Copy link to share

' माँ और बेटी '

माँ ख़ुद अपने जीवन में मैं,तुझको अपनी जान लिखूंगी ! अभी तो आगे बढ़ना मुझको, एक नयी पहचान लिखूंगी ! इतने अहसां हैं मुझ पर की भूल नहीं... Read more