Raj Vig

Delhi

Joined January 2017

Working as an officer in a PSU.

vigjeeva@hotmail.com

Copy link to share

पैगाम

बहुत दिनो के बाद आज सुबह सवेरे कोड वर्ड मे मिला है पैगाम उनका । जानते है जिसे हम ही लिखा है आखिर मे वो ही छोटा सा पुरान... Read more

कल्पना

मिन्नतो के बाद रूखसत होने से पहले मुझसे रूबरू होगी इक दिन रूह मेरी । साल दर साल हंसते खेलते उसी के साथ साथ गुजरी है सार... Read more

झोंपड़ी

सर्द हवाओं के झोकों से बदन मे सिरहन सी उठ रही थी । तेज बारिश के छीटों से कंपकंपी भी अब होने लगी थी । कड़कते बादलों ... Read more

मन

बचपन की मौज मस्ती के उन्ही दिनो मे फिर से लौट जाने का मन है मेरा । कुछ नादान दोस्तों के साथ उन्ही गलियों मे देर रात तक ख... Read more

कयास

देखे नही थे जो किसी ने आज तक उन दिनो की चिन्ता मे मै व्यर्थ डरे जा रहा था । रखा है जो राज़ कुदरत ने अपने गर्भ मे उसी की ... Read more

परिचय

तूफान सा उठ रहा है दिल की धड़कनो मे जब से परिचय हुआ है आप से । आंखों से मंजर दूर हटता नही जब से देखा है आपको करीब से ... Read more

तन्हा

कटता नही आखिरी पहर रात का सुना है कल बहुत दूर चले जाओगे । सूनी हो जायेंगी संकरी गलियां गांव की अब रोज कहां तुम नज़र आ... Read more

यार

गुलजार हुआ है तन मन मेरा बदला है नसीब यार ने । मिलता नही जो जमाने मे ऐसा हसीन नजराना दिया है यार ने । ऋणी हुआ है ... Read more

पूजा

तू प्रसन्न रहे सदा नित निस्वार्थ भाव से कई बरसों से तेरी पूजा की है मैने । बरसता रहे तेरी कृपा का खजाना तेरे हर रूप मे ... Read more

क्यारी

तेरी कोयल जैसी मधुर आवाज़ गूंज रही है कानो मे । ढूंढ रहे हैं निस दिन नैना तुझको बागों और बहारों मे । पता नही तू छुप... Read more

विचलित

आस्था और विश्वास की उम्मीदों से आ पहुँचा हूं तेरी सरहदों मे । आवाज दे के बुला ले या लौटा दे मुझे नतमस्तक खड़ा हूं तेरे ... Read more

मृत्युलोक

गुनाहों की परछाईयों से गुजर वक्त की दहलीज पे खड़ी है जिन्दगी । पश्चाताप की आग मे झुलसता हर पल शोलों की राख से बेबस बन... Read more

जज्बात

बदल ली हैं दिशायें जिन्दगी की हमने लगा है ग्रहण आज भी तेरे पाले मे । भुला दिये हैं गम सब जिन्दगी के हमने छलकते आंसू आज भ... Read more

जन्नत

तेरा ही नाम नजर आता है मुझे जब भी पलटता हूं पन्ना किताब का । तेरा ही जिक्र होता है महफिल मे जब भी लगा लेता हूं तड़का शर... Read more

बेकरार

नजरें टिकी हैं द्वार पे बेकरार धड़कने हैं शाम से । लगता नही मन काम मे बदहवास आलम है शाम से । निखरा है नूर चेहरे पे... Read more

बगिया

कितने मौसम गुजर गये थे अब आयी है बारी उसकी । सपनो के मिल जाने से बदल गयी हैं राहें उसकी । सुखद हवाओं के झोकों से ... Read more

चंचल

मैने कभी पूछा नही उसने कभी बताया नही रोज रात कहां चली जाती है वो । मुझे अकेला छोड़ किस की आगोश मे रोज लक्ष्मण रेखा लां... Read more

रूह की आस

अरसा गुजर गया चमन को उजड़े हुए तेरी सांसों की महक आज भी है । घने पेड़ों के लम्बे सायो मे गुजरे लम्हो की परछाई आज भी है... Read more

दो घूंट

हर शाम मयखाने चले जाने का शौक था उन्हे । दो घूंट और रंगीन रातों का जनून धा उन्हे । गमो को दरकिनार रखने का हुनर... Read more

ज्ञान ज्योति

कभी खत्म नही होता तेरी कृपा का खजाना तेरी रहमतो का कर्जदार है सारा जमाना । रूठ जाये अगर तू मुश्किल नही है तुझे मनाना कृ... Read more

महबूब

अपने दामन को आंसुओं से जी भर के भिगोया है उसने । गुजरे लम्हो को यादों के लफ्जों से किताब के पन्नो मे दोहराया है उसने ... Read more

तेरा ही साथ

बेफिक्र गुज़र रही है जिन्दगी तेरे प्यार के सायों मे । फूलों सी महक रही है जिन्दगी तेरी मोहब्बत की राहों मे । महफूज... Read more

लाकडाउन

सहमी ठहरी दुनिया की तस्वीर देख रहा हर शख्स अपनी आंखों से । बाहर निकलता है जब भीतर ही डर जाता है कुदरत की अदृश्य दहशत ... Read more

कोरोना का साया

ये कैसी मजबूरी है कोरोना का डर किसी से मिलने मिलाने नही देता । कब तक चलेगा ये सिलसिला वीरान शहर की गलियों मे रोजमर्रा का... Read more

कोरोना पाजिटिव

खौफ तेरे नाम का जाता नही आज डरा सहमा हर इक इंसान है । कहां छुपा बैठा है पता नही तेरे वार से खबरदार हर इक सरकार है । ... Read more

एक किताब

लाखों करोड़ों किताबों मे सोचता हूं इक दिन पढ़ लेगा कोई एक किताब मेरी भी । छोड़ चला जाऊंगा मै दुनिया को इक दिन रह जायेगी ... Read more

एक चाय उनके साथ

बार बार मुस्कराते हुए कागज पर कुछ लिख कर खुद ही उसे वो मिटा रहे थे । कुछ ही दिनो मे बिछड़ जायेंगे हम आंखों से हमे वो ... Read more

हमारी याद

जो मिला नही आजतक आपको वो दो हजार बीस जरूर दिलायेगा आपको । रोज मुस्कराती सुबह से वो जगायेगा आपको नये पुराने दोस्तों से ... Read more

बरसात आंखों की

गमो के उमड़ते बादलों का ये कैसा तूफान है रूकती नही बरसात उसकी आंखों की । डूबता जा रहा है दिल सैलाब की गहराइयों मे टूट न... Read more

क्षण भंगुर

जिसे लोगों ने तरक्की समझा मुझे वो माया जाल लगा आत्म संतोषी जीवन मे मुझे गीता का सार मिला । दोस्ती दुश्मनी दोनो मे मुझे न ... Read more

आखिरी मोड़

लिया है आखिरी मोड़ जिन्दगी ने आज़ादी के पंख अब उगने लगे हैं । बहुत पास है चमन महकती हवाओं के झोंके एहसास दिल को करवाने... Read more

करवाचौथ

मेरी सलामती के लिए हर इक साल करवाचौथ का व्रत रखा है तूने । बदल गया है नजरिया दुनिया के जीने का पतिव्रता धर्म आज भी नि... Read more

दिल की किताब

लिखे थे बरसो से दिल की किताब पर उन शब्दों को आज मै आवाज दे आया हूं। गुमनाम था जमाने मे छुपा था धड़कनो मे उस नाम को आज ... Read more

रूह की जुदाई

आधी रात को यमराज दूतों साथ प्रकट हुए दिल मेरा धड़कने लगा जुबान लड़खड़ाने लगी। छोड़कर जाना पड़ेगा इस दुनिया को यमराज के ... Read more

हमारी दोस्ती

अरसे से दफन थी दिल के किसी कोने मे प्रखर हुई है आज उनकी हमारी दोस्ती । बदल गया है समय बदल गये हैं चेहरे आज भी महफूज़ है... Read more

फेसबुक लाइक

पिक लाइक करता हूं उनकी खुश हो जाते हैं वो कमैंट कर देता हूं फूले नही समाते हैं वो । हमने तो फेसबुक पर दिल निकाल कर रख दिया... Read more

जिन्दगी के पन्ने

जिन्दगी की किताब के पन्ने आज जब मै उलटने लगा लम्हा लम्हा गुजरा समा मै दुबारा जीने लगा । उम्र की यादों मे कैद हर इक पन्ना ... Read more

नरक की राह

ये भ्रम है तेरा कुछ और नही तेरे गुजर जाने के बाद कौन जानेगा तुझे । तेरी नादानियों मे भटक जायेगी आत्मा कौन फिर मिलायेगा ... Read more

प्यार आपका

टूटा था हर इक ख्वाब जब जिन्दगी का रोया था बहुत दिल आपका । सिर्फ ख्याल आने से गमगीन आंखों मे रूकता नही था एक भी आंसु आ... Read more

इक अल्फाज

झिझक दोनो तरफ कुछ इतनी ज्यादा थी उम्र का हर इक दौर तन्हा गुजर गया । न वो आंखों से दूर थे न वो दिल से इक अल्फाज न जाने ... Read more

ख्वाहिश

ख्वाहिश दिल की जुबान पे आ जायेगी तो बात बन जायेगी वर्ना जिन्दगी यूं ही रोज की तरह मायूस गुजर जायेगी । खामोशी निगाहों की... Read more

जुल्म

फूलों को दोस्त बनाया कांटें चुभो दिये जान से ज्यादा प्यारे थे उन्होंने खंजर खुबो दिये । जिन्दगी मे जो चले थे साथ आज सहारे... Read more

हाले दिल

बुला रहे हैं उनको आते नहीं हैं वो नजरें चुराकर नजदीक से रोज गुजर जाते हैं वो । खबर नही है उनको जानते नही हैं वो हम वहीं ख... Read more

खयाल मेरा

भटका भटका सा हर शख्स नजर आता है मुझे जब से साधु हो गया है मन मेरा । बदला बदला सा संसार लगने लगा है मुझे जब से पाक साफ ह... Read more

किनारे का पेड़

नदी की लहर कभी इधर भी आयेगी इसी इन्तजार मे किनारे का पेड़ सूख गया है । पंछियों ने भी और कहीं आशियाना बना लिया है उनका सब... Read more

तृष्णा

तुझसे दूर जाने का जब भी मन बना लेता हूं मै रूप बदल कर हर बार बुला लेती है तू । वश मे कर रखा है तूने जकड़ रखा है मुझको क... Read more

पैसा

तुझे पाने के लिए इस दुनिया मे हर किसी शख्स को परेशान देखा है मैंने । तेरी चाहत के लिये मदहोश नशे मे बेतहाशा हवस को हैव... Read more

पहली मुलाकात

सदके उस नज़र के जिसने मिलाया आपसे दिल की उम्मीदों को फिर जगाया प्यार से । चार कदम चल के जब हाथ मिलाया आपसे धड़क गया दिल... Read more

छलकता प्यार

दस्तक दे रहा है दिल के दरवाजे पर बार बार यकीन नही होता इतने करीब आ गया है कोई । हर इक आहट से धड़कते दिल की रगों मे महकत... Read more

प्यार मेरा

आया है जन्नत से प्यार मेरा गुलज़ार हुआ है मन मेरा । रोशन उसी से जहान मेरा उसी के पहलू मे संसार मेरा । अनोखा है दुन... Read more