PUNIT TRIPATHI

GORKHPUR

Joined February 2019

Copy link to share

होली पर बिशेष

जिसका स्मरण करते ही कण-कण में बिजली का स्पन्दन हो जाता है,नस-नस में लालसा की लहर दौड़ जाती है,मन प्राणों पर भावों का सम्मोहक इन्द्रध... Read more

मेरी ख्वाहिश है !

मेरी ख्वाहिश है! सूरज की पहली किरण,आकर बिखरे मेरे आँगन मे झूमते हुए बादलों से,चुपके से कुछ कहे धरती इंद्रधनुष के रंगो जैसा हो सब... Read more