Pramod Raghuwanshi

Hoshangabad

Joined March 2017

Copy link to share

मुक्तक

मुबारक बाद हो सबको, नया ये साल आया है।। बहक ना जाऊँ मंजिल से, दौर बेमिसाल आया है।। लगी है आग नफरत की, जमा... Read more

इस दुनिया में सबसे प्यारा देश हमारा है

*इस दुनिया में सबसे प्यारा देश हमारा है??* इस दुनिया में सबसे प्यारा देश हमारा है, भारत भूमि का कण-कण हमें प्राणों से प्यारा ह... Read more

आरक्षण पर प्रयास

आरक्षण के सर्प-दंश से हमें बचाओ मोदी जी ॥ सबको दो समान अवसर या हों यादव या योगी जी, गर ऐसे हीं खैरात में बांटोगे, आप मेहनत ... Read more

गांव पर रचना

गांव जब से शहर हो गये नेता तब से अंगूर हो गये , छोड़ दिया लोंगों का सांथ क्योकि वे मजबूर हो गये गांव जब से शहर हो गये नेता ... Read more

शून्य पर प्रयास

?शून्य पर मेरा प्रयास------ शुन्य का भी अपना एक अलग स्थान है, लग जाए किसी भी अंक में बाद में तो उसका बड़ा दाम है, आज न हु... Read more

गौं मांता

*?गौ-माता"?* गाय हमारी वो माता है जिसे हर युग में पूजा जाता है, कहते हैं इसकी सेवा कर के, हर मानव तर जाता है.... जो चाहे ज... Read more

ख़ुशियों की शमां

ख़ुशियों की भी एक शमां देखी है हमने जहां, मुसीबतों से कोई वास्ता नहीं मिलता ॥ इश्क़ का जुनून हुआ है हावी इस कदर कि अब वफा को बेवफाई... Read more

प्यार गंवा बैठा

देखा जब से उन्हें,खुद को भुला बैठा ॥ बेहद की वफा फिर भी प्यार गंवा बैठा, इतना चाहने पर भी जब वो दूर चले गए, तब सोचा कि किसस... Read more

दिल लगी

देखा जब से उन्हें,खुद को भुला बैठा ॥ बेहद की वफा फिर भी प्यार गंवा बैठा, इतना चाहने पर भी जब वो दूर चले गए, तब सोचा कि किसस... Read more

भारतीर रेल पर व्रतांत

अपना जीवन छुक-छुक करती एक भारतीय रेल सा भैया, कहां हो जाये दुर्घटना और कहां उतर जायेगा पहिंया, नई दिल्ली से चलने वाली क्या चे... Read more

हमारा स्वच्छ भारत

??स्वच्छ भारत पर मेरी रचना?? आजाद हुए कई साल हुए पर हमने क्या पाया है राम राज्य की भूमि पर कंश राज की छाया है ॥ एक युग पु... Read more

दीवाने दिल की दास्तां

????????? ????????? यूं ही ना लगाना दिल कहीं दोस्तों, इश्क की कदर लोग कहां करते हैं, भूला देते हैं लोग फसाना समझ कर और हम जैस... Read more

जय हो मां नर्मदा

रखे न किसी को प्यासी रेवा मातु अविनासी बिनती करूँ मै सभी ध्याईये मां नर्मदा । जगतारिणी है यही दुखहारिणी भी यही प्रेम से पुका... Read more