RAJU QURESHI

Haryana (Mewat)

Joined February 2018

RaAj cHouDhArY.।
OwN wRitEr.. fOrM nUh . hArYanA .।
@mail. Raajkhan0111@gmailcOm

Books:
No

Awards:
No

Copy link to share

हमने कुछ ऐसे इरादे बदले

सिद्दत से चाहा हमने मगर इरादे ना बदले जमाने बदल गये, मगर हमने यार ना बदले, और हा, गुमां था ने तुमको अपने सहर पर हमने देखा है, ... Read more

मेरी माँ और ज़िंदगी

कुछ अरसे से ये हमें जानती नही ऐ ज़िंदगी कुछ तो मेरी माँ से सीख, देखते- देखते मुझे हारती नहीं, अब नहीं रखती हो खैर- खबर तुम मेरी... Read more

ना जाने क्यों जिन्दगी से मुँह माैडने लगा हूँ अब तो

चलते - चलते उन रास्ताें थकने लगा अब तो जहा कर गुजरे वाे, उनके पैरों के निशान ढूंढने लगा हूँ अब तो खुद से ही खुदका भ्रम ताेडने लग... Read more

अब मुझको ही मुझसे डराते है ये सपने

कभी मेरी रूह से रूह काे छीनाते हैं ये सपने कभी मेरी हसरताें काे जगाते हैं ये सपने दिन में हँसी रातों में सताते हैं ये सपने अब ... Read more

पढ लेती हैं मेरा चेहरा मेरी माँ

जब-जब हुआ हूँ परेशान मेैं मेरी माँ पढ लिया करती हैं चेहरा मेरा ना कि कभी अपनी तमन्ना दे दिया मुझे सुकून अपना जब भी हुआ हूँ पर... Read more

मेरे गाँव में एक मैना रहती हैं

मेरे गावं में एक मैना रहती हैं,! सब कुछ चहाकर भी वो ना कहती कुछ हसं कर कहती है , पर आवाज नहीं निकलती हैं उसकी डरती है वो शा... Read more

नींद कैसे आई होगी

नीद कैसे आई होगी 😢😢😢 -------------------------------------------------------------------- लूट लूट कर मासूम की आबरू जालिमाें तुम्ह... Read more