जवान बेवा की जुल्फें हो गई जिन्दगी
न संवारने का दिल ना बनाने का दिल

Copy link to share

कागज पे हालाते-दिल लिखते हुये इक दिन मौत आ जानी है

कागज पे हालाते-दिल लिखते हुये इक दिन मौत आ जानी है मुझे मरते , तड़पते , बिलखते हुये इक दिन मौत आ जानी है !! लापता है कई रास्ते मु... Read more

ख़ुदकुशी करने के मैं रोज बहाने ढूँढने लगा हूँ

ख़ुदकुशी करने के मैं रोज बहाने ढूँढने लगा हूँ जी में रड़क रही है साँसे जैसे मैं मरने लगा हूँ सीने के जख्मों पे लौट कर कोई बहार आई ... Read more

आँखों में अब आंसू छिपाना कितना मुश्किल है

आँखों में अब आंसू छिपाना कितना मुश्किल है जो रडकते है उनको बहाना कितना मुश्किल है !! साँसों पे लिख लिया तुझको मैंने आयत की तरह ... Read more

आँखों की दीवारों में नमी अब बैठने लगी

आँखों की दीवारों में नमी अब बैठने लगी भीतर की सब कच्ची , दीवारे ढहने लगी !! दर्द से अश्क़ो की मौजें , जब तड़पने लगी दुखती हुई रग ... Read more

आँखों में दर्द की मौजे अब मचलने लगी

आँखों में दर्द की मौजे अब मचलने लगी साँसे ही मेरी अब साँसों को चुभने लगी जब से रुत-ए-बाहर तेरी यादों की आई है जर्द आँसू टूट के ... Read more

पानी आँखों में ठहरा दिखाई देता है

पानी आँखों में ठहरा दिखाई देता है सीने में ज़ख्म गहरा दिखाई देता है अजीब दर्द लिए फिर रहा हूँ सीने में पुराना है मगर हरा दिखाई... Read more

खाकी - खद्दर पहने हुये , इंसान बिकने लगे

खाकी - खद्दर पहने हुये , इंसान बिकने लगे कोडियों में यहाँ लोगो के,ईमान बिकने लगे ।। कही मुर्दे तो,कही आज शमशान बिकने लगे, चदरों... Read more

चेहरे की उदासी को , धोने नहीं दिया इक ग़ज़ल ने

चेहरे की उदासी को , धोने नहीं दिया इक ग़ज़ल ने मुझ को देर रात तक,सोने नहीं दिया इक ग़ज़ल ने इक दर्द सीने में उठ - उठ के , सिसकियाँ ... Read more

सम्भाल के मुझे , किताब में कौन रखेगा

सम्भाल के मुझे , किताब में कौन रखेगा छुपा के काँटों को गुलाब में कौन रखेगा ।। कर लेगें वसूल मुझ को इक इक साँस से बता दो मेरे आ... Read more