Pradeep kumar madhesia

Kushinagar

Joined November 2018

Teacher
UPSC aspirant
Fond of writing quote and poem and other topics

Copy link to share

इज़्हार हो ना पाया

इज़्हार हो न पाया मोहब्बत मुकम्मल हो न पाया धड़कता था यह दिल उनके खातिर खो न दें उनको यह सोच कुछ कह न पाया। पहले पहल रूप उनका दिल... Read more