Prerana Parmar

Joined February 2017

Prerana Parmar
W/o Dharmendra singh parmar
DOB 5 Nov 1977
I am running higher secondry school
Live in Morena

Copy link to share

सादर आभार

दिल से निभा ले जो अपने रिश्ते उसको सादर आभार है।। इंसानी जंगल में आज लगने लगा हर रिश्ता भार है।। अपने रिश्ते निभाने में हो रहे ल... Read more

स्त्री हो तुम.......हद मे रहो अपनी.....

स्त्री हो तुम....हद मे रहो अपनी हमेश यही तो हमने पुरुष को कहते सुना है ॥ सारा जीवन पुरुष ने जिया अपनी स्वेच्छा से। और हम... Read more