मैं वनस्पतिशास्त्र की सेवानिवृत्त प्राध्यापक हूँ।कविता गजल अकविता छोटे लेख आदि लिखती हूँ।एक काव्यसंग्रह -खिल खिल जाये मौलसिरी व एक पुस्तक पेड़ों पर -वन

Copy link to share

सपनों सी एक गजल

बता दिया है तेरे दिल को हम चुरायेंगे जहाँ कहीं भी रहो दूर अब न जाएंगे कसम हमें है मुहब्बत को हम निभाएंगे तुम्हारी राह में सौ द... Read more