Deep Dhamija

Jaipur

Joined April 2020

Copy link to share

कहां कहां बता तेरा साया नही जायेगा.

कहां कहां बता तेरा साया नही जायेगा. हमसे तो तेरा प्यार भुलाया नही जायेगा. साथ जिऊंगा साथ मरूंगा बताया था तुमको. इससे ज्यादा तेर... Read more

दिल ये भटकता है जनाब अच्छा नही लगता.

दिल ये भटकता है जनाब अच्छा नही लगता. मत डालो चेहरे पर नकाब अच्छा नही लगता. यूं तो कितने सितारें हैं आसमां की महफ़िल में. पर कही... Read more

बढ़ रही है तेरे मेरे बीच की खाई क्या करूं.

बढ़ रही है तेरे मेरे बीच की खाई क्या करूं. फिर उस पर मैं और मेरी तनहाई क्या करूं. हम तो आये थे तेरे शहर में तेरी जानिब. पर तू औ... Read more

प्यार कम तो नहीं

मेरे लिए मेरा दिलदार, कम तो नही. उसी में है पूरा संसार, कम तो नही. जानता हूँ तुम एक हो और चाहने वाले बहुत. सनम मेरे भी है यहां ... Read more

ज़िन्दगी

वर्क ‌के हाशिये सी रही जिन्दगी मेरी... सब जगह लिखा गया पर मुझे छोड़ कर... ✍️✍️...दीप Read more

शरारत कर दो

अपनी नशीली आंखों से शरारत कर दो. मेरे टूटे लफ्जों को फिर से इबारत कर दो. अपनी मोहब्बत बसाकर मेरे दिल में. इस जिस्म ऐ खन्डर को इ... Read more

आवारा दिल

बेचैन ही रहता है आराम नहीं लेता. आवारा दिल सबर से काम नही लेता. उसने बोला तेरी हूँ कुछ तसल्ली तो रख. मैं तब से किसी और का सलाम... Read more

काश

काश हमको भी सुहाने सफर का नजारा मिल जाये. प्यार की डूबती इस नईया को भी किनारा मिल जाये. चांद तारे फूल खुशबू भी जल जाये हमसे. अग... Read more

ख्वाब

लोग मिलते है बहुत मुझे सताने के लिए. नही आते वो बाज दिल जलाने के लिए. देख मैं भी चुप हूँ बरसों से तेरी खातिर. अब तो आजा यार मुझ... Read more

दिल

छा गया है दिल का तराना देखिए. पंछी नदीया मौसम सुहाना देखिए. हुई जब रात तो रोशन हो उठी शमा. फिर कैसे खिंचा चला आया परवाना देखिए.... Read more

ज़िन्दगी

कहां जी है ज़िन्दगी अभी एक जमाना बाकी है. हम भी कुन्दन हो जायेंगे, बस थोड़ा जलाना बाकी है. माना कुछ चांदी आ गयी बालों में, इसका... Read more

ख्वाब

जाने क्या हर्फ लिखे थे, उसके चेहरे की किताब में. पढ़ के भी हम पढ़ ना पाये जब आई वो हिजाब में. हमने जब उसको पूछा अपनी मोहब्बत के ... Read more

होश

क्या बताऊं मैं क्यों खामोश रहा करता हूँ. हर वक्त नींद-ऐ-आगोश रहा करता हूं. लगी रहती हैं नजर उसी के बाम-ओ-दर¹ पर. उसके ख्यालों म... Read more

इन दिनों

कुछ ऐसा रहा है हाल हमारा इन दिनों. नही इक पल भी चैन गवारा इन दिनों. तुम नही थी मेरी चाहतों में शामिल कभी. फिर क्यों शबभर ख्वाब ... Read more

प्यार

इन्कार इन्कार बस इन्कार करती हो तुम. क्यों मेरा जीना दुश्वार करती हो तुम. तुम्हारे लिए मैने तेरी गलियों की खाक छानी. ऐसा क्या ह... Read more

चाहत

तू भी किसी को बोल के देख. चाहत अपनी फरोल के देख. तमन्नाऐं तुम में भी अंगड़ाई लेंगी. दिल की खिड़की खोल के देख. मत सोच सिर्फ न... Read more

किस्मत

आओ आज महफ़िल कुछ यूं सजाते हैं. तुम्हें लिखकर कागज पर, तुम्हीं को सुनाते हैं. तुम आ कर रहना शब भर मेरे ख्बाबों में. हायात में न... Read more

ख्वाब

फ़रिश्ता, देवता, गीर्वाण देखा है. मैंने अस्पताल में भगवान देखा है. बिलखते भूखों को रोटी खिलाते. मेरी गलीयों में मैने इंसान देखा... Read more

यादें

याद कर लूं तो मिल जाता है सुकून दिल को. मेरे दर्द का इलाज भी कितना सस्ता है.... Read more

मोहब्बत

आसां नही दिल लगाना दोस्तो. गुजर जाता है इंतजार में जमाना दोस्तो. बीते वक्त की दास्तां बन जाती है मोहब्बत. रह जाता है सिर्फ अफसाना... Read more

ज़िन्दगी

और क्या चीज कुर्बांन करूं आप पर.... दिल जिगर आपका, ये जिन्दगी आपकी..... Read more

यादें

जाने वाले ने ना लौटने की कसम खाई है... दिल का द्वार खटका है, शायद उसकी याद आई है..... Read more

ख्वाबों की तासीर

ना हो तुम कोई हूर या परी, मुझे मालूम है. ना ही तुम्हारी गुंथी हुई चोटी से शोख ज़ुल्फे उड़ा करती हैं. तुम्हारी आवाज़ मे वो खनक भी न... Read more

खामोश अल्फाज

काश मेरे खामोश अल्फ़ाजों को भी ज़ुबान आ जाती. तेरी मेरी ज़िन्दगी प्यार का इक नया मोड़ लाती. मैं तुम में गुम हो जाता और तुम मुझ में... Read more

ख्वाब

कुछ इसलिये भी रातो को सोना छोड़ दिया हमने... अगर बिछड़ गये वो ख्वाबो में .. तो मर जायेंगे हम... Read more

ज़िन्दगी

आराम से कट रही थी तो अच्छी थी... जिंदगी तू कहाँ इन आँखों की बातों में आ गयी... Read more

यादें

बड़ी गुस्ताख है तेरी यादें, इन्हें तमीज सिखा दो... दस्तक भी नहीं देती, और दिल में उतर आती हैं... Read more

पसंद

उसने पूछा की क्या पसंद है तुम्हे ?? और मैं बहुत देर तक उसे देखता रहा... Read more

चाहत

वो छा गये है कोहरे की तरह मेरे चारो तरफ... न कोई दूसरा दिखता है ना देखने की चाहत है... Read more

हकीकत

तुम हक़ीक़त-ए-इश्क़ हों या फ़रेब मेरी आँखों का... न दिल से निकलते हो न मेरी ज़िन्दगी में आते हो... Read more

तमन्ना

मत पूछो कैसे गुजरता है हर पल तुम्हारे बिना... कभी बात करने की हसरत कभी देखने की तमन्ना... Read more

अक्स

जाने कब तक तेरी तस्वीर आँखो में रही... गुजर गई रात तेरे अक्स को तकते तकते... Read more