेटियाँ, ईश्वर के नाम की हैं बेटियाँ, घर की लक्ष्मी, घर की इज्जत हैं बेटियाँ, घर को घर बनाने वाली जन्नत हैं ... Read more

इन्सानी कुत्ते

कोर्ट में एक अजीब मुकदमा आया, एक सिपाही एक कुत्ते को बांध कर लाया । सिपाही ने जब कटघरे में आकर कुत्ता खोला, कुत्ता रहा चुपचाप, मु... Read more

मुलायम परि'वार'

एक तरफ अखिलेश, एक तरफ शिवपाल हैं, नेताजी के लिए विकट संकट का ये काल है, आरोप पुत्र-मोह का, तो भ्रातृ प्रेम का सवाल है, समाजवादियों क... Read more