💁‍♂प्रदीप कुमार जोया

जन्म-०५ जुलाई १९९३
जन्मस्थान-मु०.पोस्ट-गुड़लिया वाया-बधाल,जिला-जयपुर,राजथान-६०३६०२

शिक्षा -एम०ए( रा०विज्ञान) बी०एड
व्यवसाय-शिक्षा विभाग में संस्थाप्रधान के पद पर कार्यरत हूं।

रूचि- खाली समय में कुछ ना कुछ लिखते रहने की आदत है। लीक से हटकर लिखता रहता हूं, नियम कायदों का बोझ सिर पर लिए नहीं फिरता हूं।

अवार्ड-चाहत नही

Copy link to share

***इंसान बना देना***

***इंसान बना देना*** ====================== हे प्रभू!सबके निज सपने पूरे कर देना, वीर्यवान को जंहा का नवाब बना देना। सारे तख्त-औ-... Read more

नवरात्र

================== नवरात्रो का शुभारंभ हो रहा है, निज मन मयूर-सा नाच रहा है। माँ बनाये रखना सदा कृपादृष्टि, भक्त अंकिचन कर जोड र... Read more

हाइकु

वो काली रात, बेलगाम जज्बात, था तेरा साथ। सुंदर गात, मचाया चक्रवात, पकड़ हाथ। तीखी सी बात, दिल पर दे लात, था छोडा हाथ। ... Read more

***छोटी सी जिंदगी***

***छोटी सी जिंदगी*** =================== नित्य भौर संग उठ जाता हूं, दिनभर दौडधूप कर लेता हूं। उद्योग जठर के लग जाता हूं, यूं छो... Read more

**रेलगाड़ी-सी जिंदगी**

***रेलगाडी-सी जिन्दगी*** ====================== छिक पिक छिक पिक रेलगाडी-सी जान पडती है जिन्दगी, सीटी बजाकर सबको पुकार रही है रेल... Read more

*** कीमत***

***कीमत*** ====================== श्रीमान दीनदयाल शर्मा एक सहकारी बैंक मे प्रबंधक है।जो की सीधे साधे धार्मिक प्रवृति के इंसान है।ज... Read more

***बच्चा***

***बच्चा*** =============== जब भगवान अनन्य सी कृति रचाये, निज का ही साकार प्रतिरूप बनाये। सकल गुण ईश्वर के से उसमे समाये, समझलो... Read more

*** संविधान***

***संविधान*** ====================== हरेक देश का एक विधान होता है, कानूनो का कोई सार सा होता है। कोई अदृश्य सा सारथि दिखता, जो ... Read more

**हे राणा! प्रताप जागो**

**हे राणा! प्रताप जागो** ====================== हे राणा!काल का चक्का घूम चूका है , चंहुऔर प्रभाव अपना दिखा चुका है। इसांन गिरगिट... Read more

===माँ===

***माँ*** ==================== आज एक माँ की महीमा सुनाता हु, चंद वर्णो को कलम मे पिरो देता हु। सामर्थ्य कहा मेरा इतना, फिर भी न... Read more

वाह! रे मिटी की किस्मत

***वाह!रे मिट्टी की किस्मत*** एक मिट्टी से इट्टे बनी है चार, रचे मन्दिर,मस्जिद,विद्याद्वार। रची उसी से मैखाने की दिवार, वाह!रे... Read more

***बस तू ही तू***

तू दिल, दिमाग, विलोचन, सब जगह नजर आती है। तू चैन, चमक, मनोरथ, सब आराम उडा ले जाती है। तू नींद , चेतना, चपलता, स... Read more

****शिकायत****

मेरे गांव की तगं गली मे एक बूढा जोडा रहता है, संग सजनी बेटा उनका बिदेश मे चांदी कमाता है। तीज, दिवाली व राखी पर महज फर्ज निभाता है... Read more

***जियो जीने दो***

जब से जियो का उदय हुआ है, संचार क्षेत्र मे कोहराम मचा है। सिर अबांनी का हुआ ऊचा, एरटेल का तख्त उखडा पडा है। पहले तो नाम बदलाना... Read more

****जागरण गीत****

सुनो रे!आर्यावर्त के रहवासियो,पुरातन काल के वीर साहसियो। चिर निद्रा मे सुप्त आलसियो,आज मैं तुम्हे जगाने आया हु। अत्याचार का व्या... Read more

****एक बार फिर****

***एक बार फिर*** एक बार फिर चलो अजनबी बन जाये, सब भूलकर दुनिया मे खो जाये हम। वक्त बेवक्त मधुर यादो के पिटारो से, कुछ सुनहरे मोत... Read more

*****दिन वो बचपन के*****

दिन वो बचपन के बड़े याद आये, जिंदगी के वो पन्ने आज मन छाये। कितने सरल सरस निश्चल थे वो दिन, काश! दिन वो आज कोई मोड़ के लाये। म... Read more

बेटी

बेटी है तो जीवन में सब बहार ही बहार है , बेटी बिना लगता जीवन मिथ्या ही निसार है। अतीत में झांकू तो देखू मैं बेटी ही गुलजार है, वर... Read more

**याद**

जब सावन में झुमके बरसे बदरा , दिल को तेरी माधुरी याद आई । नाच रहा मोर मदमस्त सावन में, तेरी बातें वह पुरानी याद आई देखा जब राह ... Read more